सीवीवी कोड (CVV Code) क्या होता है? पूरी जानकारी।

क्या आप सीवीवी नंबर के बारे जानते है कि सीवीवी कोड क्या होता है. what is CVV in hindi. और CVV Code को क्यो सिक्योर रखना चाहिए अगर पूर्ण जानकारी नहीं है तो ये लेख पढ़ना आपके लिए काफी लाभदायक हो सकता है इसी विषय पर बेस ये आर्टिकल है इस लेख में सीवीवी से सम्बंधित पूर्ण जानकारी देने वाला हूँ जिसे आप पढ़कर सीवीवी के बारे में सचेत हो सकते है।

ऑनलाइन खरीदारी बहुत से बढ़ रहा है और Online Shopping करते समय ज्यादातर व्यक्ति अपने Debit Card और Credit Card से पेमेंट करने के लिए सोचते है ये ऑनलाइन शॉपिंग ही नहीं बल्कि ऑफलाइन रिटेल स्टोर में डेबिट कार्ड और क्रेडिट से पेमेंट स्वीकार किया जाता है लेकिन सफल भुगतान करने के लिए Cvv Number की आवश्यकता ज़रूर पड़ती है इस विषय पर आपके मन में भी कई सवाल उठ रहे होगे इन्ही सवालो का जवाब इस लेख में देंगे।

ये विषय बहुत महत्वपूर्ण है क्योकि अकसर लोग CVV Number एक दूसरे के साथ शेयर कर देते है ऐसा बिलकुल भी नहीं करना चाहिए ये डेबिट कार्ड और क्रेडिट कार्ड के डिटेल्स को सिक्योर करता है इसके अलावा भी Expiration Date और Card Number का भी अहम रोल होता है एक कार्ड के जानकारी को सेफ रखने के लिए।

सीवीवी कोड क्या है – CVV Code kya hai?

Cvv code kya hota hai
CVV code kya hai?

सबसे पहले जानते है कि CVV का Full Form Card Verification Value होता है इस सीवीवी नंबर का प्रचलन क्रेडिट कार्ड प्रोवाइड करने वाली कंपनीयो के द्वारा किया गया था ऑनलाइन होने वाले ट्रांसक्शन को सिक्योर करने के लिए Fraud कम करने के लिए हर डेबिट कार्ड और क्रेडिट कार्ड से भुकतान के समय CVV Verify करने का विकल्प मिलता है बिना इस स्टेप के भुकतान सफल नहीं हो सकता है।

CVV Number के डिजिट की बात करे तो 3 या 4 डिजिट का कोड होता है तथा ये हर डेबिट कार्ड और क्रेडिट में होता है हर ग्राहक के कार्ड का CVV Code अलग अलग होता है यही सिक्योरिटी कोड को कार्ड प्रोवाइड करने वाली कंपनीयो के द्वारा अनेक अनेक नाम से जाना जाता है जैसे Visa कंपनी CVV2 के जानती है यही MasterCard इसे CVC2 के नाम जानती है।

CVC का पूरा नाम Card Verification Code होता है CVV CVC और CVS का मतलब एक ही होता है ये हर कार्ड के बिछले हिस्से पर देखने को मिल जायेगा जिसमे आपके कार्ड की और अकाउंट की पूर्ण जानकारी छिपी होती है इसे किसी अनजान व्यक्ति के साथ शेयर न करे।

इसे भी पढ़े.

CVV का इतिहास।

सीवीवी के इतिहास पर एक नजर डालते है दरअसल डेबिट कार्ड और क्रेडिट कार्ड पर CVV के अलावा भी कुछ कोड होते है जिन्हे CSC यानि Card Security Code कहते है इसकी शुरुआत सन 1995 में यूनाइटेड किंगडम में माइकल स्टोन ने किया था इसकी जांच होने के बाद Association of Payment Clearing Services ने ऑनलाइन सिक्योरिटी बढ़ाने के लिए इसे अपना लिया था शुरुआती दौर में CVV Code 11 अंक का हुआ करता था लेकिन कुछ समय बाद इसे 3 और 4 डिजिट कर दिया गया।

CVV Code क्यों ज़रूरी है?

सीवीवी कोड को सिक्योरिटी के लिए इस्तेमाल किया जाता है ये हमेशा कार्ड के पीछे वाले हिस्से पर तीन या चार अंक का मौजूद होता है जब किसी कार्ड को पब्लिक प्लेस पर इस्तेमाल किया जाता है तब कार्ड के ऊपरी हिस्से में कार्ड नंबर और एक्सपायरी डेट दिखता है और CVV कोड कार्ड के पीछे हिस्से में होता है इस लिए कोड हर किसी को पता नहीं चल पता है तथा Fraud होने या ठगी होने के चांस कम हो जाते है।

अक्सर इस कोड को ऑनलाइन या इंटरनेट के माध्यम से पेमेंट करने पर इस्तेमाल किया जाता है जिससे फ्रॉड होने के गुंजाइस कम हो जाते है इस लिए हर पेमेंट को सफल करने के लिए सीवीवी कोड से वेरीफाई करना पड़ता है बिना इस कोड के भुकतान अधूरा रह जायेगा।

CVV Code कैसे पता करे?

atm card cvv number konsa hota hai. कई लोगो को पता नहीं होता है तो मैं आपको बता दू CVV CVC या CVS कोड जानने के लिए आप के पास एक डेबिट कार्ड या क्रेडिट कार्ड होना ज़रूरी है उस कार्ड में आप सीवीवी देख सकते है।

सीवीवी पता करने के लिए डेबिट कार्ड या क्रेडिट कार्ड के पीछे की ओर देखना होगा जैसे पीछे की ओर मोड़ते है वैसे मैग्नेटिक स्ट्रिप के जस्ट निचे तीन अंक या चार अंक का कोड दिखेगा उसी को CVV कोड कहते है इसे देखने के लिए आप निचे दिए फोटो में देख सकते है।

cvv code kya hai

सीवीवी के अलावा भी कार्ड में कुछ नंबर होते है जिनके बार में भी जान लेते है एटीएम कार्ड के फ्रंट पर दो चीजे होती है पहला कार्ड का नंबर जो 16 डिजिट का होता है और एक्सपायरी डेट जिमसे मंथ और ईयर दिया होता है इसके अलावा भी कई कार्ड में अकाउंट होल्डर नाम भी दिया होता है।

क्या CVV Code ही Card का Pin होता है?

कई लोग कई बार कन्फूज हो जाते है cvv code और card के pin में क्या अंतर होता है तथा कुछ लोग जानते है कि CVV Code ही कार्ड का पिन है क्योकि दोनों सामान्य दिखाई देता है लेकिन ऐसा नहीं है दोस्तों पिन का इस्तेमाल आपको किसी एटीएम मशीन में पैसे निकालते वक्त या स्वाइप मशीन में पेमेंट को कम्पलीट करते वक़्त ज़रूरत होता है और सीवीवी एक परमानेंट बैंक द्वारा जारी किया हुआ कोड होता है।

इसे बार बार चेंज नहीं किया जा सकता है लेकिन कार्ड के पिन को बार बार चेंज कर सकते है मैं आपको बता दू CVV code और कार्ड पिन का कोई संपर्क नहीं होता है सीवीवी अलग होता है और कार्ड पिन अलग होता है।

CVV Number शेयर करने के नुकसान।

CVV Code या इसके अलावा कोई अन्य कार्ड डिटेल किसी व्यक्ति के साथ शेयर नहीं करना चाहिए अपने कार्ड को प्राइवेसी से इस्तेमाल करना चाहिए जिससे आपके अकाउंट में जमा पैसो के साथ या आपके अन्य निजी जानकारी के साथ कोई छेड़छाड़ न कर सके।

ये कोड शेयर करने से आपको कुछ नुकसान हो सकता है आपके अकाउंट एक्सेस किसी और के पास जा सकता है आकउंट से पैसे काटे जा सकते है निजी जानकारी की चोरी की हो सकती है ऐसे कई अन्य प्रकार के नुकसान भी हो सकते है।

Conclusion

मैं पूर्ण आशा करता हूँ की इस लेख में दी गयी जानकारी सीवीवी कोड क्या होता है. और atm me cvv kya hota hai. इसकी सुरक्षा किस प्रकार होती है कैसे काम करता है इस पोस्ट से पता चल गया होगा मैं उम्मीद करता हूँ कि आर्टिकल से आपकी सहायता हुयी होगी।

इस लेख में बताई गयी जानकारी में किसी प्रकार का डाउट या सवाल हो तो आप निचे कमेंट बॉक्स ओपन है जिससे अपना सवाल हम तक पंहुचा सकते हो उसका जवाब मैं आपको अवश्य दूंगा अगर इस ब्लॉग से सम्बंधित किसी तरह की जानकारी देना चाहते है तो कांटेक्ट पेज से मुझे संपर्क कर सकते है।

अगर इस पोस्ट से आपकी मदद हुयी हो तो इसे शेयर करे किसी और की मदद करे जिससे ज्यादा से ज्यादा लोग ये जानकारी हासिल कर पाए और सीवीवी की महत्वपूर्ण जानकारी से वंचित न रहे इस पोस्ट को आप अपने सोशल मीडिया पर शेयर कर सकते है।

Leave a Comment

error: Content is protected !!