मोटरसाइकिल और कार का इंश्योरेंस कैसे चेक करें?

वाहन चालक हमेशा इन्शुरन्स को लेकर चिंतित रहते है। और रहना भी चाहिए सभी इंजन वाले वाहन का इन्शुरन्स होना अनिवार्य है। लेकिन वाहन का इन्शुरन्स है। की नहीं है यह चेक करने में अक्सर लोगो को कठिनाई आती है। इसलिए मैं इस लेख में मोटरसाइकिल और कार का इंश्योरेंस कैसे चेक करें, बीमा कैसे चेक करे इस विषय पर चर्चा करेंगे।

इन्शुरन्स चेक करने में अधितर लोगो को कठिनाई आती है। जिसके लिए वह इंटरनेट पर बीमा चेक करने वाला ऐप्स खोजते है। इस लेख में हम Insurance Check karne ka apps और insurance check karne ka website बताएँगे। इसके लिए लेख को अंतिम तक पढ़े।

वाहन का बीमा सिर्फ इसलिए करवाना ज़रूरी नहीं है। की हादसे या नुकसान को इन्शुरन्स कवर करेंगा। बल्कि इन्शुरन्स चालक को कई परेशानियों से बचाता है। बिना इन्शुरन्स के वाहन पड़के जाने पर जुर्माना और जेल तक भी हो सकता है।

नियमानुसार सभी इंजन वाली व्हीकल का इन्शुरन्स करवाना अनिवार्य है। इन्शुरन्स एक सिमित समय के लिए करवाया जाता है। उसके बाद वैलिडिटी समाप्त हो जाता है। फिर वाहन मालिक को दुबारा से इन्शुरन्स करवाने की आवश्यकता होती है। इसलिए समय समय पर इन्शुरन्स चेक करना भी ज़रूरी है।

मोटरसाइकिल और कार का इंश्योरेंस कैसे चेक करें?

motercycle-ka-insurance-kaise-check-kare

सभी प्रकार के इंजन वाहन का इन्शुरन्स वैलिडिटी जाँच करना काफी ज़रूरी है। क्योकि कई वाहन के बीमा की वैलिडिटी ख़त्म हो जाती है। और वाहन मालिक को इसकी जानकारी नहीं होती है। फिर पकडे जाने पर उन्हें जुर्माना देना पड़ता है। इसलिए अपने वाहन का समय पर वैलिडिटी चेक करके वाहन का बीमा रिन्यूअल करवा ले।

वाहन का बीमा चेक करना काफी सिम्पल है। और इसे चेक करने के कई तरीके है। इसके लिए आप bima check karne wala app का भी यूज़ कर सकते है। साथ ही वाहन पोर्टल की सहायता से भी आप ऑनलाइन घर बैठे बीमा चेक कर सकते है। इसके लिए वाहन का रजिस्ट्रेशन नंबर पता होना चाहिए।

किसी भी वाहन का ऑनलाइन आप बीमा चेक कर सकते है। चाहे वो स्कूटर हो, कार हो, बाइक हो, ट्रक या ट्रेक्टर हो, या कोई अन्य वाहन हो ऑनलाइन और ऑफलाइन दोनों माध्यमों से आप बीमा चेक कर सकते है। इसके लिए आपको वाहन का नंबर या रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर पता होना चाहिए।

ऑनलाइन वाहन का बीमा चेक करने के लिए आपके पास दो विकल्प है। चाहे तो आप बीमा चेक करने वाले अप्प का आप इस्तेमाल कर सकते है। नहीं तो आप बीमा चेक करने की वेबसाइट का इस्तेमाल करके इन्शुरन्स चेक कर सकते है।

इन्शुरन्स की वैलिडिटी चेक करने के लिए आपको वाहन का नंबर साथ ही लिखकर चेक करना होगा। उसमे आपको किसी भी का चिन्ह या स्पेस देने की आवश्यकता नहीं है। उदाहरण के लिए UP 70 AR 1111 इस तरह का नंबर है। लेकिन इन्शुरन्स चेक करने के लिए आपको UP70AR1111 इस तरह नंबर लिखकर बीमा चेक करना है।

अन्य लेख

बीमा कैसे चेक करें?

बीमा चेक करने के लिए मैं Online और Offline दोनों माध्यमों को आपके साथ करने वाला हूँ। दोनों तरीको से आप बड़ी आसानी से बीमा वैलिडिटी चेक कर सकते है। इसके लिए आप इन App और Portal इस्तेमाल कर सकते है।

बीमा चेक करने वाला एप्प

mParivahan App काफी पॉपुलर मोबाइल एप्लीकेशन है। इस मोबाइल अप्प की मदद से आप Insurance Validity के साथ कई अन्य ज़रूरी इनफार्मेशन व्हीकल से जुडी निकाल सकते है। इस मोबाइल अप्प को आप प्ले स्टोर से फ्री में डाउनलोड कर सकते है। फिर अपनी निजी जानकारी से आप इस एप्प में रजिस्टर्ड कर लेंगे। फिर इन सभी सर्विस का बेनिफिट ले पाएंगे। जैसे-

  • ओनर का नाम
  • रजिस्ट्रेशन डेट
  • रजिस्टरिंग अथॉरिटी
  • फ्यूल टाइप
  • फिटनेस वैलिडिटी
  • इन्शुरन्स वैलिडिटी
  • व्हीकल क्लास
  • अन्य 

इसके अलावा Rc Information और DL Information भी निकाल सकते है साथ ही यहा से वाहन का चालान भी चेक कर सकते है। इसके अतिरिक्त भी कई ज़रूरी कामो को आप इस मोबाइल अप्प की मदद से पूरा कर सकते है।

विशेषताए :

एप्प नामmParivahan App
एप्प साइज(19 MB) डिवाइस के हिसाब कम ज्यादा हो सकता है
इनस्टॉल1 Cr+
रेटिंग4.3

Vahaan Portal से बीमा चेक करे.

वाहन पोर्टल की सहायता से भी आप अपने वाहन का बीमा चेक कर सकते है। बीमा का अंतिम तारीख क्या है। कब बीमा हुआ था कब खत्म हो रहा है। यह सब कुछ आप ऑनलाइन वाहन पोर्टल की मदद से जाँच सकते है।

  • सब पहले भारत सरकार की परिवाहन मंत्रालय की ऑफिसियल वेबसाइट पर जाना होगा। जिस पर इस लिंक vahan.nic.in पर क्लिक करके जा सकते है।
  • फिर आपका मोबाइल नंबर डालने को कहा जायेगा। यदि आप पहले से मोबाइल नंबर रजिस्टर कर चुके है। तो मोबाइल नंबर डालकर Next पर क्लिक करके। बीमा वैलिडिटी जाँच पाएंगे।
  • यदि आपका मोबाइल नंबर पहले से रेजिस्टर नहीं है। तो आपका Account Create करना होगा।
  • इसके लिए आपको Create Account का ऑप्शन मिल जायेगा।
  • अपने Mobile Number और Email ID की मदद से अकाउंट क्रिएट कर सकते है।
  • उसके बाद आप अपना वाहन नंबर डालकर अपने व्हीकल के बीमा को चेक कर सकते है।

Insurance Company से बीमा चेक करे.

ऑनलाइन चेक करने के अलावा आप ऑफलाइन भी बीमा वैलिडिटी बड़ी आसानी से चेक कर सकते है। इसके लिए आपको इन्शुरन्स कंपनी का सहारा लेना होगा। जिस कंपनी से व्हीकल का इन्शुरन्स हुआ है। उससे संपर्क करके आप इन्शुरन्स की वैलिडिटी चेक कर सकते है।

ऑफलाइन बीमा वैलिडिटी जांचने के लिए आप इन्शुरन्स कंपनी के कस्टमर केयर को कॉल कर सकते है। नहीं तो इन्शुरन्स कंपनी के ब्रांच में जाकर भी आप आसानी से बीमा वैलिडिटी चेक करवा सकते है।

RTO Office से बीमा चेक करे.

बीमा की वैलिडिटी आप आरटीओ ऑफिस जाकर भी बड़ी आसानी से चेक कर सकते है। इसके लिए आपको उस आरटीओ ऑफिस में जाना होगा। जिस RTO में आपके व्हीकल या वाहन का रजिस्ट्रेशन हुआ है। वहा से भी आप बड़ी आसानी से बीमा की वैलिडिटी चेक कर सकते है।

लेकिन जिस आरटीओ ऑफिस में आपके वाहन का रजिस्ट्रेशन हुआ होगा। वही से आप ऑफलाइन बीमा की वैलिडिटी जाँच सकते है। इसके लिए आपको नजदीकी आरटीओ ऑफिस में जाना होगा।

टू व्हीलर का इंश्योरेंस कैसे चेक करें?

टू व्हीलर हो या फोर व्हीलर या इससे अधिक व्हीलर वाले जितने भी वाहन है। सभी का इन्शुरन्स आप बड़ी आसानी से ऑनलाइन और ऑफलाइन दोनों माध्यमों से चेक कर सकते है। इसके लिए ऊपर बताये स्टेप को अपनाना होगा। बताये गए किसी भी एक तरीको को अपनाकर आप वाहन का इन्शुरन्स चेक कर सकते है।

किसी भी वाहन का बीमा आप बड़ी आसानी से ऑनलाइन वाहन के रजिस्ट्रेशन नंबर से चेक कर सकते है। इसके लिए वाहन नंबर की आवश्यकता होगी।

मोटरसाइकिल का बीमा कितने का है?

अक्सर लोगो के मन यह प्रश्न होगा। तो मैं आपको बता दूँ। सभी वाहन के लिए इन्शुरन्स कंपनी बीमा के लिए अलग अलग शुल्क चार्ज करती है। यह पूरा निर्भर करता है। आपके बाइक की कीमत कितना है कितने समय के लिए आप वाहन बीमा करवा रहे है। और किस इन्शुरन्स कंपनी से आप बीमा करवा रहे है।

आशा करते है। लेख में शेयर की गयी इनफार्मेशन से आपको काफी हेल्प मिला होगा। इसमें मैंने आपको बताया कि मोटरसाइकिल और कार का इंश्योरेंस कैसे चेक करें, और दूसरे वाहन का ऑनलाइन बीमा कैसे चेक करे इस पर भी मैंने चर्चा किया है।

यदि इस लेख से हेल्प मिला हो। तो कमेंट सेक्शन में ज़रूर मेंशन करे। ऐसी ही अन्य इनफार्मेशन के लिए हमारे ब्लॉग पर पब्लिश दूसरे लेख पढ़ सकते है। इसी विषय पर कई आर्टिकल पहले से पब्लिश किये जा चुके है। जिसे आप देख सकते है।

Leave a Comment

error: Content is protected !!