DICGC क्या है? – DICGC full form in hindi.

क्या आप भी जानना चाहते है कि DICGC क्या है. और बैंक अपने ग्राहकों के पैसे को कितना और कैसे सुरक्षित रखता है आइये जानते है क्या आपका बैंक में खाता है क्या आपका बैंक में जमा राशि सुरक्षित है बैंक अकॉउंट को कैसे सुरक्षित रखा जाता है और आपके अकाउंट की Insurance कहा से कैसे होता है आइये समझे।

हर व्यक्ति का बैंक में एक या एक से अधिक खाता ज़रूर होता है लेकिन अक्सर लोगो को ये नहीं पता होता है बैंक के डूबने या बैंक दिवालिया होने पर बैंक में जमा पैसा Secure रहता है की नहीं इस विषय पर विस्तार से बात करेंगे।

कई लोग बैंक खाता खोलने के बाद निश्चिन्त होकर अपने पैसे को बैंक के हवाले कर देते लेकिन क्या कभी आपने ये भी सोचा है कि बैंक दिवालिया हो सकता है बैंक का कर्जा बढ़ने पर बैंक अपना हाथ खड़ा कर सकता है या किसी प्रकार से बैंक टूट जाये और अपने ग्राहको को पैसे न दे पाए इस प्रकार की बहुत सारी घटनाये घाट चुकी है लेकिन रिज़र्व बैंक ऑफ़ इंडिया ने कमर्शियल और कोपरेटिव बैंक के ग्राहकों को डीआईसीजीसी से सुरक्षित किया है।

DICGC क्या है?

Dicgc kya hai
Dicgc kya hai.

What is Dicgc in hindi. डीआईसीजीसी RBI के निर्देशानुसार Commercial Cooperative और Rural Regional bank के ग्राहकों को इन्सुरेंस से कवर्ड करता है बेसिकली DICGC के द्वारा उन बैंक के कस्टूमर को सुरक्षित किया जाता है जो कमर्सिअल बैंक कोआपरेटिव बैंक के खाताधारक होते है।

Dicgc का स्थापना 15 जुलाई 1978 में किया गया था कुछ समय पहले Dicgc से कवर्ड ग्राहकों को बैंक डूबने दिवालिया होने या बैंक उस स्थिति में हो कि अपने ग्राहकों के जमा राशि को देने से साफ इंकार कर दे इस स्थिति में Dicgc के द्वारा 1,00,000 रूपये का मुवाजा दिया जाता था लेकिन सन 2020 के बजट पेश होने के बाद इस राशि को बढाकर 5,00,000 रूपये कर दिया गया है।

DICGC full form in hindi.

अब आइये एक नजर डालते है कि Dicgc पूरा नाम क्या होता है DICGC Full Form Deposit Insurance and Credit Guarantee corporation और इसका हिंदी अर्थ जमा बीमा और क्रेडिट गारंटी निगम होता है।

DICGC Act क्या है?

बहुत सारे लोगो का सवाल होता है कि Dicgc को किस एक्ट के अंदर रेगुलेट किया जाता है तो मै आपको बता दू इसका स्थापना सन 1978 में हुआ था लेकिन इसको डिपाजिट इन्शुरन्स एंड क्रेडिट गारंटी कारपोरेशन Act 1961 के तहत रेगुलेट किया जाता है।

Dicgc कैसे काम करता है?

डीआईसीजीसी का मुख्य कार्य है कि कमर्शियल और कोआपरेटिव बैंक के द्वारा जितने भी खाता खोले जाते है चाहे वो Saving Account Current Account या Recurring अकाउंट हो इन सभी अकाउंटो का RBI के मुताबिक Dicgc से डिपाजिट इन्शुरन्स करवाया जाता है कभी किसी कारण से बैंक फेल हो जाता है तो ग्राहक के पैसे की भरपाई किया जा सकता है।

इस इन्शुरन्स से बहुत सारे ग्राहक अपने पैसो को बैंक में जमा करने के बाद सुरक्षित महसूस करते है क्योकि रिज़र्व बैंक ऑफ़ इंडिया के द्वारा ये सारी सुरक्षा भारत में काम करने वाले कमर्शियल बैंको ने अपने ग्राहक को देना होता है इससे हर व्यक्ति निश्चिन्त होकर अपने पैसो को बैंक में पूर्ण विश्वाश के साथ जमा करता है।

Dicgc से कितना पैसा सुरक्षित रहता है?

अब बात आती है कि डीआईसीजीसी के माध्यम से कितने जमा राशि का इन्शुरन्स होता है क्योकि इसके जरिये डिपाजिट इन्शुरन्स 5,00,000 रूपये का होता है तथा बहुत सारे ग्राहकों के इससे अधिक पैसे बैंक में जमा रहते है तो इस स्थिति में क्या होता है आइये एक उदाहरण के माध्यम से समझने की कोशिश करते है।

  • उदाहरण 1 : जो अगर आपका बैंक में 5 लाख से अधिक राशि जमा है या आपका व्याज जुड़कर 5 लाख से अधिक की राशि होती है और बैंक फेल होता है तो आपको केवल 5 लाख रूपये तक ही मुवाजा मिलेंगा बाकि की राशि आपकी नहीं मिलेगी।
  • उदाहरण 2 : कई लोगो का एक ही बैंक में या अलग अलग बैंक में कई खाते होते है तो इस स्थिति में क्या होगा जो अगर आपका एक ही बैंक में एक सेविंग अकाउंट करंट अकाउंट और फिक्स्ड डिपाजिट अकाउंट है तो आपके सारे खातों को मिलकर 5 लाख से अधिक की राशि बनती है तो आपको 5 लाख का ही मुवाजा मिलेगा अगर आपका कई अलग अलग बैंक में खाते है और ऐसी कोई घटना घटती है तो आपको अलग अलग बैंक से 5-5 लाख के तक का मुवाजा मिलेगा।
  • उदाहरण 3 : कई बार लोगो के एक बैंक में कई खातों के साथ ज्वाइन अकाउंट भी होता है जैसे आपका तीन खाता है एक बचत खाता चालू खाता और एक ज्वाइन खाता है तो आपको बचत खाता और चालू खाता का 5 लाख तक मुवाजा मिल जायेगा और किसी के साथ ज्वाइन खाता है तो उसका भी 5 लाख तक मुवाजा मिल जायेगा।
  • उदाहरण 4 : जो अगर आपका बैंक में 5 लाख से कम की राशि जमा है तो आपको आपके राशि पर व्याज जोकर वापस कर दिया जायेगा।

आपने क्या सीखा?

इस पोस्ट से आपको क्या सिखने को मिला है इस आर्टिकल बताया गया है कि DICGC क्या है. DICGC full form in hindi. Dicgc से कितना पैसा सुरक्षित रहता है. Dicgc कैसे काम करता है. DICGC Act क्या है. ऐसे सवालो के जवाब इस पोस्ट में मिला है।

इस पोस्ट में बैंक के डूबने और फेल होने से बैंक में जमा राशि को कैसे सुरक्षित रखते है और Dicgc से कैसे बिमा होता है इस पोस्ट में यही टॉपिक को विस्तार से समझाया गया है।

निष्कर्ष

मुझे पूर्ण आशा है कि मेरे द्वारा पेश किया गया DICGC क्या है. DICGC full form in hindi. इस जानकारी से आपको कुछ सिखने को मिला होगा मै उम्मीद करता हु की इस जानकारी को आपने ध्यान पूर्वक पढ़ा होगा और ये जानकारी आपको समझ आया होगा।

मै इसी प्रकार का कंटेंट हर रोज अपने ब्लॉग पर पेश करता रहता हूँ जिससे मेरे ज्ञान से आपको कुछ सिखने को मिले इससे अच्छा मेरे लिए क्या हो सकता है तो इसलिए मुझे आपका सहायता चाहिए की मै ऐसे कंटेंट पेश कर करता रहु।

ऐसे ब्लॉग को पढ़ने के लिए और मेरी सहायता करने के लिए आपको हमारे सोशल मीडिया प्लेटफार्म से जुड़ना होगा और हमारे द्वारा दी हुयी जानकारी को अपने व्हाट्सअप ग्रुप या अन्य सोशल मीडिया प्लेटफार्म पर शेयर करना होगा।

Leave a Comment

error: Content is protected !!