टीजीटी क्या है – टीजीटी के लिए योग्यता, सब्जेक्ट, फीस, सैलरी,

शिक्षक बनने के लिए स्टूडेंट को पहले पढाई करनी पड़ती है। उसके बाद कई डिग्री भी हासिल करनी पड़ती है। जिसमे टीजीटी और पीजीटी डिग्री का नाम भी आता है। इसलिए इस लेख में टीजीटी क्या है, टीजीटी के लिए योग्यता, सब्जेक्ट, फीस, सैलरी, और सम्बंधित जानकारी लेख में देने वाला हूँ। लेख को अंतिम तक पढ़े।

बहुत सारे स्टूडेंट शिक्षक पद पर नौकरी करना पसंद करते है और पढ़ लिखकर वह टीचर बनना चाहते है। अगर आप भी टीचर बनना चाहते है। तो आपके यह लेख काफी महत्वपूर्ण होने वाला है। इसमें मैं आपको टीजीटी डिग्री के बारे में बताने वाला हूँ। 10वी क्लास तक पढ़ाने वाले शिक्षक के पास टीजीटी की डिग्री होना अनिवार्य है।

सरकारी और प्राइवेट स्कूलों में टीचर बनने के लिए स्टूडेंट को कई डिग्री हासिल करनी होती है। तभी वह अलग अलग क्लास के स्टूडेंट को शिक्षित कर पाते है। अगर टीजीटी डिग्री हासिल कर लेते है। तो आप 6वी से 10वी तक के स्टूडेंट को आसानी से पढ़ा सकते है।

टीचर बनने के लिए स्टूडेंट अपने मन मुताबिक सब्जेक्ट चुनकर पढाई पूरी कर सकते है। साथ ही डिग्री हासिल करने के बाद वहा स्टूडेंट को शिक्षित कर सकते है। लेकिन महत्वपूर्ण यह की पहले टीचर के पास पर्याप्त डिग्री के साथ जानकारी होना काफी ज़रूरी है।

टीजीटी क्या है – TGT Kya Hai?

tgt-kya-hai-in-hindi

टीजीटी क्या है. दोस्तों आपको पता होना चाहिए। की टीजीटी कोई कोर्स नहीं है। यह एक तरह से क्वालीफाइंग डिग्री या नौकरी के लिए परीक्षा होती है। इस डिग्री को क्वालीफाई करने के लिए स्टूडेंट को पहले ग्रेजुएशन डिग्री हासिल करनी होगी। या बीएड की डिग्री हासिल करने के बाद भी टीजीटी के लिए अप्लाई कर सकते है।

TGT क्वालीफाई करने के बाद टीचर 6वी से 10वी तक के स्टूडेंट को ही पढ़ा सकते है। 11वी और 12वी के स्टूडेंट को पढ़ाने के लिए टीचर को पीजीटी की डिग्री हासिल करनी होगी। जिसके लिए पहले पोस्ट ग्रेजुएशन या बीएड डिग्री हासिल करनी होगी। उसके बाद ही वह पीजीटी का एग्जाम दे पाएंगे।

अधिकतर राज्यों में टीजीटी और पीजीटी क्वालीफाई स्टूडेंट को टीचर पद पर भर्ती किया जाता है। चाहे वो सरकारी टीचर हो या प्राइवेट स्कूलों के टीचर हो। टीजीटी और पीजीटी क्वालीफाई टीचर को शिक्षक पद पर आसानी से नौकरी मिल जाती है।

टीजीटी और पीजीटी स्टूडेंट किसी भी सब्जेक्ट से कर सकता है। वह जिस सब्जेक्ट से ग्रेजुएशन पोस्ट ग्रेजुएशन या बीएड कोर्स किया है। उन्ही सब्जेक्ट को लेकर स्टूडेंट टीजीटी और पीजीटी क्वालीफाई कर सकता है। टीजीटी के लिए स्टूडेंट को लिखित एग्जाम के अलावा इंटरव्यू भी देना पड़ता है।

TGT Full Form in Hindi

TGT का फुल फॉर्म “Trained Graduate Teacher” होता है। 10वी क्लास तक पढ़ाने वाले टीचर को यह एग्जाम क्वालीफाई करना अनिवार्य है। बिना इस डिग्री के वह दसवीं तक के स्टूडेंट को शिक्षित नहीं कर सकते है। इसलिए सरकारी और प्राइवेट स्कूलों के बनने वाले टीचरो को TGT क्वालीफाई कर लेना चाहिए।

टीजीटी के लिए योग्यता

TGT एग्जाम को देने के लिए स्टूडेंट के पास न्यूनतम शैक्षणिक योग्यता होना चाहिए। यह योग्यता होने पर ही वह टीजीटी एग्जाम में शामिल हो सकते है। और टीजीटी क्वालीफाई करके ट्रेंड ग्रेजुएट टीचर की डिग्री मिलने के टीचर बन जाते है। फिर वह 10वी तक के स्टूडेंट को अलग अलग सब्जेक्ट की शिक्षा दे सकते है।

  • ग्रेजुएशन किसी भी कोर्स से पूरा होना चाहिए।
  • बीएड की डिग्री होनी चाहिए।
  • स्टूडेंट की आयु 21 वर्ष से अधिक होनी चाहिए।

जिस भी सब्जेक्ट से आप टीचर बनना चाहते है। वही सब्जेक्ट लेकर आपको ग्रेजुएशन या बीएड की डिग्री हासिल करनी होगी। अगर आपको इंग्लिश सब्जेक्ट का टीचर बनना है। तो आप इंग्लिश सब्जेक्ट से ग्रेजुएशन डिग्री हासिल कर सकते है। दूसरे सब्जेक्ट के आप टीचर बनना चाहते है। तो उस सब्जेक्ट को लेकर भी आप ग्रेजुएशन या बीएड की पढाई कर सकते है।

टीजीटी के लिए सब्जेक्ट

कई स्टूडेंट को कंफ्यूज होंगे की टीजीटी किस सब्जेक्ट से कर सकते है। तो मैं आपको बता दूँ टीजीटी आप वही सब्जेक्ट से करे जिस सब्जेक्ट को आप स्टूडेंट को पढ़ाना चाहते है। यानि जिस सब्जेक्ट में आपका इंटरेस्ट है। उसी सब्जेक्ट से टीजीटी या पीजीटी करे। वैसे टीजीटी के लिए स्टूडेंट को कई सब्जेक्ट मिल जाते है। जैसे-

  1. इंग्लिश
  2. हिंदी
  3. उर्दू
  4. साइंस
  5. संस्कृत
  6. अग्रिकल्चर
  7. सोशललॉजी
  8. होम साइंस
  9. मैथमेटिक्स
  10. कॉमर्स
  11. फिजिक्स
  12. एजुकेशन
  13. जूलॉजी
  14. आर्ट्स
  15. म्यूजिक
  16. फिजिकल

इन सब्जेक्ट से आप टीजीटी की एग्जाम क्वालीफाई कर सकते है। लेकिन उससे पहले आपको ग्रेजुएशन में इन सब्जेक्ट की पढाई करनी होगी। या बीएड की पढाई में इन सब्जेक्ट की पढाई करनी होगी। फिर आप टीजीटी क्वालीफाई कर सकते है।

टीजीटी के लिए फीस

जैसा की मैंने ऊपर लेख में बताया है कि टीजीटी कोई कोर्स नहीं है। यह एक प्रकार की उपाधि है। जो टीचर को लेनी आवश्यक होती है। इसके लिए टीचर को पहले फॉर्म अप्लाई करना होता है। उसके लिए आवेदन फीस आवेदक को देना पड़ता है। जो अलग अलग वर्ग के स्टूडेंट के लिए अलग-अलग होती है। इसे आप इस टेबल से समझे।

वर्गफीस
जनरल750-
ओबीसी750-
एससी/एसटी400-
पीडब्लूएस400-
ईडब्लूएस750-

टीजीटी के लिए सैलरी

अब बात आती है सबसे महत्वपूर्ण प्रश्न की Trained Graduate Teacher को कितना सैलरी मिलता है। क्योकि अधिकांश लोगो को इस प्रश्न का उत्तर जानने की उत्सुकता होगी। टीजीटी टीचर की ग्रॉस सैलरी 58,000 – 68,000 प्रतिमाह होती है। लेकिन इन हैंड मिलने वाली एवरेज सैलरी 52,700 – 61,700 के रूपये महीने के हिसाब से मिलती है।

लेकिन शुरूआती दौर में टीजीटी टीचर को 44,900 रूपये के करीब हर महीने वेतन मिलता है। लेकिन जैसे जैसे नौकरी करते जाते है। इन टीचरो की वेतन भी बढ़ती जाती है। बढ़कर नौकरी के आखरी पड़ाव तक इन टीचरो की सैलरी 1,42,400 रूपये के करीब हर महीने हो जाती है। लेकिन इतनी सैलरी नौकरी के आखरी पड़ाव पर मिलती है।

इसके अतिरिक्त इन टीचरो को कई प्रकार के भत्ता बेनिफिट्स मिलते है। जैसे- हाउस रेंट भत्ता, पेंशन, मेडिकल फैसिलिटी, बच्चो के एजुकेशन के लिए भत्ता, महगाई भत्ता, के अलावा कई सुविधाएं इन टीचरो को मिल जाती है। जो अलग अलग राज्य के हिसाब टीजीटी टीचर को भत्ता मिलता है।

टीजीटी के लिए तैयारी

कई स्टूडेंट को टीजीटी परीक्षा क्वालीफाई करने के लिए तैयारी करनी होती है। जो कोचिंग इंस्टिट्यूट से कर सकते है। वही बहुत सारे स्टूडेंट स्वम् से तैयारी कर सकते है। टीजीटी के लिए आप चाहे तो कोचिंग इंस्टिट्यूट ज्वाइन करके पढाई करके तैयारी कर सकते है। वही आप चाहे तो ऑनलाइन प्लेटफार्म का इस्तेमाल करके तैयारी कर सकते है।

टीजीटी डिग्री के लिए कोई ज़रूरी नहीं है। की कोचिंग इंस्टिट्यूट या कॉलेज से पढाई करे। आप बिना कोचिंग और कॉलेज के भी टीजीटी परीक्षा में शामिल हो सकते है। और परीक्षा क्वालीफाई करके टीजीटी की डिग्री हासिल कर सकते है।

समाप्त

टीजीटी शिक्षक के लिए काफी महत्वपूर्ण है। अगर वह एक टीचर बनकर अपना करियर सेट करना चाहता है। इस लेख में मैंने टीजीटी से जुडी जानकारी जैसे- टीजीटी क्या है, टीजीटी के लिए योग्यता, और सम्बंधित जानकारी मैंने इस लेख में मेंशन किया है। अधिक जानकारी के लिए मेरे ब्लॉग पर पहले से कई आर्टिकल पब्लिश किये जा चुके है। उसे भी आप पढ़ सकते है।

यदि इस लेख से जुड़ा आपका किसी भी प्रकार का कोई प्रश्न है। जिसका आप उत्तर जानना चाहते है। उसे आप कमेंट सेक्शन के जरिये पूछ सकते है। उसका उत्तर आपको अवश्य दिया जायेगा। इस लेख से सहायता मिला हो। तो कमेंट सेक्शन में ज़रूर बताये।

Leave a Comment

error: Content is protected !!