स्वर और व्यंजन कितने होते हैं – हिंदी वर्णमाला

स्वर और व्यंजन कितने होते हैं, vowel-aur-consonant-kitne-hote-hai

हिंदी भाषा में स्वर और व्यंजन कितने होते हैं, हिंदी वर्णमाला स्वर किसे कहते हैं और व्यंजन किसे कहते हैं, इस पर हम विस्तार से आपको जानकारी देंगे। और स्वर और व्यंजन की परिभाषा की भी जानकारी आपके साथ साझा करेंगे। इसके अलावा स्वर में कौन-कौन से अक्षर आते हैं। और व्यंजन में कौन-कौन से अक्षर आते हैं। उन्हें भी हम आपसे रूबरू कराएंगे।

अक्सर स्टूडेंट को Hindi Varnamala हिंदी स्वर और व्यंजन समझने, पढ़ने, याद करने, में कठिनाई होती है। इस लेख लेख के माध्यम से बड़ी आसानी से मैं आपको समझाने का प्रयास करूंगा। ताकि आप आसानी से हिंदी वर्णमाला के स्वर और व्यंजन को पता कर पाए। और आप को भी इसकी जानकारी हो पाए।

हिंदी और इंग्लिश वर्णमाला में दोनों भाषाओं में स्वर और व्यंजन होते हैं। स्वर को इंग्लिश में Vowel कहते हैं। और व्यंजन को consonant कहते हैं। अक्सर स्टूडेंट स्वर और व्यंजन से वाकिफ नहीं होते हैं। इसलिए हम इस लेख के माध्यम से स्टूडेंट को हेल्प करेंगे और डिटेल्स में बताएंगे।

किसी भी भाषा को सीखने के लिए स्टूडेंट को सबसे पहले वर्णमाला पर खास करके ध्यान देना होता है। बिना वर्णमाला यानि अक्षरों को पहचाने वह किसी वाक्य की पहचान नहीं कर पायेगा। इसलिए आपको सबसे पहले वर्णमाला को सीखना होगा। और हमें कौन से व्यंजन कौन से स्वर हैं उसे भी पहचानना होगा।

स्वर और व्यंजन कितने होते हैं – Vowel And Consonant in Hindi

हिंदी में उच्चारण के आधार पर 52 अक्षर होते हैं। जिसमें से हिंदी वर्णमाला में 11 स्वर (Vowel) होते है। और 41 (Consonant) होते हैं। इन 52 अक्षरों के सहायता से ही हिंदी भाषा को पढ़ा और लिखा जाता है और समझा जाता है। अगर अब इन 52 अक्षरों यानी स्वर और व्यंजन को आप पहचान जाएंगे। तो आप आसानी से हिंदी लिख पाएंगे और हिंदी पढ़ पाएंगे।

हिंदी भाषा का बोल-बाला काफी पुराना है। हिंदी अलग-अलग देशों में भी बोला जाता है। अगर उन देशों की बात की जाए। तो भारत में सबसे अधिक हिंदी बोला जाता है समझा जाता और पढ़ा जाता है। इसके अलावा दूसरे देश जैसे- पाकिस्तान, श्रीलंका, साउथ अफ्रीका, नेपाल, और कई अन्य देशों में समझा और बोला जाता है।

वैसे हिंदी बोलने और समझने की बात की जाए। तो जहां जहां पर हिंदुस्तानी है। वहां पर हिंदी बोला और समझा जाता है। और हिंदुस्तानी वहां के लोगों को भी हिंदी बताते सिखाते और समझाते हैं। इसलिए हिंदी काफी धीरे धीरे पता चल रहा है और काफी लोग सीख भी रहे है।

पूरी दुनिया में हिंदी 600 Million से अधिक लोगों के द्वारा बोला जाता है और समझा जाता है। जिसमें सबसे अधिक भारत में उसके बाद पाकिस्तान में, श्रीलंका में, नेपाल में, साउथ अफ्रीका में, और अन्य देशो में, जहां पर हिंदी की समझ लोगो को होती है।

Go to hell meaning in hindi- का मतलब1 से 100 तक गिनती इंग्लिश में
कक्षा 7,8,9, के लिए सामान्य ज्ञान के प्रश्न उत्तर1 से 100 तक गिनती शब्दों में

स्वर किसे कहते हैं – Vowel kise kahte hai?

स्वर अक्षरों को कहा जाता है जिन का उच्चारण स्वतंत्र रूप से किया जाता है। अर्थात किसी अन्य वर्ण की सहायता लिए हुए उच्चारित किए जाने वाले अक्षरों को स्वर कहते हैं। जिन का उच्चारण स्वतंत्र रूप से किया जाता है। वह अक्षर स्वर होते हैं। इन अक्षरों में उच्चरित करने के लिए किसी दूसरे वर्ण की आवश्यकता नहीं होती है।

स्वर ध्वनियों को आप कह सकते हैं। जिनका किसी दूसरे वर्ण से ताल्लुक यानी उच्चारित करने के लिए दूसरे वर्ण की सहायता लेने की आवश्यकता नहीं होती है उनको स्वर कहते हैं।

हिंदी भाषा में मूल रूप से 11 स्वर होते हैं। और बाकी व्यंजन होते हैं। अगर हिंदी वर्णमाला में स्वर अक्षरों की जानकारी दें। तो कुछ इस प्रकार और यह अक्षर है।

  • हिंदी वर्णमाला स्वर :- अ, आ, इ, ई, उ, ऊ, ऋ, ए, ऐ, ओ, औ, आदि।

व्यंजन किसे कहते हैं – Consonant kise kahte hai?

व्यंजन को आप इस प्रकार से समझ सकते हैं। व्यंजन के उच्चारण के लिए किस स्वर की जरूरत होती है। यानी कि स्वतंत्र रूप से उच्चारण नहीं किया जा सकता है। इसमें किसी स्वर की जरूरत होती है। यहां पर उच्चारण के लिए स्वर आवश्यकता होती है। उससे आप व्यंजन कह सकते हैं।

हिंदी वर्णमाला में मूल रूप से व्यंजन की बात करें। तो 41 व्यंजन होते है। अगर उन व्यंजनों आप देखना चाहते है। तो नीचे देख सकते हैं। यह हिंदी वर्णमाला के व्यंजन अक्षर और ऊपर स्वर अक्षर बताए गए।

  • हिंदी वर्णमाला व्यंजन :- क, ख, ग, घ, ङ, च, छ, ज, झ, ञ, ट, ठ, ड, ढ, ण, त, थ, द, ध, न, प, फ, ब, भ, म, ड़, ढ़, य, र, ल, व, श, ष, स, ह, क्ष, त्र, ज्ञ, श्र, तथा ज, और फ

स्वर और व्यंजन की परिभाषा

स्वर और व्यंजन की परिभाषा आपको मैंने ऊपर विस्तार से जानकारी देने का प्रयास किया है। जिसमें स्वर को आप कुछ इस तरह समझ सकते हैं। कि उच्चारण के लिए वह स्वतंत्र होता है। बिना किसी दूसरे वर्ण की सहायता लिए हुए उच्चारित किया जा सकता है।

व्यंजन की बात की जाए तो इसके विपरीत है स्वतंत्र नहीं है। व्यजन उच्चारण के लिए किसी स्वर की जरूरत होती है। फिर उच्चारित किया जाता है। इसलिए स्वर और व्यंजन में क्या अंतर है। और इस तरह से आप स्वर और व्यंजन की परिभाषा को समझ सकते हैं।

अब आपको स्वर और व्यंजन की जानकारी के साथ-साथ कौन-कौन से हिंदी वर्णमाला में स्वर है और कौन-कौन से अक्षर हिंदी वर्णमाला में मिल जाना इस पर मैंने विस्तार से जानकारी देते हुए आपको बारूद के साथ यह बताया है कि कौन कौन से शब्द अक्षर व्यंजन और स्वर है

हिंदी वर्णमाला में कितने व्यंजन होते हैं?

हिंदी वर्णमाला में कुल व्यंजन 41 होते है। अगर आपको इस विषय पर अच्छी जानकारी मिल गई हो। और आपके द्वारा खोजे जा रहे प्रश्नों के उत्तर मिल गया हो। तो इस लेख को आगे भी शेयर करें। ताकि और लोगो को भी इस लेख से हेल्प मिल सके। इस लेख के माध्यम से मैंने आपको यही जानकारी देने का प्रयास किया है। स्वर और व्यंजन कितने होते हैं जो कि मैंने बताया है स्वर और व्यंजन मिलाकर 52 वर्ण होते हैं। जिसमें 11 स्वर होते हैं और 41 व्यंजन होते हैं।

ऐसी ही अन्य जानकारी के लिए हमारे ब्लॉग पर पहले से कई और आर्टिकल पब्लिश किए गए है। उन्हें भी पढ़ सकते हैं। और अधिक जानकारी ले सकते हैं। इस लेख से जानकारी मिला हो तो आगे भी शेयर करें ताकि और भी लोगो तक जानकारी पहुंच पाए।

Leave a Comment

error: Content is protected !!