शेयर मार्किट क्या है What is Share Market hindi?

शेयर मार्किट क्या है (What is Share Market) हर कोई घर बैठे अच्छा पैसा कमाना चाहता है तो उसके लिए शेयर मार्किट में आकर उसको शेयर खरीदना और बेचना चाहिए जिससे वह घर बैठे बहुत ही मोटा पैसा कमा सकता है क्योंकि शेयर मार्किट एक ऐसा प्लेटफार्म है जिससे रातो रातो करोड़ो रूपये कमाए जा सकता है इंडिया में दो मैन स्टॉक एक्सचैंजेस है पहला (BSE) बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज दूसरा (NSE) नेशनल स्टॉक एक्सचेंज ये इंडिया के सबसे बड़े स्टॉक एक्सचेंज है इन्ही स्टॉक एक्सचेंज में सारे शेयर मार्केट कम्पनीज (Companies) रजिस्टर्ड होती है.

 what is share market-share market hai
what is share market

(BSE) बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज में 5000 से अधिक कम्पनीज रजिस्टर है और (NSE) नेशनल स्टॉक एक्सचेंज 1600 कम्पनीज रजिस्टर है इंडिया में (BSE) और (NSE) के द्वारा ही चलता है दोनों कम्पनीयो के सेंसेक्स देखकर ये पता किया जा सकता है कि कम्पनी डाउन या उप होती है तो उसका अपडेट मितला रहता है सेंसेक्स के माध्यम से कम्पनी की सारी जानकारी मिल जाता है

#1. म्यूच्यूअल फण्ड क्या है (WHAT IS MUTUAL FUND) की पूरी जानकारी?
#2. सेविंग अकांउट और करेटं अकांउट मे क्या अन्तर होता है?
#3. डेबिट कार्ड और क्रेडिट कार्ड मे अन्तर क्या अन्तर होता है?
#4. एमबीए क्या है कैसे करे-what is mba hindi?

शेयर मार्किट क्या होता है (What is Share Market)

शेयर मार्किट का हिंदी अर्थ होता है अंश बाजार यानि कि किसी भी कम्पनी का अंश लेना होता है शेयर मार्किट में अपने पैसे को लगाकर उनका शेयर खरीद कर रखना होता है और जिस कम्पनी का आपने शेयर खरीदा है वो कम्पनी उस पैसे को कही भी इन्वेस्ट (Invest) करके पैसे कमाते है जो कम्पनी पहली बार जो अपना शेयर बेचती है उसको (IPO) इनिशियल पब्लिक ऑफरिंग होता है जो कम्पनी शेयर होता है उसी शेयर को मार्केट में उस शेयर को मार्केट में फैलाया जाता है जब मार्केट में डिमांड बढ़ता है तो उसका रेट बढ़ता है तो उससे कम्पनी ग्रोथ करती है तभी शेयर के रेट बढ़ता और घटता है.

शेयर कैसे ख़रीदे-शेयर खरीदने के लिए सबसे पहले आपका डीमेट अकाउंट होता है उसी अकाउंट से आपका शेयर ख़रीदा और बेचा जाता है जो अगर शेयर खरीद तो आपके डीमेट अकाउंट से पैसे कट जाते है और जब बेचते है तो उसी डीमेट अकाउंट में आपका शेयर आ जाता है शेयर दो तरीके से ख़रीदा जा सकता है एक ब्रोकर यानि दलाल द्वारा ख़रीदा जाता है जो अगर दलाल से खरीदते तो आपको गाइडेंस मिल जाता है क्योकि उनको एक्सपीरियंस होता है तो वह अच्छे अच्छे कम्पनी में इन्वेस्ट करता है और प्रॉफिट के ज्यादा चांस होता है.

दूसरा होता है-आप डायरेक्ट किसी भी बैंक में अपना डीमेट अकाउंट ओपन करा सकता है लेकिन इसमें कोई ये बताने वाला नहीं होता है कहा से प्रॉफिट और लाभ कैसे होता है और बैंक सेविंग अकाउंट होना जरूरी होता है डीमेट अकाउंट से जब शेयर सेल करते है तो आपके सेविंग अकाउंट पैसे ट्रांसफर होता है.

शेयर का रेट-कम्पनी के शेयर का रेट डिमांड एंड सप्लाई पर निर्भर रहता है जितना मार्केट में शेयर फैलते जाते है तो उस शेयर का रेट बढ़ता जाता है जितना मार्केट में शेयर का डिमांड होता रहेगा उतना ही शेयर रेट बढ़ता है डिमांड बढ़ता है तो रेट बढ़ता है और डिमांड घटता है तो रेट कम हो जाता है कभी कभी कंम्पनी के ऊपर निर्भर रहता है कि कम्पनी अपने लाभ (Profit) पर अपने शेयर का रेट बढ़ता है.

शेयर मार्केट के लाभ-में हर कोई आज के ज़माने पैसा कौन कमाना नहीं चाहता है शेयर मार्केट में सारी कम्पनी अपना एक्स्ट्रा पैसा इन्वेस्ट करती है और इंट्रा डे ट्रेडिंग करके बहुत ही अच्छा पैसा कमाती है क्योकि शेयर मार्किट में कम समय बहुत ज्यादा पैसे कमाया जा सकता है बहुत जल्दी पैसे कमाया जा सकता है इसमें लॉन्ग टाइम के निवेश में बहुत अच्छा प्रॉफिट होता है.

शेयर मार्केट के हानि-इस मार्केट में हानि भी होता है शेयर मार्किट में हानि भी बहुत ज्यादा हो जाता है क्योकि जो बड़ी कम्पनी घाटे में जाती है तो शेयर मार्किट में बहुत हानि यानि गिरावट होता है और जब मार्केट में डिमांड कम होता है तो भी शेयर का रेट कम हो जाता है यही होता है की पता नहीं कम रेट कम हो बढे तो इसमें बहुत प्रकार के हानि भी होता है.

नोट:-मै उम्मीद करता हु कि आपको शेयर मार्किट क्या है इस पोस्ट से आपको बहुत हेल्प मिली होगी और आपको भी Share Market से सम्बंधित सारे प्रॉब्लम दूर हो गये होंगे और इस आर्टिकल से बेहतर जानकारी मिली होगी तो ऐसे पोस्ट को पढ़ने के लिए हमारे फेसबुक और इंस्टाग्राम के पेज को लाइक और फॉलो करे और सबसे पहले जानकारी पाये और आर्टिकल को शेयर करे।(धन्यवाद)

1 Comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!