नीट में पास होने के लिए कितने नंबर चाहिए?

हर साल लाखो छात्र नीट परीक्षा में बैठते है हर किसी का एक सपना होता है की हम परीक्षा में अच्छे नंबर प्राप्त करे और परीक्षा उत्तीर्ण करके एक अच्छे कॉलेज में प्रवेश प्राप्त करे लेकिन क्या आपको यह पता है कि नीट में पास होने के लिए कितने नंबर चाहिए, और नीट का पेपर कितने नंबर का होता है. इस प्रकार के सवाल का जवाब अधिकतर छात्रों को नहीं पता होता है।

नीट परीक्षा का आयोजन NTA नेशनल टेस्टिंग एजेंसी के द्वारा कराया जाता है और उसी टेस्ट के आधार पर छात्रों को एमबीबीएस और बीडीएस कॉलेज में प्रवेश पाने का अवसर प्राप्त होता है जिसमे कटऑफ के अनुसार छात्र को न्यूनतम मार्क्स प्राप्त करना आवश्यक है वही न्यूनतम मार्क्स पर छात्रों को अड्मिशन मिलता है।

नीट परीक्षा में हर वर्ष 15 से 16 लाख के करीब छात्र एक सपना लेकर बैठते है लेकिन उन छात्रों में से कुछ ही छात्रों के सपने साकार हो पाते है जो छात्र परीक्षा पास नहीं कर पाते वो अपनी पढाई कंटिन्यू रखते है और अगले साल फिर से परीक्षा में शामिल होते है और फिर से परीक्षा देते है।

यह परीक्षा हर साल आयोजित की जाती है जिसमे हर बार छात्रों की बढ़ोत्तरी होती है छात्र आवेदन करते है और परीक्षा देते है उन्ही में से कई छात्र यह जानना चाहते है की नीट परीक्षा को पास करने के लिए कितने मार्क्स की आवश्यकता होती है तो आइये इस सवाल पर विस्तृत जवाब जानते है।

नीट में पास होने के लिए कितने नंबर चाहिए?

neet me pass hone ke liye kitna number chahiye

नीट की परीक्षा पास करने के लिए कोई निश्चित तय मार्क्स नहीं है की इतना मार्क्स लाने पर पास ही होंगे नीट एग्जाम पास करने के लिए कटऑफ बहुत महत्वपूर्ण होता है जो हर साल बढ़ता है घटता रहता है।

Neet Exam पास करने पर सरकारी और प्राइवेट कॉलेज में प्रवेश मिलता है प्राइवेट कॉलेज में सीट के अनुसार छात्रों का प्रेवश लिया जाता है वही सरकारी कॉलेज में भी है लेकिन सरकारी कॉलेज में प्रवेश लेने का कटऑफ अधिक हो जाता है वही प्राइवेट कॉलेज में सरकारी के मुकाबले कम होता है उसी मार्क्स के आधार पर सरकारी या प्राइवेट कॉलेज नीट उत्तीर्ण छात्रों को एमबीबीएस और बीडीएस में प्रवेस पाने का अवसर देते है।

इस लेख में हम लोग 2020 नीट के कटऑफ को लेकर जानेगे की कितना मार्क्स प्राप्त करने पर छात्र पास हुए है और यह डेटा हमेशा घटता और बढ़ता रहता है।

इसे भी पढ़े,

सरकारी कॉलेज

भारत में कुल 272 सरकारी कॉलेज है जो नीट उत्तीर्ण छात्रों को एमबीबीएस और बीडीएस में प्रवेश मुहैया करवाते है जिनमें कुल 41,388 सीट प्रयाप्त है इन सीटों पर छात्रो को प्रवेश मिलता है लेकिन इन सीटों पर अलग अलग वर्ग के छात्रों के लिए अलग अलग कटऑफ भी होता है जैसे।

सामान्य वर्ग : का कटऑफ 2020 में 600 गया है यानि की जनरल कटेगरी के छात्रों को 600+ अंक लाने पर सरकारी कॉलेज में प्रवेश मिल सकता है।

ओबीसी वर्ग : का कटऑफ 575 गया है अगर उमीदवार ओबीसी वर्ग से आता है तो उसे सरकारी कॉलेज में प्रवेश पाने के लिए 575+ अंक प्राप्त करने होंगे।

एससी वर्ग : इस वर्ग के उमीदवार को 2020 में 480+ अंक हासिल करने पर एक सरकारी कॉलेज में प्रवेश मिल सकता है।

एसटी वर्ग : के उमीदवार को 2020 में 475+ अंक पर सरकारी कॉलेज प्राप्त हो सकता है।

प्राइवेट कॉलेज

यही भारत में कुल 260 प्राइवेट कॉलेज है जिनमे नीट उत्तीर्ण छात्रों को प्रवेश दिया जाता है जिनमे कुल 35,530 सीट है इन सीटों पर नीट परीक्षा उत्तीर्ण छात्रों को प्रवेश मिलता है आइये जानते कितना अंक प्राप्त करना होगा प्रवेश पाने के लिए।

सामान्य वर्ग : का कटऑफ 2020 में प्राइवेट कॉलेज के लिए 550 रहा है जिन छात्रों का 550+ मार्क्स आया उनके लिए प्राइवेट कॉलेज का दरवाजा खुल गया और प्रवेश मिल सकता है।

ओबीसी वर्ग : यही उमीदवार ओबीसी वर्ग से आता है उसे प्राइवेट कॉलेज में प्रवेश लेने के लिए 510+ मार्क्स हासिल करने पड़ेंगे तब जाके प्राइवेट कॉलेज में प्रवेश मिल सकता है।

एससी वर्ग : यदि एसटी वर्ग के उमीदवार के मार्क्स की बात करे तो उसे 2020 में 470+ मार्क्स लाने पड़े है जो छात्र इतना मार्क्स ले आयेगे उन्हें एक प्राइवेट कॉलेज में प्रवेश मिलने का अवसर मिल जायेगा।

एसटी वर्ग : इस वर्ग के उमीदवार को प्राइवेट कॉलेज में प्रवेश लेने के 450+ मार्क्स लाने पड़ेंगे जिन छात्र का 450+ मार्क आये और एसटी वर्ग से बिलोग करते है उन्हें प्राइवेट कॉलेज में अड्मिशन मिल सकता है।

इस प्रकार से 2020 के रिजल्ट आये है इस प्रकार से छात्रों का चुनाव होता है इसे पढ़कर एक आईडिया लगा सकते है कितना मार्क प्राप्त करना होगा नीट परीक्षा पास करने के लिए।

कई बार इतने अंक प्राप्त करने के बावजूद भी प्रवेश नहीं मिल पाता है क्योकि प्रवेश पाने के लिए कटऑफ के साथ केटेगरी और स्टेट यानि राज्य की इम्पोर्टेंस होती है ऐसा नहीं है जिसका ज्यादा नंबर आया है उसे प्रवेस मिल जायेगा कई कुछ ऐसे छात्रों प्रवेश मिल जाता है जिनका नंबर काफी कम होता है क्योकि एससी और एसटी वर्ग के छात्रों को छूट मिल जाती है जिसे रिज़र्वरेशन कहते है।

नीट परीक्षा पास होने में स्टेट और वर्ग के आधार कटऑफ बनता है और उसी से छात्रों का चयन होता है।

नीट का पेपर कितने नंबर का होता है?

अब प्रश्न आता है की नीट परीक्षा कितने नंबर का होता है, तो मैं आपको बता दू नीट एग्जाम पुरे 720 नंबर का होता है जिसमे 180 प्रश्न पूछे जाते है प्रत्येक प्रश्न चार नंबर का होता है यदि आपका एक प्रश्न सही है तो चार नंबर आपके जुड़ जायेंगे वही परीक्षा में एक प्रश्न गलत होने एक नंबर कट जायेंगे।

नीट एग्जाम में ये विषय शामिल होते है।

विषयप्रश्नअंक
बायोलॉजी90360
फिजिक्स45180
केमिस्ट्री45180
कुल 180 720

नीट एग्जाम में बैठने का समय 3 घंटा होता है इसी समय अंतराल में पुरे प्रश्न को हल करना होता है यदि भाषा की बात करे तो यह एग्जाम पेपर हिंदी और इंग्लिश में मिल जाता है इसके अलावा भी कई भाषा है जिन भाषा में एग्जाम करवाए जाते है।

निष्कर्ष

मुझे आशा है की आपके द्वारा खोजा जा प्रश्न नीट में पास होने के लिए कितने नंबर चाहिए? इसका उत्तर आपको मिल गया होगा मैं उम्मीद करता हु की आपको यह लेख पसंद आया होगा यदि इस लेख से जुड़े आपके कोई सवाल है तो उझसे पूछने के लिए निचे कमेंट बॉक्स ओपन उसका सहारा लेकर प्रश्न पूछ सकते है उसका जवाब उसी माध्यम से दे दिया जायेगा।

यह लेख पढ़कर अच्छा हो आपके प्रश्न का उत्तर मिला हो तो अपने दोस्तों के साथ शेयर करना भूले ताकि ऐसे यूज़फूल जानकारी उन्हें भी मिल पाए यदि इस लेख से सम्बंधित कोई सुझाव है तो वो भी मुझे बता सकते है।

2 Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!