सेविंग अकाउंट में कितना पैसा रख सकते हैं?

अधिकतर बचत खाताधारक के मन में यह प्रश्न आता है कि सेविंग अकाउंट में कितना पैसा रख सकते हैं? इस जानकारी के साथ हम आपको ये भी बताएँगे की बचत खाते में कितना पैसा रखे की इनकम टैक्स के दायरे में न आये ज्यादातर व्यक्ति इस जानकारी को लेकर परेशान रहते है की अपने सेविंग अकाउंट में ज्यादा पैसा रखने पर टैक्स देना पड़ेगा इसकी विस्तृत जानकारी हम लोग जानेगे।

वर्तमान समय में अधिकतर व्यक्ति के बैंक में बचत खाता होते है क्योकि हर कोई अपने कमाई के कुछ हिस्से को भविष्य के लिए बचत करता है ताकि अपने खुवाहिसो को पूरा कर सके किसी मुसीबत के वक़्त उस पैसो को इस्तेमाल कर सके अपनी ज़रुरतो को पूरा कर सके अपने आने वाले टाइम के लिए अधिकतर इंसान बचत करते है बचत करने के लिए लोग बैंक में सेविंग अकाउंट ओपन करते है।

कई बचत खाताधारक अपने अकाउंट से काफी ज्यादा ट्रांसक्शन करते है बड़े बड़े अमाउंट की लेनदेन करते है या बचत खाता में जमा करके रखते है लेकिन उनके मन में डर रहता है की इनकम टैक्स विभाग के द्वारा कोई नोटिस न भेज दी जाये सेविंग अकाउंट में पैसे जमा करने की कोई लिमिट होती है अगर होती है कितना पैसा जमा करके निकाल सकते है जो टैक्स के दायरे में न आये।

कई लोगो को इसकी चिंता ही नहीं होती है क्योकि वो उस रकम पर आईटीआर भरते है इसलिए लोगो के मन में डर नहीं होता है जो लोग टैक्स के दायरे में नहीं आते है और इनकम टैक्स रिटर्न नहीं भरते है उनके मन ये प्रश्न अक्सर रहता है यदि इस प्रश्न का आप उत्तर जानना चाहते है तो आपको यह लेख पूरा पढ़ना चाहिए।

सेविंग अकाउंट में कितना पैसा रख सकते हैं?

saving-account-me-kitna-paisa-rakh-sakte-hai

जब किसी सामान्य व्यक्ति के द्वारा बैंक में खाता खोला जाता है तो बैंक सेविंग अकाउंट के रूप ओपन कर देता है जिसे बचत खाता कहते है यह अधिकतर सामान्य व्यक्तियों के द्वारा खोला जाता है कई लोगो के द्वारा चालू खाता ओपन करवाया जाता है जो किसी प्रकार का बिज़नेस करते है या एक में अधिक बार लेनदेन करते है उनके द्वारा करंट अकाउंट ओपन किया जाता है।

सेविंग अकाउंट में कितना पैसा रख सकते है. इसकी कोई लिमिट नहीं होती है आप जितना चाहे उतना सेविंग अकाउंट में पैसे जमा कर सकते है और निकाल सकते है इसकी कोई सीमा नहीं है लेकिन बैंक चाहे तो इस ट्रांसक्शन अमाउंट पर लिमिट लगा सकता है लेकिन ऐसा कोई बैंक नहीं करता है सभी खाताधारक को बचत खाता से लेनदेन करने की छूट होती है इसकी कोई सीमा बैंक के द्वारा नहीं है।

सभी बैंको की न्यूनतम जमा राशि तय होती है जैसे किसी बैंक में ऑफलाइन 10 रूपये से कम की राशि जमा नहीं कर सकते है वही ऑनलाइन की बात की जाये तो आप 1 रूपये से लेकर जितना जमा करना चाहे जमा कर सकते है अधिकतम जमा राशि की कोई सीमा नहीं है वही न्यूनतम जमा राशि की सीमाएं है इससे कम किसी बैंक के द्वारा जमा नहीं किया जा सकता है।

कई बैंको के द्वारा Saving Account में पैसे जमा करने की लिमिट रखी है जो 3 या 4 बार से अधिक पैसे जमा करने पर आपको उसका कुछ शुल्क देना पड़ सकता है यह अभी सभी बैंको में चालू नहीं है यह अभी स्टेट बैंक और आईसीआईसीआई बैंक जैसो में लिमिट तय की है जो इसके लिए ग्राहक से कुछ पैसे चार्ज करते है।

और पढ़े..

सेविंग अकाउंट पर टैक्स कब लगता है?

वैसे आपको saving account से transaction करने की कोई सीमा बैंक की ओर नहीं रखी गयी है आप जितना मर्जी उतना ट्रांसक्शन कर सकते है यदि आपके बचत खाता Saving Account से सालाना Annual 10 लाख से अधिक का जमा निकासी हो रहा है तो आपको इनकम टैक्स विभाग को उसकी सुचना देना ज़रूरी है यदि एक व्यक्ति के नाम से कई सेविंग अकाउंट है और उन सभी अकाउंट को मिलाकर 10 लाख या इससे अधिक का लेनदेन होता है तो आपको इनकम टैक्स रिटर्न भरना पड़ सकता है।

यदि आप 10 लाख से अधिक रकम का सालाना ट्रांसक्शन करते है तो आप इनकम टैक्स के दायरे में आ सकते है तो आपको इसकी जानकारी इनकम टैक्स विभाग को देनी होगी की आपके पास जो रकम आ रही है कहा से आ रही है आपका इनकम सोर्स क्या है आप कैसे कमाई करते है इसकी जानकारी आपको देना पड़ सकता है।

जनधन अकाउंट में कितना पैसा रख सकते हैं?

ये वही सामान्य सेविंग अकाउंट होते है जो बैंक में जाकर किसी व्यक्ति के द्वारा ओपन किया जाता है लेकिन सरकार के द्वारा चलाई जाने वाली स्कीम के तहत उन लोगो के लिए सेविंग अकाउंट खोले गए है जो बैंकिंग सिस्टम से दूर रहते है ये वही सामान्य खाता जैसे होते है इसे जीरो बैलेंस खाता भी कहते है इस योजना के तहत बैंको में बहुत सारे खाते खोले गए है ये किसी एक बैंक में नहीं बल्कि सभी सरकारी बैंक में जन धन खाता खोले गए है।

जैसा की मैंने आपको बताया की उन्ही खातों जैसा है जो बैंक में डायरेक्ट सेविंग अकाउंट ओपन कराया जाता है इन अकाउंट से भी अधिकतम जमा और निकासी पर लिमिट होती है इन खाताधारक को भी वह सारी बैंकिंग सुविधाएं दी जाती है बैंको के द्वारा अन्य सभी खाताधारक को दी जाती है।

सेविंग अकाउंट क्या है?

सेविंग अकाउंट अधिकतर इंसान अपने पैसो को बचत करने के खोलते है क्योकि बैंक को पैसो की बचत के लिए एक सुरक्षित स्थान माना जाता है यहाँ किसी खाताधारक के द्वारा किसी भी राशि में लेनदेन कर सकता है पैसा तो सभी लोग कमाते है लेकिन अधिकतर व्यक्ति पैसो की बचत नहीं कर पाते है लेकिन बैंक एक ऐसा जगह है जहा पर थोड़े थोड़े पैसो को जमा करके बचत कर सकते है।

सेविंग अकाउंट दो तरह के होते है एक सामान्य बचत खाता और दूसरा बुनियादी बचत खाता इन दोनों के बीच के थोड़ा सा अंतर है हलाकि अधिकतर सामान्य बचत खाता ही ओपन किये जाते है जिसमे खाताधारक आसानी से अपने पैसो को जमा कर सके और निकाल सके।

निष्कर्ष

सेविंग अकाउंट से सम्बंधित मैंने इस लेख में आपको जानकारी दी है इस से हम लोगो ने सीखा है की सेविंग अकाउंट में कितना पैसा रख सकते हैं? इससे जुडी जानकारी हम लोगो ने प्राप्त की है इससे सम्बंधित प्रश्न है जैसे सेविंग अकाउंट क्या है सेविंग अकाउंट में टैक्स कब लगता है जन धन खाता में कितना पैसा रख सकते है ऐसे प्रश्नो के उत्तर मैंने इस लेख में दिए है।

यदि इस लेख से जुड़ा आपके मन में कोई सवाल है तो आप कमेंट करके पूछ सकते है उसका जवाब आपको ज़रूर दिया जायेगा यह आर्टिकल आपको पसंद आया हो इससे जानकारी प्राप्त हुयी हो तो इसे शेयर करना न भूले और ऐसे कई लोगो के प्रश्न होंगे जो इस जानकारी से वंचित होंगे उन तक भी पहुचाये।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!