गणतंत्र दिवस कब और क्यों मनाया जाता है?

गणतंत्र दिवस कब और क्यों मनाया जाता है, republic-day-kab-aur-kyo-manaya-jata

गणतंत्र दिवस कब और क्यों मनाया जाता है, और इसका महत्व क्या है, 26 जनवरी क्यों मनाया जाता है, पहली बार गणतंत्र दिवस कब मनाया गया था, 26 जनवरी को क्या हुआ था, 26 जनवरी 1950 का दिन कौन सा था, ऐसे कई प्रश्न हम लोगों के मन में होते हैं। अगर आपके मन में भी ऐसे प्रश्न है तो यह लेख आपके लिए काफी लाभकारी हो सकता है।

26 जनवरी को गणतंत्र दिवस (Republic Day) कहते हैं। हर वर्ष 26 जनवरी को धूमधाम से मनाया जाता है। यह भारत का एक राष्ट्रीय पर्व है। 26 January को छुट्टियां होती है। सभी भारतीय खुशियां मनाते हैं। और Republic day को अच्छे से Celebrate करते हैं।

जैसा कि हम सभी को मालूम है। हमारा देश भारत 15 August 1947 को आजाद हुआ था। आजादी के बाद संविधान लागू हुआ। संविधान लागू होने का तारीख 26 जनवरी 1950 था। इसीलिए हम आज 26 जनवरी हर वर्ष धूमधाम से एक राष्ट्रीय त्योहार के रूप में मनाते हैं।

26 जनवरी सिर्फ भारत में ही नहीं मनाया जाता है। बल्कि जहां भारतीय मौजूद है। वहां भी मनाया जाता है। और वहां के लोगों के द्वारा भी मनाया जाता है। 26 जनवरी 1950 को हमारे देश का संविधान पारित हुआ था। ये भारत का राष्ट्रीय अवकाश में से 1 दिन है। और इस दिन हमारे देश में राष्ट्रीय अवकाश होता है।

गणतंत्र दिवस कब और क्यों मनाया जाता है?

गणतंत्र दिवस (26 जनवरी) को हर वर्ष धूमधाम से मनाया जाता है। इस दिन देश में राष्ट्रीय छुट्टी होती हैं। और लोग खुशियां सेलिब्रेट करते हैं। कार्यालय और विद्यालय में रंगारंग कार्यक्रमों को आयोजित करते हैं। और अलग-अलग कार्यक्रम को Republic Day पर सेलिब्रेट करते हैं।

26 जनवरी यानि गणतंत्र दिवस (Republic Day) हम भारतीयों के लिए काफी एक अहम दिन है। इस दिन को हम लोग काफी धूमधाम से सेलिब्रेट करते हैं। और इसका सेलिब्रेट करने का कारण ये है। 26 जनवरी 1950 को हमारे देश का संविधान लागू हुआ था।

26 जनवरी 1950 को (भारत सरकार अधिनियम 1935) को हटाकर भारत का संविधान लागू किया गया था। यह राष्ट्रीय तीन छुट्टियों में से 1 दिन है। इसके अलावा 15 अगस्त और गांधी जयंती को राष्ट्रीय अवकाश में गिना जाता है। 26 जनवरी 1950 को हमारे देश में संविधान लागू हुआ। उसके पश्चात सभी संविधान के नियम कानून के हिसाब से सब कुछ सही ढंग से चलने लगा।

इस दिन अलग-अलग जगहों पर कई अलग-अलग कार्यक्रमों का आयोजित किया जाता है। इसी दिन हमारे देश का संविधान 10:18 पर लागू किया गया था। वह दिन बृस्पतिवार दिनांक 26 जनवरी और सन 1950 था।

26 जनवरी क्यों मनाया जाता है?

26 जनवरी 1950 का दिन बृहस्पतिवार (Thursday) था। और उसी दिन हमारे देश का संविधान लागू हुआ था। इस दिन को हम लोग जो राष्ट्रीय पर्व के तौर पर जानते हैं। और राष्ट्रीय छुट्टी इस पर्व पर घोषित है। हमारे देश में धूमधाम से इस पर्व को मनाया जाता है। गणतंत्र दिवस पर सभी विद्यालय और कार्यालय में छुट्टियां होती है। लेकिन कई अलग-अलग कार्यक्रमों को आयोजित किया जाता है। और उसमें सभी लोग भाग लेते हैं।

यह हमारे लिए एक खुशी का पर्व है। जिसे हम लोग काफी धूमधाम से हर वर्ष मनाते हैं। और इस पर्व पर विभिन्न-विभिन्न कार्यक्रम को आयोजित किया जाता हैं। और उसमें कई अलग-अलग लोग भाग लेते हैं।

दूसरे आर्टिकल पढ़े.

भारतीय संविधान 26 जनवरी 1950 को ही क्यों लागू हुआ?

आजादी मिलने के बाद संविधान सभा का गठन किया गया था। संविधान सभा अपना काम 9 दिसंबर 1946 को शुरू कर दिया था। लेकिन संविधान को तैयार करने में 2 साल 11 महीने और 18 दिन का वक्त लग गया। यह दुनिया का सबसे बड़ा लिखित संविधान है।

दुनिया के सबसे बड़े लिखित संविधान को तैयार करने के बाद संविधान सभा के अध्यक्ष डॉ राजेंद्र प्रसाद को 26 नवंबर 1949 को सविधान सौंपा गया। इसीलिए 26 नवंबर को संविधान दिवस मनाया जाता है। सविधान सौंपने के बाद 26 जनवरी 1950 को पूरी तरह से हमारे देश में संविधान को लागू किया गया। 

भारत का संविधान पूरी तरह से लागू करने के लिए 26 जनवरी का दिन इसलिए चुना गया था। क्योकि कांग्रेस ने 26 जनवरी 1929 को अंग्रेजो के गुलामी के खिलाफ “पूर्ण स्वराज” का नारा दिया था। इसलिए 26 जनवरी का दिन चुना गया था। इसलिए संविधान को 26 जनवरी 1950 को पूरी तरह से भारत देश में लागू किया गया।

26 january ko kya hua tha?

गणतंत्र दिवस 26 जनवरी को हमारे देश में संविधान को लागू किया गया था। इसी दिन भारत सरकार अधिनियम 1935 को हटाकर पूरे देश में संविधान को लागू किया गया था। और इसी दिन से संविधान के अनुसार देश के लोगों को चलने का अधिकार मिला था।

26 जनवरी को आज हम एक पर्व के तौर पर जानते हैं। राष्ट्रीय अवकाश घोषित है। और इसे धूमधाम से मनाया जाता है। इस दिन हमारे देश में दुनिया का सबसे बड़ा लिखित संविधान लागू किया गया था।

26 जनवरी 1950 का दिन कौन सा था?

26 जनवरी 1950 का दिन बृहस्पतिवार (Thursday) था। इस दिन हमारे देश में पूरी तरह से संविधान का लागू किया गया था।

देश आजाद होने के लगभग 3 वर्ष होने वाले थे। तब हमारे देश में 26 जनवरी 1950 को संविधान लागू किया गया था। संविधान लागू होने का समय 10:18 था। उसके 6 मिनट बाद यानि 10:24 पर डॉ राजेंद्र प्रसाद ने राष्ट्रपति पद के लिए शपथ ली थी। 

पहली बार गणतंत्र दिवस कब मनाया गया?

पहली बार गणतंत्र दिवस 26 जनवरी 1950 को मनाया गया था। भारत में पहला गणतंत्र दिवस दिल्ली में मनाया गया था। और पुराने किले के सामने ब्रिटिश स्टेडियम में पहली बार परेड देखने को मिला था।

पहली बार गणतंत्र दिवस बृहस्पतिवार 26 जनवरी 1950 को दिल्ली में मनाया गया था। इस दिन हमारे देश का संविधान लागू हुआ था। और डॉ राजेंद्र प्रसाद ने 10:24 पर राष्ट्रपति के रूप में शपथ ली थी।

समाप्त

उम्मीद है आपको यहां से हेल्प मिला होगा। और मेरे द्वारा शेयर की गई जानकारी से आपको रूबरू होने का मौका मिला होगा। यहां पर मैंने गणतंत्र दिवस कब और क्यों मनाया जाता है. उस पर विस्तार से चर्चा करते हुए जानकारी दिया है। इसी तरह की जानकारी हमारे ब्लॉग और पब्लिश है उसे भी पढ़ें और अधिक जानकारी प्राप्त करें।

इस जानकारी से आपको हेल्प मिला हो। तो इसे आगे शेयर करें। ताकि और लोगों को भी हेल्प मिल सके। और अधिक जानकारी के लिए या किसी प्रश्न का उत्तर जानने के लिए मुझे कमेंट कर सकते हैं। आपके प्रश्न का उत्तर अवश्य दिया जाएगा।

होम पेज पर जाये-www.catchit.in

Leave a Comment

error: Content is protected !!