फर्स्ट पार्टी इन्शुरन्स क्या होता है?

सड़क पर चलने वाले हर एक वाहन का इन्शुरन्स होना ज़रूरी है चाहे वो दो पहिया वाहन हो चार पहिया वाहन हो या बड़े वाहन हो लेकिन जब हम में किसी को अपने व्हीकल का इन्शुरन्स करवाना होता है जिसमे फर्स्ट पार्टी और थर्ड पार्टी इन्शुरन्स होता है जोकि इस विषय पर अधिक लोगो को नहीं होती है इसलिए इस लेख में हम आपको बताएँगे कि फर्स्ट पार्टी इन्शुरन्स क्या होता है इसके फायदे और थर्ड पार्टी इन्शुरन्स और फायदे क्या है।

वाहन के कागज को पुरा करने में इन्शुरन्स एक अहम् रोल अदा करता है बिना इन्शुरन्स के कोई भी वाहन सड़क पर नहीं चलाये जा सकते है यदि बिना इन्शुरन्स की कोई वाहन चलाता भी है तो उसका ट्रैफिक पुलिस के द्वारा चालान किया जायेगा इसलिए हर गाड़ी का मौजूदा इन्शुरन्स होना ज़रूरी है।

नियमो के बदलने के बाद सडको पर बिना इन्शुरन्स के गाड़ी चलाना चालक को महगा पड़ सकता है इसलिए अधिक वाहन मालिक अपने गाड़ियों का इन्शुरन्स करवाते है लेकिन व्हीकल ओनर के सामने इन्शुरन्स करवाने का दो विकल्प होता है जिसमे First Party Insurance और Third Party Insurance होता है इसे समझने में कई लोगो को परेशानी भी आती है इस लेख में हम दोनों इन्शुरन्स विकल्प को पूर्ण रूप से समझाने का प्रयास करेंगे।

इन्शुरन्स भविष्य में दुर्घटना की आशंका से निपटने के लिए कराया जाता है भविष्य में क्या होगा किसी को नहीं पता होता है इसलिए व्हीकल का इन्शुरन्स हो या किसी अन्य प्रकार का कोई इन्शुरन्स हो इसीलिए अधिकतर लोग बीमा कंपनियों से बीमा खरीदते है बीमा एक व्हीकल के लिए तो आवश्यक है ही लेकिन व्यक्ति का बीमा होना भी आवश्यक है।

फर्स्ट पार्टी इन्शुरन्स क्या होता है?

first-party-insurance-kya-hota-hai

First Party Insurance में बीमाधारक को पूरा कवर मिलता है फर्स्ट पार्टी के इन्शुरन्स खरीदने के बाद गाड़ी से किसी का कोई दुर्घटना होता है या किसी प्रकार का कोई नुकसान होता है जैसे गाड़ी का टूट फुट गाड़ी का चोरी होना और दुर्घटना के समय हुए सभी नुकसान का भरपाई इन्शुरन्स कंपनी करती है इसमें बीमित व्यक्ति को पूरा वित्तीय मदद मिलती है।

फर्स्ट पार्टी इन्शुरन्स में हुए नुकशान का भरपाई पूरा इन्शुरन्स कंपनी करता है चाहे वो बीमित व्यक्ति के गाड़ी का नुकसान हो या जिस गाड़ी से टकराई है उसका नुकसान हो इसका पूरा हर्जाना इन्शुरन्स कंपनी भर्ती है फर्स्ट पार्टी इन्शुरन्स में गाड़ी के सभी नुकसान का हर्जाना इन्शुरन्स कंपनी भर्ती है।

फर्स्ट पार्टी इन्शुरन्स जीरो डेप्थ के साथ कराया जा सकता है जिसमे पूरी तरह बीमाधारी को कवर मिलता है इस इन्शुरन्स से साल में दो बार क्लेम ले सकते है इसमें दोनों पार्टियों के क्षति की भरपाई की जाती है चाहे वो बीमित व्यक्ति के वाहन का नुकसान हो या जिस वाहन से दुर्घटना में भिड़ी है उसका नुकसान हो इसे इन्शुरन्स कंपनी कवर करती है।

यदि गाड़ी की चोरी हो जाती है या बुरी तरह से डैमेज हो जाती है तो कंपनी के तरफ से क्लेम मिल जाता है लेकिन थर्ड पार्टी इन्शुरन्स में ऐसा बिलकुल भी नहीं है फर्स्ट पार्टी के इन्शुरन्स से बीमित व्यक्ति सभी नुकसान से बच जाता है जिसे पूरा इन्शुरन्स कंपनी देखती है।

फर्स्ट पार्टी इन्शुरन्स के फायदे।

Third Party Insurance के मुकाबले First Party Insurance में अधिक फायदे होते है जोकि फर्स्ट पार्टी इन्शुरन्स में पूरा कवर मिलता है वही थर्ड पार्टी में ऐसा बिलकुल भी नहीं है।

  • फर्स्ट पार्टी इन्शुरन्स में जीरो डेप्थ के साथ कराया जा सकता है जबकि थर्ड पार्टी में ऐसा नहीं होता है।
  • इसमें बीमित को पूरा कवर मिल जाता है यानि भविष्य के किसी भी दुर्घटना या नुकसान के आशंका से पूरा कवर मिलता है।
  • First Party insurance से टूटने फूटने से लेकर सामने वाले के नुकसान की भी भरपाई इन्शुरन्स कंपनी करती है यहाँ बीमित का कोई खर्चा नहीं होता है।
  • गाड़ी चोरी होने पर भी फर्स्ट पार्टी इन्शुरन्स कवर करता है यदि गाड़ी की चोरी भी हो जाती है इन्शुरन्स कंपनी मुआवजा देती है।
  • दुर्घटना में हुए सारे नुकसान का भरपाई इन्शुरन्स कंपनी करती है चाहे बीमित व्यक्ति का नुकसान हो या दूसरे व्यक्ति के नुकसान हो उसका भी भरपाई इन्शुरन्स कंपनी करती है।

थर्ड पार्टी इन्शुरन्स क्या होता है?

यदि आप इन्शुरन्स करवाने जाते है तो आपको Third Party का भी इन्शुरन्स मिल जायेगा लेकिन इस इन्शुरन्स से गाड़ी के कागज मेन्टेन हो जायेगे यदि गाड़ी से किसी प्रकार का कोई दुर्घटना होता है जिसमे आपके गाड़ी अन्य वस्तु या शारीरिक क्षति होती है उसका भरपाई इन्शुरन्स कंपनी नहीं करती है बल्कि इसमें आपके गाड़ी से टकराई दूसरी पार्टी के क्षति को कवर किया जाता है।

यानि आपके गाड़ी से किसी दूसरे के गाड़ी को नुकसान होता है तो उसका भरपाई इन्शुरन्स कंपनी करेगी इसमें आपके गाड़ी की टूट फुट दुर्घटना से ग्रस्त या चोरी होने पर बीमाधारी को कोई क्लेम नहीं मिलेगा इसे आप सीधा ऐसा समझे इसमें दुर्घटना में होने वाले गाड़ी के नुकसान का कोई भरपाई इन्शुरन्स कंपनी नहीं करेगी बल्कि जिसका आपने नुकसान किया है उसका भरपाई इन्शुरन्स कंपनी करेगी।

थर्ड पार्टी इन्शुरन्स से गाड़ी के सभी कागज तो तैयार हो जाते है लेकिन इन्शुरन्स कंपनी से पूरा कवर नहीं मिलता है इसलिए थर्ड पार्टी इन्शुरन्स लेने के कोई खास फ़ायदा नहीं होता है यही कारण है की अधिक लोगो के द्वारा फर्स्ट पार्टी का इन्शुरन्स लिया जाता है और गाड़ियों को भविष्य के दुर्घटना और नुकसान के असंका से कवर किया जाता है।

थर्ड पार्टी इन्शुरन्स के फायदे।

यदि आप थर्ड पार्टी इन्शुरन्स ही लेते है तो आपको ये फायदे मिलने वाले है वैसे फर्स्ट पार्टी के इन्शुरन्स के मुकाबले थर्ड पार्टी इन्शुरन्स में काफी कम फायदे होते है।

  • किसी अन्य के व्यक्ति के वाहन के क्षति ग्रस्त होने पर थर्ड पार्टी उसको मुआवजा देती है जैसे आपके गाड़ी से कोई दूसरी गाड़ी ठुक जाती है और उसका नुकसान हो जाता है तो उसका भरपाई आपके बजाय इन्शुरन्स को करना होता है।
  • दूसरी पार्टी के गाड़ी में बैठे व्यक्ति आपके गाड़ी से किसी व्यक्ति को शारीरिक क्षति होती है तो उस व्यक्ति को मुआवजा दिया जाता है यदि दुर्घटना में व्यक्ति के मृत्यु हो जाती है तो उसके परिवार को मुआवजा मिलता है।
  • कानूनी और उपचार सम्बंधित खर्चे थर्ड पार्टी ही भर्ती है भले इन्शुरन्स करवाने वाले व्यक्ति को मुआवजा न मिले लेकिन दूसरे के नुकसान को थर्ड पार्टी इन्शुरन्स कंपनी ही कवर करता है।
  • थर्ड पार्टी इन्शुरन्स से गाड़ी के कागज पुरे जाते है यानि आपके गाड़ी का इन्शुरन्स हो जाता है आपके पास इसका पेपर मौजूद होता है और आप सड़क पर वाहन चला पाते है।

पहली पार्टी और हिंदी में तीसरे पक्ष के बीमा के बीच अंतर।

पहली पार्टी इन्शुरन्स और तीसरी पार्टी इन्शुरन्स दोनों के बीच में काफी अंतर होता है यदि आपने ऊपर का लेख ध्यान से पढ़ा होगा तो आपको इस विषय की शंका ख़त्म हो गयी होगी और इससे जुड़े विशेष जानकारी से आप रूबरू हुए होंगे।

आशा है इस लेख में बताई जानकारी आपके समझ आयी होगी इसमें मैने बताया है कि फर्स्ट पार्टी इन्शुरन्स क्या होता है इसके फायदे और थर्ड पार्टी इन्शुरन्स क्या होता है इसके फायदे इसमें मैंने विशेष रूप से आपको इस विषय की जानकारी देने का प्रयास किया है।

ऐसी ही जानकारी के हमारे ब्लॉग पर पब्लिश अन्य आर्टिकल पढ़ सकते है ऐसे कई आर्टिकल हमारे इस ब्लॉग पर पहले से पब्लिश किये जा चुके है जिसमे मैंने कई अलग अलग विषय को कवर किया है इसके लिए आपको होम पेज पर जाकर दूसरे लेख पढ़ने होंगे या ऊपर के लेख में इससे सम्बंधित लेख के लिंक मिल जायेंगे उस पर क्लिक करके पढ़ सकते है।

यह लेख पसंद आया हो इससे सहायता मिला हो तो इसे सोशल मीडिया पर शेयर करना न भूले ताकि यह यूज़फूल जानकारी और लोगो तक पहुंच सके।

Leave a Comment

error: Content is protected !!