यूटीआर नंबर (UTR Number) क्या होता है?

इस लेख में हम लोग जानेंगे की यूटीआर नंबर क्या होता है. UTR Number कैसे पता करे. UTR Full Form in Hindi क्या होता है. और इसका कार्य क्या होता है इन प्रश्नो पर विस्तार चर्चा करेंगे और जानकारी प्राप्त करेंगे।

अधिकतर लोगो को utr सम्बंधित ज्यादा जानकारी नहीं होती है लेकिन यह चिंता का विषय नहीं है इस लेख को पढने के बाद यूटीआर की विशेष जानकारी हो जाएगी इसके लिए इस लेख में लिखे पैराग्राफ को स्टेप वाई स्टेप फॉलो करना होगा।

कई बार हमारे द्वारा किया गया ट्रांसक्शन बीच में अटक जाता है रिसीवर के बैंक अकाउंट तक नहीं पंहुच पाता है या काफी समय लग जाता है इस अवस्था में कस्टमर केयर से संपर्क करने पर यूटीआर नंबर पूछा जाता है अब कई लोगो को यूटीआर के बारे में पता ही नहीं होता है आइये जानते है क्या है।

यूटीआर नंबर क्या होता है?

जब किन्ही दो बैंक अकाउंट के बीच पैसो की लेनदेन होती है चाहे वो RTGS, IMPS, NEFT, या फिर UPI के माध्यम से हो उस ट्रांसक्शन का UTR Number Generate होता है वह हर एक ट्रांसक्शन से जुड़ा होता है।

किसी एक लेनदेन से जारी यूटीआर नंबर किसी दूसरे लेनदेन यूटीआर नंबर से मैच नहीं होता है हर ट्रांसक्शन एक यूनिक नंबर होता है इसी लिए इसे अद्वितीय ट्रांसक्शन संख्या भी बोलते है इसे Transaction Number के नाम भी जाना जाता है।

जारी यूटीआर नंबर से ट्रांसक्शन की वर्तमान स्थिति या Status भी जान सकते है यदि ट्रांसक्शन सफल न होने पर इसी यूटीआई नंबर से अपनी समस्या का समाधान भी ले सकते है।

कुछ समय पहले पैसो की लेनदेन के लिए सिमित माध्यम थे जब किसी को RTGS के जरिये पेमेंट किया जाता था तो उस ट्रांसक्शन का एक UTR नंबर जेनरेट होता था वही आज भी चल रहा है यदि किसी दो अकाउंट के बीच RTGS से पैसो का लेनदेन होता है वहा से 22 अंक का यूटीआर नंबर जेनरेट होता है वही NEFT के जरिये लेनदेन करने पर 16 अंक का यूटीआर नंबर मिलता है और UPI के माध्यम से करने पर 12 अंक का यूटीआर नंबर मिलता है।

इस यूटीआर नंबर से ट्रांसक्शन की पूर्ण हिस्ट्री का प्राप्ति किया जा सकता है ट्रांसक्शन की रुकावट होने पर इसी नंबर से बैंक से मदद भी लिया जा सकता है।

UTR full form in hindi.

अधिकांश को यूटीआर का पूरा नाम नहीं पता होता है तो मैं आपको बता दू UTR ka Full Form “Unique Transaction Reference” हिंदी अर्थ अद्वितीय लेनदेन सन्दर्भ होता है।

यह यूटीआर नंबर हर ट्रांसक्शन से अलग अलग होता है यह एक अनोखा नंबर होता है यह नंबर बैंक के द्वारा उत्पन्न किया जाता है जो किसी एक दूसरे यूटीआर नंबर से मिल नहीं सकता है।

यह नंबर आप अपने प्रिंट पासबुक या बैंक स्टेटमेंट से निकाल सकते है इसमें दिनांक माह वर्ष और कुछ अंक मेंशन होते है।

UTR Number कैसे पता करे?

प्रश्न है की यूटीआर नंबर कैसे पता करे. इस नंबर को पता करने के लिए कई तरीके है जिनके माध्यम से बड़ी आसानी से यूटीआर नंबर जान सकते है।

  • सबसे आसान यह है की बैंक से अपने अकाउंट का स्टेटमेंट लेकर यूटीआर नंबर की प्राप्ति कर सकते है स्टेटमेंट में Ref. No. के निचे यूएटीआर नंबर देखने को मिल जायेगा लेकिन लेनदेन मेथड के हिसाब से यूटीआर नंबर में कम ज्यादा अंक हो सकता है।
  • यदि आप इंटरनेट बैंकिंग का इस्तेमाल करते है तो बहुत आसानी से कही भी कभी भी यूटीआर नंबर प्राप्त कर सकते है इसके लिए आपको अपने फ़ोन या कंप्यूटर में इंटरनेट बैंकिंग को Login कर ले फिर Mini Statement या Account Passbook का ऑप्शन मिल जायेगा उस पर क्लिक करने के बाद यूटीआर नंबर देखने को मिल जायेगा।
  • अगर आप UPI के माध्यम से पेमेंट किसी को भेजते है या किसी थर्ड पार्टी एप्लीकेशन से भेजते है तो वहा पर भी यूटीआर नंबर देखने को मिल जायेगा इसके लिए आपको ट्रांसक्शन हिस्ट्री में जाना होगा ट्रांसक्शन पर क्लिक करना होगा वहा दर्ज यूटीआर नंबर को देख सकते है।

अधिक जानकारी।

Faqs

प्रश्न : यूटीआर नंबर से लेनदेन की स्थिति कैसे जाने?

उत्तर : यदि आप अपने लेनदेन की मौजूदा स्थिति जानना चाहते है तो आपके पास कई विकल्प होते है लेनदेन स्थिति जानने के लिए पहला आप इंटरनेट बैंकिंग, मोबाइल एप्लीकेशन, कस्टमर केयर की मदद से, वर्तमान स्थिति या ट्रांसक्शन को ट्रैक (Transaction Track) कर सकते है।

प्रश्न : यूटीआर नंबर की आवश्यकता कब होती है?

उत्तर : जब किसी दो बैंको के बीच लेनदेन होने पर भेजे गए अकाउंट में पैसे Credit न हुए हो या पैसे अटक गए या फिर लेनदेन स्थिति जानना हो तब आपको यूटीआर नंबर की आवश्यकता हो सकती है।

प्रश्न : यूटीआर नंबर कितने अंक का होता है?

उत्तर : यूटीआर नंबर हर Payment Method का अलग हो सकता है जैसे RTGS का 22 अंक का होता है NEFT का 16 अंक यही UPI का 12 अंक का होता है।

प्रश्न : यूटीआर नंबर में क्या क्या मेंशन होता है?

उत्तर : यूटीआर नंबर में कई ज़रूरी जानकारी जुडी होती है जैसे पेमेंट कब किया गया है उसका डेट मंथ ईयर इसके अलावा भी बैंक कोड और कुछ डिजिट जुड़े होते है इसी से कीसी पेमेंट की स्थिति जानी जाती है।

प्रश्न : यूटीआर नंबर का उद्देश्य क्या है?

उत्तर : यूटीआर नंबर का उत्पन्न करने का बैंक का मैन मकसद यह है की ट्रांसक्शन से जुडी हर एक जानकारी एक नंबर में समेटना जिससे कभी किसी ट्रांसक्शन के बारे में अधिक से अधिक जानकारी जानने की आवश्यकता हो तो आसानी से उसी नंबर के माध्यम पता चल जाये।

सन्दर्भ

यह लेख सिखाता है की यूटीआर नंबर क्या होता है. यूटीआर नंबर कैसे पता करे. इसका पूरा नाम क्या होता है. इसके अतिरिक्त भी कुछ प्रश्न के उत्तर इस आर्टिकल में मेंशन किये गए है मुझे उम्मीद है यह आर्टिकल आपको पसंद आया होगा है और आपके द्वारा खोजे जा रहे प्रश्न या कुछ नया सिखने को ज़रूर मिला होगा।

यदि इस आर्टिकल से जुडा कोई प्रश्न हो डाउट हो कुछ समझ न आया हो तो पोस्ट के निचे दिए कमेंट बॉक्स का सहारा ले सकते है और उसमे अपने प्रश्न को मेंशन करके कमेंट कर दे उसका बहुत जल्दी आपको उसी प्रश्न के निचे देखने को मिल जायेगा।

अगर आपको इस ब्लॉग से रिलेटेड कोई जानकारी या सुझाव देना है तो आप हमारे कांटेक्ट पेज पर जाये और वहा से सुझाव टाइप करके मुझे भेज सकते है यह आर्टिकल लाभकारी रहा हो आपको कुछ सिखने को मिला हो तो इसे शेयर करना न भूले ताकि अन्य लोगो को भी इसकी जानकारी प्राप्त सके।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!