निजी बैंक क्या है – निजी बैंक की सूची, निजी बैंक के फायदे

निजी बैंक क्या है, niji-bank-kya-hai

निजी बैंक को लेकर लोगो के मन में कई प्रश्न रहते है। की निजी बैंक क्या है (Private Bank Kya Hai) निजी बैंक की सूची, निजी बैंक के फायदे क्या है, इसके अतिरिक्त कुछ अन्य प्रश्नो को लेकर लेख में चर्चा करेंगे। और इस लेख में जानकारी प्राप्त करेंगे। पूरी जानकारी के लिए लेख को अंतिम तक पढ़े।

वर्तमान समय में भारत में कई प्राइवेट बैंक मौजूद है। प्राइवेट बैंको के बड़ी संख्या में ग्राहक है। काफी ग्राहक का मानना है। सरकारी बैंको से अच्छी सुविधाएं प्राइवेट बैंको के द्वारा ग्राहक को दी जाती है। यही कारण की बड़ी संख्या में खाताधारक प्राइवेट बैंक में खाता खोल रहे है।

अगर आप भी प्राइवेट बैंक में खाता खोलना चाहते है। तो आपको प्राइवेट बैंको के बारे में कुछ जानकारी होनी ज़रूरी है। इसके लिए आपको यह लेख फॉलो करना होगा। इसमें प्राइवेट बैंक से जुड़े कई प्रश्नो के उत्तर बताएँगे।

निजी बैंक क्या है – What is Private Bank in hindi?

Private Bank वो होते है। जिनका सरकार के पास कोई स्वामित्व नहीं होता है। यानि प्राइवेट बैंको का मालिकाना हक़ सरकार के बजाय किसी Individual Person एक व्यक्ति के पास रहता है। प्राइवेट बैंको का जिम्मेदार सरकार नहीं बल्कि आम व्यक्ति होता है।

प्राइवेट बैंको का मालिक कोई एक व्यक्ति होता है। जिसके द्वारा प्राइवेट बैंक को चलाया जाता है। प्राइवेट बैंक का पूरा जिम्मेदारी किसी एक व्यक्ति के पास होता है। प्राइवेट बैंक कोई भी इंडिविजुअल चला सकता है। बस उसके पास उतने पैसे होने चाहिए।

वही सरकारी बैंको की बात करे। तो सरकार की सरकारी बैंको में हिस्सदारी होती है। वही प्राइवेट बैंको में नहीं होता है। इसलिए इन बैंको को निजी बैंक के रूप में जाना जाता है। इन्ही बैंको को निजी बैंक कहते है।

सम्बंधित लेख

निजी बैंक की सूची

  1. एक्सिस बैंक
  2. बंधन बैंक
  3. सीएसबी बैंक
  4. सिटी यूनियन बैंक
  5. डीसीबी बैंक
  6. धनलक्ष्मी बैंक
  7. लक्ष्मी विलास बैंक
  8. फ़ेडरल बैंक
  9. एचडीएफसी बैंक
  10. आईसीआईसीआई बैंक
  11. आईडीबीआई बैंक
  12. आईडीएफसी फर्स्ट बैंक
  13. इंडसइंड बैंक
  14. जम्मू & कश्मीर बैंक
  15. कर्नाटक बैंक
  16. करुर वयस्या बैंक
  17. कोटक महिंद्रा बैंक
  18. नैनीताल बैंक
  19. आरबीएल बैंक
  20. साउथ इंडियन बैंक
  21. तमिलनाड मर्केंटाइल बैंक
  22. यस बैंक

प्राइवेट बैंक में खाता खोलने के फायदे

कभी भी किसी कार्य को आसानी से पूरा कर सकते है। जिस तरह सरकारी बैंको में भीड़ भाड़ होता है। उससे लोग यहाँ निजात पा जाते है। बैंक से जुड़े कामो को कुछ ही मिंटो में प्राइवेट बैंक से पूरा कर सकते है।

प्राइवेट बैंक से आपको किसी प्रकार का लोन आसानी से मिल जाता है। यदि आप किसी प्राइवेट बैंक के पुराने ग्राहक है। तो ज्यादा डॉक्यूमेंट की आवश्यकता भी नहीं होती है। लोन के लिए फॉर्म भर सकते है।

सरकारी बैंको के मुकाबले प्राइवेट बैंक में व्याज दर अधिक मिल जाता है। यदि आपका प्राइवेट बैंक में बचत खाता है। तो इन बैंको से आप अधिक लाभ प्राप्त कर सकते है।

प्राइवेट बैंक हमेशा अपने ग्राहकों को लुभाने के लिए कई प्रकार की नई योजनाए लाता है। जिससे ग्राहक को अच्छी से अच्छी सुविधा बैंक मिल पाता है।

कई प्रकार के प्राइवेट बैंक से इन्शुरन्स सुविधा मिल जाता है। इन बैंको से किसी भी प्रकार का आसानी से इन्शुरन्स करवा सकते है। उसके लिए आपको बैंक इन्शुरन्स फॉर्म भरना पड़ेगा।

कई प्रकार की सरकारी योजनाए भी प्राइवेट सेक्टर बैंक के द्वारा ग्राहकों को दिए जाते है।

प्राइवेट बैंक में आपको कई प्रकार के इन्वेस्टमेंट प्लान भी मिल जाते है। एफडी ले सकते है। अधिक व्याज दर के साथ आरडी करवा सकते है। इसके अलावा स्टॉक मार्किट में म्यूच्यूअल फण्ड में निवेश के लिए डीमैट अकाउंट भी खोल सकते है। साथ ही बैंक के म्यूच्यूअल फण्ड की एसआईपी भी ले सकते है।

यहाँ खाता खोलने के बाद आप एटीएम कार्ड, क्रेडिट कार्ड, चेक बुक, इंटरनेट बैंकिंग, मोबाइल बैंकिंग की सुविधा भी मिल जाती है। जो कई सरकारी बैंको के द्वारा इन सभी सुविधाओं का लाभ नहीं मिल पाता है।

यदि आपको कभी ज़रुरत पड़ती है। बैंक स्टेटमेंट की तो प्राइवेट बैंक से कभी भी अपने अकाउंट का स्टेटमेंट ले सकते है। जिसका कोई चार्ज नहीं लगता है।

पेमेंट करने के लिए कई विकल्प मिल जाते है जैसे RTGS, NEFT, IMPS, इसके अतिरक्त UPI और कई विकल्प मिल जाते है। जिससे ग्राहक आसानी से एक बैंक से दूसरे बैंक में पैसे भेज सकते है।

ऐसे प्राइवेट बैंक के बहुत सारे फायदे है। इन सभी सुविधाओं का लाभ लेने के लिए आपको प्राइवेट बैंक में अकाउंट ओपन करना होगा।

प्राइवेट बैंक से जुड़े प्रश्न और उत्तर

प्राइवेट बैंक कौन कौन सी है?

इस आर्टिकल में ऊपर बताये गए बैंको के नाम ये सारे प्राइवेट सेक्टर बैंक में ही आते है।

प्राइवेट बैंक में अकाउंट क्यों खोलना चाहिए?

आज के इस आधुनिक युग में अधिकतर व्यक्तियों के बैंक अकाउंट ओपन है। खाते में जमा करने के पैसे नहीं है। लेकिन सरकारी बैंक में खाता खुला है। इसी कारण से सरकारी बैंक में काफी भीड़ हो गया है। हर सरकारी में काम करवाने के लिए बड़ी लाइनो में लगकर काम करवाना पड़ता है। वही प्राइवेट बैंक में अभी कोई खास भीड़ नहीं है। कम ग्राहक है। अच्छी सुविधाएं मिलती है। इस लिए आपको भी प्राइवेट में अकाउंट ओपन करना चाहिए।

किस प्राइवेट बैंक में अपना खाता खोले?

ऊपर बताये गए किसी भी प्राइवेट बैंक में अपना खाता खोल सकते है। जो आपके घर के नजदीक हो। उसमे अकाउंट ओपन करके बेहतरीन सुविधाएं प्राइवेट बैंक से आप ले सकते है।

क्या प्राइवेट बैंक में अकाउंट खोलने का प्रोसेस अलग होता है?

ऐसा बिलकुल भी नहीं है। जैसे सरकारी बैंक में अकाउंट ओपन किया जाता है। उसी तरह प्राइवेट बैंक में भी अकाउंट खोले जाते है। अपना सारा दस्तावेज ले जाकर प्राइवेट बैंक में अपना अकाउंट खोल सकते है। इसके लिए पैन कार्ड, आधार कार्ड, पासपोर्ट साइज फोटो, की ज़रुरत होती है। फिर आप अकाउंट खोल सकते है।

क्या प्राइवेट बैंक में मिनिमम बैलेंस की आवश्यकता पड़ती है?

जी हाँ जैसे सरकारी बैंक में अपने अकाउंट में मिनिमम बैलेंस रखने की आवश्यकता पड़ती है। उसी तरह प्राइवेट बैंक में भी मिनिमम बैलेंस मेन्टेन करके रखना पड़ता है। कुछ बैंक में 5000 रूपये मिनिमम बैलेंस की लिमिट होती है। कुछ बैंक में 10000 रूपये मिनिमम बैलेंस की लिमिट होती है। जो ग्राहक को खाते में हमेशा रखना पड़ता है।

क्या प्राइवेट बैंक में पैसा सुरक्षित है?

जी हाँ बिलकुल अधिकतर बड़े व्यापर प्राइवेट बैंक से ही किये जाते है। बड़ी कंपनियों के खाते प्राइवेट में ही होते है। इस लिए सुरक्षित माना जा सकता है। जो बैंक बड़ी कम्पनियो के पैसो को मैनेज करता हो। तो सुरक्षित तो होगा ही। DICGC से अकाउंट का इन्शुरन्स होता है। और आरबीआई के निगरानी में सभी कार्यो को पूरा किया जाता है।

क्या प्राइवेट बैंक से लोन ले सकते है?

जी हाँ बिलकुल आपको कोई भी प्राइवेट बैंक लोन दे सकता है। बस आपके पास ज़रूरी दस्तावेज होने चाहिए। फिर आप चाहे पर्सनल लोन एजुकेशन लोन कॉर्पोरेट लोन या होम लोन ले सकते है। इसके अलावा भी कई लोन योजना है। उसके तहत भी आप लोन ले सकते है।

प्राइवेट बैंक का नाम बताइए

भारत में चल रहे सभी प्राइवेट बैंको की सूचि मैंने ऊपर के लेख में बताया है। उसे देखकर आप प्राइवेट बैंक की जानकारी प्राप्त कर सकते है। आशा करते है इस लेख में दी गयी जानकारी से निजी बैंक क्या है और निजी बैंक की सूची में आने वाले कौन कौन से बैंक है। वो आपको पता चल गया होगा।

यदि इस लेख से जुड़ा आपका कोई भी प्रश्न है। जिसका आप उत्तर जानना चाहते है। उसे आप कमेंट के जरिये से जान सकते है। यह लेख पसंद आया हो इसे सहायता मिला हो। तो इसे सोशल मीडिया पर शेयर करना न भूले। अधिक जानकारी के लिए पहले से पब्लिश दूसरे लेख पढ़ सकते है।

Leave a Comment

error: Content is protected !!