नीट में पास होने के लिए कितने नंबर चाहिए?

हर साल लाखो छात्र नीट परीक्षा में बैठते है हर किसी का एक सपना होता है की हम परीक्षा में अच्छे नंबर प्राप्त करे और परीक्षा उत्तीर्ण करके एक अच्छे कॉलेज में प्रवेश प्राप्त करे लेकिन क्या आपको यह पता है कि नीट में पास होने के लिए कितने नंबर चाहिए? और नीट का पेपर कितने नंबर का होता है. इस प्रकार के सवाल का जवाब अधिकतर छात्रों को नहीं पता होता है।

नीट परीक्षा का आयोजन NTA नेशनल टेस्टिंग एजेंसी के द्वारा कराया जाता है और उसी टेस्ट के आधार पर छात्रों को एमबीबीएस और बीडीएस कॉलेज में प्रवेश पाने का अवसर प्राप्त होता है जिसमे कटऑफ के अनुसार छात्र को न्यूनतम मार्क्स प्राप्त करना आवश्यक है वही न्यूनतम मार्क्स पर छात्रों को अड्मिशन मिलता है।

नीट परीक्षा में हर वर्ष 15 से 16 लाख के करीब छात्र एक सपना लेकर बैठते है लेकिन उन छात्रों में से कुछ ही छात्रों के सपने साकार हो पाते है जो छात्र परीक्षा पास नहीं कर पाते वो अपनी पढाई कंटिन्यू रखते है और अगले साल फिर से परीक्षा में शामिल होते है और फिर से परीक्षा देते है।

यह परीक्षा हर साल आयोजित की जाती है जिसमे हर बार छात्रों की बढ़ोत्तरी होती है छात्र आवेदन करते है और परीक्षा देते है उन्ही में से कई छात्र यह जानना चाहते है की नीट परीक्षा को पास करने के लिए कितने मार्क्स की आवश्यकता होती है या नीट में कितने परसेंट चाहिए, तो आइये इस सवाल पर विस्तृत जानकारी प्राप्त करते है।

नीट में पास होने के लिए कितने नंबर चाहिए?

neet me pass hone ke liye kitna number chahiye

नीट की परीक्षा पास करने के लिए कोई निश्चित तय मार्क्स नहीं है की इतना मार्क्स लाने पर पास ही होंगे नीट एग्जाम पास करने के लिए कटऑफ बहुत महत्वपूर्ण होता है इसी बेसिस पर छात्र नीट का एग्जाम पास करते है जो हर साल बढ़ता है घटता रहता है।

Neet Exam पास करने पर सरकारी और प्राइवेट कॉलेज में प्रवेश मिलता है प्राइवेट कॉलेज में सीट के अनुसार छात्रों का प्रेवश लिया जाता है वही सरकारी कॉलेज में भी सीट के मुताबिक प्रवेश मिलता है लेकिन सरकारी कॉलेज में प्रवेश लेने का कटऑफ अधिक हो जाता है वही प्राइवेट कॉलेज में सरकारी के मुकाबले कम होता है।

उसी मार्क्स के आधार पर सरकारी या प्राइवेट कॉलेज में नीट उत्तीर्ण छात्रों को एमबीबीएस और बीडीएस में प्रवेश पाने का अवसर मिलता है उसके बाद एमबीबीएस या बीडीएस कोर्स की पढाई पूरी करनी होती है कोर्स पूरा होते ही एक डॉक्टर की डिग्री प्राप्त हो जाती है।

इस लेख में हम लोग 2020 में हुए नीट परीक्षा के कटऑफ को लेकर जानेगे की कितना मार्क्स प्राप्त करने पर छात्र पास हुए है और यह डेटा हमेशा घटता और बढ़ता रहता है इससे आपको आने वाले एग्जाम के बारे में एक आईडिया लग जायेगा की कितना मार्क लाने पर नीट की परीक्षा पास कर सकते है।

इसे भी पढ़े,

सरकारी कॉलेज

भारत में कुल 272 सरकारी कॉलेज है जो नीट उत्तीर्ण छात्रों को एमबीबीएस और बीडीएस में प्रवेश मुहैया करवाते है जिनमें कुल 41,388 सीट प्रयाप्त है इन सीटों पर छात्रो को प्रवेश मिलता है लेकिन इन सीटों पर अलग अलग वर्ग के छात्रों के लिए अलग अलग कटऑफ भी तय होते है जैसे।

सामान्य वर्ग : का कटऑफ 2020 में 600 गया है यानि की जनरल कटेगरी के छात्रों को 600+ अंक लाने पर सरकारी कॉलेज में प्रवेश मिल सकता है।

ओबीसी वर्ग : का कटऑफ 575 गया है अगर उमीदवार ओबीसी वर्ग से आता है तो उसे सरकारी कॉलेज में प्रवेश पाने के लिए 575+ अंक प्राप्त करने होंगे।

एससी वर्ग : इस वर्ग के उमीदवार को 2020 में 480+ अंक हासिल करने पर एक सरकारी कॉलेज में प्रवेश मिल सकता है।

एसटी वर्ग : के उमीदवार को 2020 में 475+ अंक पर सरकारी कॉलेज प्राप्त हो सकता है।

प्राइवेट कॉलेज

प्राइवेट कॉलेज की बात करे तो यही भारत में कुल 260 एमबीबीएस प्राइवेट कॉलेज है जिनमे नीट उत्तीर्ण छात्रों को प्रवेश दिया जाता है जिनमे कुल 35,530 सीट है इन सीटों पर नीट परीक्षा उत्तीर्ण छात्रों को प्रवेश मिलता है आइये जानते कितना अंक प्राप्त करना होगा प्रवेश पाने के लिए।

सामान्य वर्ग : का कटऑफ 2020 में प्राइवेट कॉलेज के लिए 550 रहा है जिन छात्रों का 550+ मार्क्स आया उनके लिए प्राइवेट कॉलेज का दरवाजा खुल गया और प्रवेश मिल सकता है लेकिन इतने नंबर तक खाली सामान्य वर्ग के छात्र ही प्रवेश प्राप्त कर सकते है।

ओबीसी वर्ग : यही उमीदवार ओबीसी वर्ग से आता है उसे प्राइवेट कॉलेज में प्रवेश लेने के लिए 510+ मार्क्स हासिल करने पड़ेंगे तब जाके प्राइवेट कॉलेज में प्रवेश मिल सकता है।

एससी वर्ग : यदि एसटी वर्ग के उमीदवार के मार्क्स की बात करे तो उसे 2020 में 470+ मार्क्स लाने पड़े है जो छात्र इतना मार्क्स ले आयेगे उन्हें एक प्राइवेट कॉलेज में प्रवेश मिलने का अवसर मिल जायेगा।

एसटी वर्ग : इस वर्ग के उमीदवार को प्राइवेट कॉलेज में प्रवेश लेने के 450+ मार्क्स लाने पड़ेंगे जिन छात्र का 450+ मार्क आये और एसटी वर्ग से बिलोग करते है उन्हें प्राइवेट कॉलेज में अड्मिशन मिल सकता है।

इस प्रकार से 2020 के रिजल्ट आये है इस प्रकार से छात्रों का चुनाव होता है इसे पढ़कर एक आईडिया लगा सकते है कितना मार्क प्राप्त करना होगा नीट परीक्षा पास करने के लिए।

कई बार इतने अंक प्राप्त करने के बावजूद भी प्रवेश नहीं मिल पाता है क्योकि प्रवेश पाने के लिए कटऑफ के साथ केटेगरी और स्टेट यानि राज्य की इम्पोर्टेंस होती है ऐसा नहीं है जिसका ज्यादा नंबर आया है उसे प्रवेस मिल जायेगा कई बार कुछ ऐसे छात्रों प्रवेश मिल जाता है जिनका नंबर काफी कम होता है क्योकि एससी और एसटी वर्ग के छात्रों को छूट मिल जाती है जिसे रिज़र्वरेशन कहते है।

नीट परीक्षा में पास होने में स्टेट और वर्ग के आधार कटऑफ बनता है और उसी से छात्रों का चयन होता है आप यह न सोचे अधिक नंबर प्राप्त करना पड़ेगा नीट परीक्षा उत्तीर्ण करने के लिए, लेकिन ऐसा बिलकुल भी नहीं है अपने राज्य और केटेगरी के हिसाब से तैयारी करे और उतने नंबर प्राप्त करने का प्रयास करे।

नीट का पेपर कितने नंबर का होता है?

अब प्रश्न आता है की नीट परीक्षा कितने नंबर का होता है, तो मैं आपको बता दू नीट एग्जाम पुरे 720 नंबर का होता है जिसमे 180 प्रश्न पूछे जाते है प्रत्येक प्रश्न चार नंबर का होता है यदि आपका एक प्रश्न सही है तो चार नंबर आपके जुड़ जायेंगे वही परीक्षा में एक प्रश्न गलत होने पर एक नंबर कट जायेंगे।

नीट एग्जाम में ये विषय शामिल होते है।

विषयप्रश्नअंक
बायोलॉजी90360
फिजिक्स45180
केमिस्ट्री45180
कुल 180 720

नीट एग्जाम में बैठने का समय 3 घंटा होता है इसी समय अंतराल में पुरे प्रश्न को हल करना होता है यदि भाषा की बात करे तो यह एग्जाम पेपर हिंदी और इंग्लिश में मिल जाता है इसके अलावा भी कई भाषा में एग्जाम पेपर मिल जाता है जिन भाषा में एग्जाम करवाए जाते है।

नीट परीक्षा के लिए शैक्षणिक योग्यता।

अधिकतर छात्र के मन में यह सवाल होता है कि नीट परीक्षा में शामिल होने के लिए क्या योग्यता होनी चाहिए तो मैं आपको बता दू यदि आप किसी भी बोर्ड से 12th साइंस साइट से उत्तीर्ण है तो आप नीट की परीक्षा में बैठ सकते है।

यदि आप अच्छे मार्क से नीट परीक्षा उत्तीर्ण कर पाते है तो उसके बाद आपको एमबीबीएस कोर्स की पढाई करने का मौका मिल जाता है यह बहुत सारे स्टूडेंट के सपने होते है की एमबीबीएस या बीडीएस की पढाई करे और एक अच्छे डॉक्टर बने।

नीट में सिलेक्शन के लिए कितने मार्क्स चाहिए?

मैं ऊपर के लेख में भी बता चूका हूँ की नीट एग्जाम में पास होने के लिए कोई निश्चित मार्क्स नहीं लाने होते है ये हर साल बढ़ता घटता रहा है ये कटऑफ के ऊपर निर्भर करता है सभी केटेगरी और स्टेट वाइज रिजल्ट आउट होता है रिजल्ट आउट होने के बाद ही पता किया जा सकता है कितने मार्क पर सिलेक्शन होगा कितने पर नहीं होगा।

बहुत सारे स्टूडेंट के मन ये प्रश्न रहता होगा की नीट एग्जाम का जो पासिंग मार्क है वो पहले से तय करके रखा गया होगा हर बार नए रिकॉर्ड के साथ रिजल्ट आउट होता है जिसका नंबर कटऑफ में अंदर आ जाता है वो एग्जाम में पास हो जाता है फिर उसे किसी अच्छे कॉलेज में प्रवेश मिलने का मौका मिल जाता है।

नीट पास होने के बाद क्या होता है?

स्टूडेंट के मन में कई प्रश्न आते रहते है जैसे नीट एग्जाम पास करने के बाद क्या करना होता है तो मैं आपको बता दूँ नीट एक एंट्रेंस एग्जाम है जोकि इस टेस्ट को पास करने के बाद एमबीबीएस बीडीएस जैसे कोर्स में एडमिशन मिलता है इन कोर्सो में प्रवेश पाने के लिए ही नीट टेस्ट दिया जाता है इसे जो स्टूडेंट पास कर लेते है उन्हें किसी अच्छे सरकारी कॉलेज या प्राइवेट कॉलेज में प्रवेश मिलता है।

नीट एग्जाम पास करने के बाद स्टूडेंट के मार्क के अनुसार कॉलेज मिलता है फिर जिस कोर्स के लिए स्टूडेंट नीट एग्जाम पास करता है उस कोर्स की पढाई के लिए एडमिशन मिलता है और पढाई करनी होती है पढाई पूरी करने के बाद स्टूडेंट को डिग्री प्राप्त होता है फिर स्टूडेंट डॉक्टर बन जाता है।

डॉक्टर बनने में कितना पैसा लगेगा?

जैसा की आपको भी पता है की नीट एग्जाम पास करने के बाद डॉक्टर बनने के लिए पढाई की जाती है लेकिन आपको ये नहीं पता होगा की डॉक्टर बनने के लिए कितना खर्चा आयेगा इसकी जानकारी मैं आपको देता है जब स्टूडेंट के द्वारा नीट की परीक्षा पास की जाती है फिर स्टूडेंट के नंबर के अनुसार पता चलता है की सरकारी कॉलेज में प्रवेश मिलेगा या प्राइवेट कॉलेज में प्रवेश मिलेगा यहाँ फीस में अंतर होता है सरकारी और प्राइवेट कॉलेज के बीच।

सरकारी मेडिकल कॉलेज की फीस काफी कम होती है प्राइवेट कॉलेज के मुकाबले। देश के सबसे बड़े सरकारी मेडिकल कॉलेज की बात करे तो एमबीबीएस कोर्स की कुल फीस 7330 रूपये है सरकारी मेडिकल कॉलेज में एमबीबीएस कोर्स को आप 5 लाख के अंदर तक में कर सकते है इससे भी कम हो सकता है वही प्राइवेट कॉलेज में 30 से 40 लाख रूपये के बीच लग जाता है इससे अधिक भी लग सकता है अब आप फीस के बारे में एक आईडिया लगा सकते है।

FAQs

क्या नीट परीक्षा पास करने के बाद भी डॉक्टर बनने के लिए पढाई करनी पड़ती है?

जी हाँ दोस्तों यदि आप नीट परीक्षा अच्छे नंबर से पास कर लेते है तो आपको किसी अच्छे मेडिकल कॉलेज में प्रवेश का मौका मिलेगा उसके बाद आपको कोर्स पूरा करने के लिए पढाई करना होगा पढाई के साथ साथ मेडिकल कॉलेज में छात्रों को सीनियर डॉक्टर के साथ ट्रेनिंग भी दी जाती है।

क्या मेडिकल कॉलेज में नीट परीक्षा पास करने के बाद भी फीस लगता है?

दोस्तों इस प्रश्न का उत्तर हाँ है अगर किसी सरकारी कॉलेज या प्राइवेट कॉलेज में प्रवेश पा जाते है तो एमबीबीएस या बीडीएस कोर्स की बहुत ही कम फीस लगती है वही डायरेक्ट एडमिशन लेने पर अधिक फीस लगता है।

क्या नीट परीक्षा में बैठने का मौका एक ही बार मिलता है?

तो इस सवाल का जवाब नहीं है दोस्तों कई बार नीट की परीक्षा दे सकते है इसके लिए अभी तक कोई लिमिटेशन नहीं है।

क्या नीट परीक्षा में माइनस मार्किंग भी होता है?

जी हाँ दोस्तों अगर आप इसके बारे नहीं जाते है मैं आपको बता दू नीट परीक्षा में माइनस मार्किंग भी होता है इसका मतलब यह हुआ की अगर आपके कुछ सवाल गलत होते है तो सही सवाल के जो नंबर जुड़ते है उसमे से आपके नंबर कट जाते है यदि आपका 1 सवाल गलत हो जाता है तो आपका 1 नंबर कट जाता है।

नीट का फॉर्म कब भरा जाता है?

इसका कोई फिक्स्ड डेट नहीं होता है ये हर साल आगे पीछे हुआ करता है नीट एग्जाम का फॉर्म NTA यानि नेशनल टेस्ट एजेंसी के द्वारा निर्धारित किया जाता है फिर वही अपने मुताबिक नीट एग्जाम के डेट का निर्धारण करती है लेकिन एक डेटा के मुताबिक मई से जुलाई के बीच फॉर्म अप्लाई करने का फैसला किया जाता है।


नीट का पेपर कैसा होता है?

यदि आप पहली बार नीट एग्जाम में बैठ रहे है तो आपके मन ये सवाल ज़रूर होगा की नीट एग्जाम में किस तरह के प्रश्न पूछे जाते है तो मैं आपको बता दू नीट Competitive exam में सारे Optional (वैकल्पिक) प्रश्न पूछे जाते है जिसमे एक प्रश्न के चार विकल्प होते है उसमे से आपको सही विकल्प बताना होता है।

नीट का पेपर हिंदी में होता है या इंग्लिश में.

अक्सर यूपी बोर्ड वाले छात्रों के या किसी अन्य बोर्ड से पास छात्रों के मन में यह प्रश्न रहता है की हमे इंग्लिश कम आता है या नहीं आता है तो हम नीट एग्जाम नहीं दे सकते है तो मैं आपको बताना चाहता हूँ ऐसा बिलकुल भी नहीं है कई रीज़नल लैंग्वेज में भी नीट एग्जाम करवाता है जैसे हिंदी, इंग्लिश, तेलगु, मराठी, गुजरती, तमिल, बंगाली, कन्नड़, ओडिशा, उर्दू, असमिया, भाषा में नीट का एग्जाम दे सकते है।

नीट की तैयारी के लिए कौन सी बुक पढ़े?

अक्सर इंटरनेट पर यह प्रश्न पूछा जाता है नीट की पढाई के लिए बेस्ट बुक कौन सी है इसका उत्तर यह है की कई लेखक की नीट एग्जाम तैयारी के लिए मार्किट में बुक मौजूद है हर लेखक की अपनी जानकारी अपने कांसेप्ट से विषय को समझाया जाता है इस लिए आपको मार्किट में बुक को देखकर समझ खरीदना चाहिए ताकि आपको पढने में आसानी हो।

नीट में पास होने के लिए कितने नंबर चाहिए 2021?

इसका उत्तर पहले से ही इंटरनेट पर खोजा जा रहा है नीट में कितने परसेंट चाहिए या नीट में कितने नंबर से पास हो सकते है इसका सटीक जवाब रिजल्ट से पहले किसी के पास नहीं होता है जैसे रिजल्ट प्रकाशित होता है फिर पता चलता है की कितने नंबर प्राप्त करने वाले छात्र पास होंगे क्योकि इसका खेल पूरा कटऑफ का होता है कभी कभी कम नंबर लाने वाले छात्र पास हो जाते है और ज्यादा नंबर लाने वाले छात्र फेल हो जाते है इसकी पूर्ण जानकारी मैंने आर्टिकल बताई है।

निष्कर्ष

मुझे आशा है की आपके द्वारा खोजा जा प्रश्न नीट में पास होने के लिए कितने नंबर चाहिए? इसका उत्तर आपको मिल गया होगा मैं उम्मीद करता हु की आपको यह लेख पसंद आया होगा यदि इस लेख से जुड़े आपके कोई सवाल है तो उसे पूछने के लिए निचे कमेंट बॉक्स ओपन है उसका सहारा लेकर प्रश्न पूछ सकते है उसका जवाब उसी माध्यम से दे दिया जायेगा।

यह लेख पढ़कर अच्छा लगा हो आपके प्रश्न का उत्तर मिला हो तो अपने दोस्तों के साथ शेयर करना न भूले ताकि ऐसी यूज़फूल जानकारी उन्हें भी मिल पाए यदि इस लेख से सम्बंधित कोई सुझाव है तो वो भी मुझे बता सकते है कमेंट के जरिये अपने राय को भी प्रकट करे।

यदि आप ऐसी जानकारी जानने में दिलचस्पी रखते है या शेयर मार्केट में पैसे कैसे कमाए? इसके बारे जानकारी चाहते है तो इस लेख को पढ़ सकते है इसके अलावा भी मैंने इस ब्लॉग पर यूज़फुल कंटेंट पब्लिश कर रख्खा है जिसे आप पढ़कर जानकारी प्राप्त कर सकते है।

46 thoughts on “नीट में पास होने के लिए कितने नंबर चाहिए?”

  1. मेरी आयु 28+ हो गई है,और मेरी इच्छा है कि मैं नीट की परीक्षा दूं।क्या मैं अपने अधूरे सपने को साकार कर सकता हू? सूझाव दे।

    Reply
  2. Sir main SC caste se hu aur main neet exam dena chahta hu, to mujhe kitne marks chahiye neet exam clear krne k liye. sir please reply me.

    Reply
    • अमन जी ये पहले से पता नहीं होता है ये सारी चीजे cutoff के ऊपर डिपेंड करती है..

      Reply
  3. Sir, NEET Ka Pepar Kaisa Rahata Hai.
    Aur Wo Konse Basic Pe Rahenga. Aur NEET Exam Pepar ki Tayyari Kaise Kare.

    Reply
    • neet exam ki taiyari ke liye bahut saare writer ki books aati hai ye aap par depend karta hai ki aapko koun se writer ki book samjhne me asani hoti hai
      jaise
      physics ke liye
      1. Concepts of Physics by H. C. Verma
      2. Objective Physics By DC Pandey
      chemistry ke liye
      1. Concise Inorganic Chemistry by JD Lee
      2. Dinesh Chemistry Guide
      Biology ke liye
      1. Objective Biology by Dinesh
      2. Objective Botany by Ansari

      Reply
    • neet exam ki taiyari ke liye bahut saare writer ki books aati hai ye aap par depend karta hai ki aapko koun se writer ki book samjhne me asani hoti hai
      jaise
      physics ke liye
      1. Concepts of Physics by H. C. Verma
      2. Objective Physics By DC Pandey
      chemistry ke liye
      1. Concise Inorganic Chemistry by JD Lee
      2. Dinesh Chemistry Guide
      Biology ke liye
      1. Objective Biology by Dinesh
      2. Objective Botany by Ansari

      Reply
  4. Samnay kote se freedom fighter kote me 2018/2019/2020 me cutoff kya raha please bataye mp ke medical College me

    Reply
  5. सर आप से एक जानकारी चाहिए सर नीट की कोई अच्छी सी बुक का नाम बताइये जो हिंदी मीडियम का हो और कोई अच्छा लेखक का नाम जो बेस्ट हो सर आप से गुजारिस है सर please प्लीज सर

    Reply
    • neet exam ki taiyari ke liye bahut saare writer ki books aati hai. ye aap par depend karta hai ki aapko koun se writer ki book samjhne me asani hoti hai.
      jaise
      physics ke liye
      1. Concepts of Physics by H. C. Verma
      2. Objective Physics By DC Pandey
      chemistry ke liye
      1. Concise Inorganic Chemistry by JD Lee
      2. Dinesh Chemistry Guide
      Biology ke liye
      1. Objective Biology by Dinesh
      2. Objective Botany by Ansari

      Reply
    • अर्श जी ये कटऑफ के ऊपर निर्भर करता है जितना अधिक कटऑफ जायेगा उतना अधिक मार्क्स नंबर लाने पडेंगे।

      Reply
  6. 𝐒𝐢𝐫 𝐦𝐞 𝐛𝐬𝐜 𝐟𝐢𝐫𝐬𝐭 𝐲𝐞𝐚𝐫 𝐤𝐚 𝐬𝐭𝐮𝐝𝐞𝐧𝐭 𝐡𝐮 𝐨𝐫 𝐦𝐞 𝐜𝐡𝐚𝐭𝐚 𝐡𝐮 𝐤𝐢 𝐛 𝐩𝐡𝐚𝐫𝐦𝐚 𝐠𝐨𝐯𝐞𝐫𝐧𝐦𝐞𝐧𝐭 𝐜𝐨𝐥𝐥𝐞𝐠𝐞 𝐬𝐞 𝐤𝐫𝐮 𝐬𝐢𝐫 𝐛𝐭𝐚𝐨 𝐦𝐞 𝐤𝐲𝐚 𝐤𝐚𝐫𝐮 𝐤𝐨𝐧𝐬𝐚 𝐞𝐱𝐚𝐦𝐞 𝐝𝐮

    Reply
  7. लेख बहुत ही अच्छा और जानकारीप्रद है, आपके गहन लेखकीय व्यक्तित्व को देखकर आपके समक्ष यह सवाल रखने की इच्छा हो रही है, और वह सवाल यह है कि विभिन्न कारणों से योग्य उम्मीदवारों का चयन नहीं हो पाना क्या संसाधन की अनुपलब्धता नही है, एवं कई बार प्राइवेट कालेज के स्तर पर किसी विद्यार्थी का कट आफ आ जाने के बाद भी आर्थिक अभाव के कारण भी विद्यार्थी का प्रवेश से वंचित हो जाना भी क्या एक बड़ी विडम्बना नही है, क्या इस दिशा मे कुछ पहल नही हो सकता जिससे अभावों की कुछ भरपाई हो सके, मसलन प्राइवेट स्कूलों मे निर्धन छात्रों को आरटीई के तहत प्रवेश की तर्ज पर क्या प्राइवेट मेडिकल कालेजों के लिए भी कुछ ऐसा नियम नही बनाया जा सकता,
    निवेदन है कि ये सवाल और समाधान अगर सार्थक प्रतीत हो तो इस पर भी लेख जरुर लिखिएगा

    Reply

Leave a Comment

error: Content is protected !!