डी फार्मा के बाद नौकरी?

यदि आप डीफार्मा कर रहे है या कर चुके या फिर डीफार्मा करना चाहते है तो आपके मन एक प्रश्न ज़रूर आता होगा की डी फार्मा के बाद नौकरी कहा मिलेगा या फार्मासिस्ट के क्षेत्र में करियर कैसे बनाते है और डी फार्मेसी जॉब सैलरी कितनी होती है इस प्रकार के कई प्रश्न होते है तो इस लेख में इन्ही प्रश्नो के उत्तर जानेगे।

फार्मेसी मेडिकल से जुड़ा एक प्रोग्राम है जिसके अंतर्गत छात्रों को दवाओं से संबधित जानकारी दी जाती है किस प्रकार से दवाओं को मार्किट में सेल करना है किस प्रकार दवाओं को सुरक्षित स्टोर करना है और किस प्रकार से दवाओं की उत्पाद की जाती है आप यह समझे डी फार्मेसी के विद्यार्थी को दवा (Medicine) की विशेष जानकारी का पाठ्य पढ़ाया जाता है।

डीफार्मा कोर्स में स्टूडेंट को दवाओं के जानकारी के साथ साथ क्लीनिकल पैथालॉजी, बायोकेमिस्ट्री, पैरामेडिकल, मानव शरीर रचना, फार्माकोग्नॉसी, स्वस्थ सम्बंधित शिक्षा, की भी पढाई होती है डी फार्मेसी के करियर विकल्प के बारे में जानने के लिए इस लेख को शुरू से अंत तक पढ़े।

डी फार्मा के बाद नौकरी।

dpharma-ke-bad-noukari

डीफार्मा छात्रों के लिए मार्किट में अपार अवसर है जिसमे काफी छात्रों की आवश्यकता है डीफार्मा दो वर्षीय एक डिप्लोमा कोर्स है इस कोर्स को इंटरमीडिएट उत्तीर्ण विद्यार्थी कर सकता है कोर्स पूरा करके मेडिकल क्षेत्र में अपना करियर सेट कर सकता है मेडिकल क्षेत्र आये दिन ग्रोथ कर रहा है इस लिए अधिक नौकरी अवसर है।

पढाई पूरी करने के पश्चात हर स्टूडेंट की इच्छा होती है एक अच्छी नौकरी प्राप्त हो तो इस लेख में हम लोग डिप्लोमा इन फार्मासिस्ट किस क्षेत्र में करियर बना सकते है इस पर विस्तृत जानकारी प्राप्त करेंगे।

  • मेडिकल शॉप

अधिकांश छात्र डीफार्मा कोर्स पूरा करके खुद का एक मेडिकल शॉप ओपन करते है इसके लिए जहा भी मेडिकल शॉप ओपन करना है वहा के लिए एक रजिस्ट्रेशन सर्टिफिकेट जारी करवाना होगा फिर एक शॉप में दवाओं को रखकर सेल किया जा सकता है इसके लिए आपको कुछ इन्वेस्ट करके शुरुआत करनी होगी।

  • हॉस्पिटल

वर्तमान समय में हॉस्पिटलो की संख्या दिन प्रति दिन बढ़ता जा रहा है चाहे वो सरकारी हॉस्पिटल हो या फिर प्राइवेट हॉस्पिटल हो तेजी से बढ़ रहे है इसीलिए कई नए करियर विकल्प इन क्षेत्र में मिल जाते है इन हॉस्पिटल में आप एक फार्मासिस्ट के तौर पर काम कर सकते है और अच्छी सैलरी प्राप्त कर सकते है।

  • कॉलेज और यूनिवर्सिटी

डीफार्मा करने के लिए बाद आप कॉलेज या यूनिवर्सिटी में भी अपना करियर बना सकते है कई कॉलेज में फार्मासिस्ट की आवश्यकता होती है यहाँ पर कई प्रकार के कार्य हो सकते है चाहे दवा से सम्बंधित नए छात्रों का परख करवाना हो या स्वस्थ सही करने की दवा देना हो।

  • दवा उद्योग

दवा बनाने वाली कम्पनियो में अकसर फार्मासिस्ट की आवश्यकता होती है इसमें दवाओं के फॉर्मूले, रॉ मटेरियल, दवा पैकेजिंग, दवा स्टोरिंग, मार्केटिंग, या एक्सपायरी दिनाक, का ख्याल रखने का कार्य मिल सकता है यह कम्पनिया नए फार्मासिस्ट को अधिक हायर करती है एक फार्मेसी छात्र दवा उद्योग में करियर बना सकता है।

  • सरकारी डिपार्टमेंट

कई सरकारी विभाग में फार्मासिस्ट की आवश्यकता होती है इन विभागों में भर्ती होने लिए दवाओं सम्बंधित विशेष जानकारी होना आवश्यक है कई अलग अलग सरकारी विभाग में डीफार्मा छात्र एनरोल कर सकते है तथा करियर सेट कर सकते है।

  • रिसर्च इंस्टिट्यूट

दवा रिसर्च संस्थान पर भी फार्मासिस्ट छात्र अपना करियर बना सकते है इन इंस्टिट्यूट में नयी दवाओं की खोज करना पुरानी दवाओं में संशोधन करना किस प्रकार दवा की एक्सपायरी डेट को बढ़ाये दवाओं को किस प्रकार सुरक्षित रखना आदि पर इंस्टिट्यूट द्वारा रिसर्च किया जाता है।

  • कंसलटेंट फार्मासिस्ट

एक फार्मासिस्ट के पास मेडिसिन की अत्याधिक जानकारी होती है उसी जानकारी को बाटकर अच्छी कमाई कर सकता है कंसलटेंट को दवा की सम्पूर्ण जानकारी होना ज़रूरी है तभी किसी व्यक्ति को इन क्षेत्र की जानकारी दे सकता है।

  • फार्मेसी असिस्टेंट

फार्मेसी क्षेत्र में मल्टीप्ल करियर ऑप्शन है उसी में किसी सीनियर फार्मासिस्ट का फार्मेसी असिस्टेंट बनकर करियर सेट कर सकते है इसमें नए फार्मासिस्ट को ट्रेंड करना और ड्रग सम्बंधित जानकारी देने का कार्य होता है यह क्षेत्र भी एक डीफार्मा छात्र के लिए उपयोगी है।

  • क्लीनिकल फार्मासिस्ट

एक फार्मासिस्ट स्टूडेंट पैरामेडिकल से जुड़ा हुआ होता है इसी क्षेत्र से सम्बंधित जानकारी दी जाती है जिसमे वह छोटी मोटी बीमारियों का इलाज कर सकता है मरीज को स्वस्थ करने का गुण होता है इस करियर ऑप्शन में आप आसानी से करियर बना सकते है और यहाँ से अच्छा इनकम स्रोत्र बना सकते है।

  • मेडिसिन सेफटी मैनेजर

कई मेडिसिन निमार्ण कम्पनिया फार्मासिस्ट छात्र को इस लिए हायर करती है निर्माण हुयी दवा को किस प्रकार से सेफ रखा जा सकता है जिससे दवा ख़राब न हो पाए इसलिए बड़ी मात्रा में मेडिसिन सेफ्टी मैनेजर की आवश्यकता होती है इसमें दवा सुरक्षित करने के सारे गुण होने ज़रूरी होते है।

  • मेडिसिन मैनेजमेंट टेकनीशियन

हर एक कम्पनी को एक मैनेजमेंट सभालने वाले व्यक्ति की आवश्यकता होती है उसी प्रकार से मेडिसिन मैनेजमेंट टेकनीशियन की आवश्यकता होती है मेडिसिन बनाने वाली कम्पनियो को हर निर्माण के पीछे एक मैनेजमेंट या लेखा जोखा होता है इसलिए आप डीफार्मा करके मेडिसिन मैनेजमेंट टेकनीशियन भी बन सकते है।

और पढ़े…

डीफार्मा के बाद क्या करे?

इस लेख में आपको यह जानकारी मिला की डी फार्मा के बाद नौकरी, किस किस क्षेत्र में कर सकते है यहा तक कोई सिमित नहीं है इसके अतिरिक्त भी बहुत सारे करियर विकल्प मिल जाते है एक डीफार्मा या फार्मेसी कोर्स किये छात्र को यदि आप डीफार्मा के बाद नौकरी करना चाहते है तो ऊपर बताये गए करियर विकल्प में किसी एक को चुन सकते है और करियर सेट कर सकते है।

अगर आप डीफार्मा के बाद पढाई कंटिन्यू करना चाहते है तो उसके लिए भी कई विकल्प मिल जाते है फार्मेसी में ग्रेजुएशन पोस्ट ग्रेडेशन और पीएचडी की डिग्री भी हासिल कर सकते है उसके बाद इसके अलावा कई करियर विकल्प मिल जाते है।

मुझे आशा है की यह लेख आपको पसंद आया होगा और आपके द्वारा सर्च की जा रही जानकारी प्राप्त हो गयी होगी यदि इस लेख से सम्बंधित कोई प्रश्न है और उसका उत्तर आप जानना चाहते है तो आप मुझे कमेंट कर सकते है उसका जवाब आपको मिल जायेगा लेख लाभकारी लगा हो जानकारी प्राप्त हुआ हो तो इसे शेयर करना न भूले।

डी फार्मेसी जॉब्स सैलरी।

डीफार्मा छात्रों के शुरुआती दौर के सैलरी की बात करे तो 15 हजार से 25 हजार तक हो सकता है इसे कम भी हो सकता है और इससे अधिक भी हो सकता है लेकिन जॉब एक्सपेरिएंस प्राप्त करने के बाद 25 हजार से अधिक सैलरी प्राप्त कर सकते है।

2 Comments

    1. kai bar college se placement mil jata hai. ager nhi milta hai. to bahar kisi hospital, medical shop, dwa manufacturing company, me apply kar skate hai. asani se job mil jayega.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!