पढ़ाई में मन लगाने का आसान तरीका | मन लगाकर पढ़ाई कैसे करें?

आज के इस आधुनिक युग में हर एक व्यक्ति को शिक्षित होना काफी आवश्यक है जिस तरह व्यक्ति के जीवन में आम चीजों की आवश्यकता होती है उसी तरह पढाई भी काफी ज़रूरी है लेकिन बहुत विद्यार्थी को ये नहीं पता होता है पढ़ाई में मन लगाने का आसान तरीका क्या है. मन लगाकर पढ़ाई कैसे करें, घर पर पढ़ाई करने का तरीकापढ़ाई करने का सही समय क्या है इन सभी प्रश्नो के उत्तर से इस लेख में रूबरू कराएँगे।

शिक्षा व्यक्ति के लिए काफी आवश्यक है यदि व्यक्ति नौकरी करना चाहता है अपने जीवन में सफल होना या अच्छी Lifestyle से जीवन व्यतीत करना चाहता है तो उसके लिए शिक्षा बहुत महत्वपूर्ण है क्योकि शिक्षा के बिना ये सारि चीजे काफी मुश्किल हो जाती है अगर व्यक्ति शिक्षित है तो ये सारी चीजे पाने में उसे आसानी हो जाती है।

अध्यन करना आसान है लेकिन देर तक मन लगाकर पढ़ना मन से पढ़ना ये काफी मुश्किल होता है अधिकतर विद्यार्थी ज्यादा देर तक या मन लगाकर पढाई करने में असमर्थ रहते है क्योकि उनका मन पढाई में नहीं बल्कि और दूसरी चीजों में लगा रहता है इसलिए जब विद्यार्थी पढाई करने के लिए किताबे पढता है तो उसका ध्यान कही और होता है और उसके द्वारा पढ़ी गयी चीजे उसके पल्ले नहीं पड़ती है।

पढाई में मन न लगने के कई कारण हो सकते है जिससे स्टूडेंट पढाई करना तो चाहता है पर उसका मन नहीं लगता है और स्टूडेंट पढाई करने के लिए कुछ देर बैठता है फिर वो उठ जाता है उसे पढाई करना अच्छा नहीं लगता है या पढाई में मन नहीं लगता है क्योकि विद्यार्थी को पढाई करने के सही तरीके मालूम नहीं होता है इसलिए मैं इस लेख के माध्यम से विद्यार्थी को कुछ सुझाव दे रहा हूँ इसे हर विद्यार्थी को पढ़ना चाहिए।

पढ़ाई में मन लगाने का आसान तरीका क्या है?

padhai-me-man-lagane-ka-asan-tarika

अधिकतर स्टूडेंट को पढाई करने का सही तरीका क्या है कैसे पढ़ना चाहिए पढाई करने का सही समय क्या होता है पढाई करने की सही दिशा क्या होती है पता नहीं होता है कई स्टूडेंट इन सभी चीजों को फॉलो ही नहीं करते है जिससे उनका पढाई में मन नहीं लगता है।

अगर आप एक विद्यार्थी है और अपने क्लास में टॉप करना चाहता है तो आपको इन सभी नियमो को फॉलो करना चाहिए ताकि आपका मन पढाई में लगे और जल्दी से कोई भी विषय याद हो जाये देर तक पढाई कर सके इससे आप परीक्षा पेपर को आसानी से हल कर सकते है और क्लास टॉप कर सकते है।

कई विद्यार्थी काफी देर तक डेली अध्यन करते है लेकिन उन्हें याद नहीं होता है क्योकि विद्यार्थी का दिमांग किसी और काम में लगा रहता है और काफी देर तक पढाई करने के बावजूद भी उनके पल्ले नहीं पड़ता है इसलिए मन से पढ़ने के लिए इस लेख बताई गयी बाते अपनाये।

घर पर पढ़ाई करने का तरीका।

  1. पढाई के लिए एक जगह चुने : घर में विद्यार्थी को कोई ऐसा जगह चुनना चाहिए जो एकांत हो जहा पर ज्यादा सोर सराबा न हो और उस जगह पढ़ने-लिखने की चीजे ही मौजूद हो वहा Disturbance वाली चीजे न हो पढाई के समय पूरब दिशा की ओर मुँह करके अध्यन करे।
  2. टाइम टेबल बनाये : विद्यार्थी को पढाई के लिए एक निश्चित टाइम टेबल बनाना चाहिए जिसमे आप ये मेंशन करे कौन सा सब्जेक्ट कितना समय पढ़ना है और सारे सब्जेक्ट कितनी देर तक पढ़ना है इसके लिए आपको इसी समय पर हर रोज पढ़ने के लिए बैठ जाना चाहिए बिना किसी के कहे सही समय पर पढाई के लिए बैठे सही समय पर पढाई करके उठे।
  3. ध्यान भटकाने वाली चीजों को दूर रखे : अगर आपके पढाई करने वाली जगह पर कोई ऐसी चीज रखी है जो आपको Disturb करती है तो उसे आप वह से हटा दे अपने मोबाइल को पढाई के दौरान दूर रखे यदि रखते भी है तो उसका इंटरनेट बंद करके उसे सारे नोटिफिकेशन ऑफ कर दे जिससे पढाई में मन लगा रहेगा।
  4. पढाई को बोझ न बनाये : विद्यार्थी पढाई को बोझ न बनाये तो बेहतर होगा बुक से प्रेम करे Discipline में अध्यन करे हर रोज पढाई करने से पढाई का बोझ नहीं रहता है जब बोझ बढ़ता है तो विद्यार्थी को टेंशन भी होने लगता है।
  5. अध्यन के दौरान कुछ खाये पिए न : जब विद्यार्थी पढाई के बैठे तो कुछ खाना पीना नहीं चाहिए उससे पहले विद्यार्थी को खा पीकर फ्रेश होकर बैठना चाहिए जूठे हाथो से किताबो को न छुए पढाई के दौरान चुप चाप बैठकर पढाई करना चाहिए।
  6. नोट तैयार करते रहे : विद्यार्थी को सभी सब्जेक्ट के प्रॉपर नोट तैयार करके रखना चाहिए इससे विद्यार्थी को किसी टॉपिक को याद करने में काफी मदद मिलती है चाहे खुद से पढाई कर रहे हो या क्लास में पढ़ाया जा रहा हो उसका नोट रेडी करके रखे।
  7. हर दिन अच्छी नींद ले : विद्यार्थी को हर दिन नींद पूरी कर लेनी चाहिए बॉडी को आराम मिलता है पढाई में मन लगता है मन शांत रहता है वही नींद पूरी न होने पर विद्यार्थी उलझा रहता है इसलिए विद्यार्थी को हर दिन नींद पूरी करके फिर पढाई करनी चाहिए। ज्यादा नहीं सोना चाहिए 6 – 7 घंटे की नींद पूरी करे।
  8. पढाई करने के लिए सीधे बैठे : जब आप पढाई के लिए बैठे तो सर पैर बार बार न हिलाये इससे विद्यार्थी का मन भटक जाता है पढाई से मन हट जाता है इसलिए सीधे और बिना सर पैर हिलाये विद्यार्थी को बैठना चाहिए।
  9. सुबह पढाई करने की आदत डाले : विद्यार्थी को शाम की पढाई को अवॉयड करके सुबह की पढाई पर फोकस करना चाहिए सुबह स्टूडेंट एकदम फ्रेश रहता है तरो तजगी के साथ पढाई कर सकता है और अधिक देर तक पढाई कर सकता है।
  10. सब्जेक्ट में वीकनेस खोजे : अगर किसी सब्जेक्ट में वीक है वो सब्जेक्ट अधिक समझ नहीं आता है तो विद्यार्थी को उस सब्जेक्ट पर और सब्जेक्ट के मुकाबले उस पर ज्यादा समय देना चाहिए अध्यन रोज करने से सभी सब्जेक्ट आसानी से याद होने लगेंगे और पढाई में मन भी लगने लगेगा।

पढ़ाई करने का सही समय।

हर एक विद्यार्थी के लिए पढाई करने का सही समय अलग अलग हो सकता है लेकिन हर एक विद्यार्थी को मैं बताना चाहूंगा की सुबह जल्दी उठकर पढाई करे तो काफी अच्छा रहता है इससे विषय याद होने के चांस बढ़ जाते है और सुबह पढाई करने में अधिकतर विद्यार्थी का मन भी लागता है सुबह की पढाई देर तक कर सकते है।

कई स्टूडेंट को रात में पढाई करना पसंद है कुछ विद्यार्थी सुबह उठाकर पढाई करना अच्छा समझते है आप सुबह पढाई के टाइम टेबल को बढ़ा दे रात को समय से रोये सुबह जल्दी उठाकर पढाई करे यदि रात में पढाई करने का समय मिल जाता है तो रात में भी पढाई कर सकते है सोर सराबा कम हो जाता है शांत मन से आराम से पढाई कर सकते है।

सुबह पढ़ाई करने के फायदे।

  • सुबह पढ़ने के लिए जब विद्यार्थी जगता है तो वह अपने आपको फ्रेश फील करते है तरो ताजगी रहती है इसलिए वैसे सुबह जल्दी उठने के लिए बोला जाता है।
  • विद्यार्थी को सुबह की पढाई समझ आती है और किसी भी विषय को विद्यार्थी आसानी से याद कर सकता है।
  • अध्यन करने के लिए अधिक समय मिल जाता है इससे विद्यार्थी कई विषय को आसानी से कवर कर सकता है।
  • सुबह विद्यार्थी शांति मन के साथ बैठकर पढाई कर सकता है हल्ला गुल्ला कम रहता है।
  • नई जानकारी को दिमांग सही ढंग से ऑब्जर्व कर सकता है।
  • वातावरण ठंडा रहता है जिससे विद्यार्थी का पढाई में मन लगता है।
  • दिमांग पूरी तरह से सुबह के टाइम फ्रेस रहता है।
  • सुबह उठाकर पढाई करने में बहुत सारी चीजे आसान से समज आ जाती है जो की कई बार दिन में नहीं समज आती है।

पढ़ाई करने की सही दिशा।

अधिकतर विद्यार्थी को यह जानकारी नहीं होती है फिर वो किसी भी दिशा की ओर मुँह करके पढाई करने के लिए बैठ जाता है लेकिन विद्यार्थियों को हमेशा अध्यन के दौरान पूरब दिशा की ओर मुँह करके पढाई करना चाहिए इससे पॉजिटिव एनर्जी मिलती है हर एक विद्यार्थी को पढाई करने के टेबल पूरब दिशा की ओर सेट करना चाहिए जिससे अध्यन के दौरान कुर्शी पर बैठने से विद्यार्थी का मुँह पूरब दिशा की ओर रहे।

पूरब दिशा की ओर मुँह करके पढाई करना अच्छा माना जाता है इसलिए आप अपने कुर्शी और टेबल को कुछ इस प्रकार सेट करे की जब आप पढाई के लिए बैठे तो आपका मुँह पूरब दिशा की ओर रहे ये दिशा पढाई के लिए अच्छा होता है काफी एनर्जेटिक होता है।

पढ़ाई करने से क्या होता है?

यदि आप इस प्रश्न का उत्तर जानने के लिए पहले से प्रयास किये होंगे तो आपको अपने आस पास शिक्षित व्यक्ति और अशिक्षित व्यक्ति में अंतर देखने को मिला होगा बताते चले आज व्यक्ति बिना शिक्षा के आगे नहीं बढ़ सकता है हर एक कार्य के लिए शिक्षा की आवश्यकता होती है जो कामयाब व्यक्ति है उसने पीछे शिक्षा का अहम् रोल रहा है।

अशिक्षित व्यक्ति इस आधुनिक युग में नई तकनिकी या नई चीजों से वंचित रह जाता है बहुत सारे लोगो नयी चीजों की समझ काफी लेट होती है जो कई अवसर गवा देते है अगर आप एक विद्यार्थी है तो आपको मन लगाकर पढाई करना चाहिए। और आगे नयी चीजों के बारे में सोचना समझना चाहिए।

आशा है इस लेख में बताई बातो से आप संतुष्ट होंगे इसमें मैंने आपको बताया की पढ़ाई में मन लगाने का आसान तरीका क्या है. इसके अलावा अध्यन से जुडी कई चीजों पर मैंने विशेष जानकारी देने का प्रयास किया है ऐसी ही जानकारी के लिए हमारे ब्लॉग के नोटिफिकेशन को ऑन करे और पब्लिश होते ही नये ज्ञान का नोटिफिकेशन प्राप्त करे।

इस लेख से जुड़ा आपका कोई प्रश्न हो तो कमेंट सेक्शन में जाये वहा अपना प्रश्न टाइप करे अपना नाम लिखे और उसे सेंड करदे कुछ ही समय में आपको जवाब दिया जायेगा इस आर्टिकल से सीखने को मिला हो सहायता मिला हो तो इसे सोशल मीडिया पर शेयर करे।

Leave a Comment

error: Content is protected !!