बिजनेस मैनेजमेंट कोर्स क्या है कैसे करे?

बिज़नेस क्षेत्र में दिलचस्पी रखने वाले स्टूडेंट बिज़नेस की विविध पहलुओं की जानकारी के लिए बिज़नेस मैनेजमेंट कोर्स की ओर रुख करते है। लेकिन अधिकांश स्टूडेंट को बिज़नेस मैनेजमेंट कोर्स से जुडी जानकारी कम होती है। नहीं मालूम होता है। कि बिजनेस मैनेजमेंट कोर्स क्या हैऑफिस मैनेजमेंट कोर्स क्या होता है
मैनेजमेंट क्या है और कैसे करे?
इसी विषय पर जानकारी देने वाला हूँ।

व्यवसायिक क्षेत्र में काफी तेजी से इजाफा हो रहा है। जिसमे बहुत सारे नए बिज़नेस को लोगो के द्वारा बढ़ावा दिया जा रहा है। नए लोगो के द्वारा नयी नयी कम्पनिया स्टैब्लिश की जा रही है। लेकिन बिज़नेस इंडस्ट्री में अच्छा प्रदर्शन करने बिज़नेस को आगे बढ़ाने के लिए मैनेजमेंट की काफी आवश्यकता होती है।

व्यवसाय और संगठन के क्षेत्र में मैनेजमेंट उसे कह सकते है जो उपलब्ध संसाधनों के माध्यम से व्यवसाय को सिस्टमैटिक तरीके से संचालित करना जिससे व्यवसाय के लक्ष्य को आसानी प्राप्त किया जा सके। यानि व्यवसाय को सही ढंग से रेगुलेट करने को ही बिज़नेस मैनेजमेंट कहा जाता है।

अधिकांश संगठन और व्यवसाय में बिज़नेस मैनेजमेंट करने वाले व्यक्ति की आवश्यकता होती है। जिससे किसी कम्पनी को आसानी से उसके लक्ष्य तक पहुंचाया जा सके। साथ ही अच्छी सर्विस, प्रोडक्शन, टीम मैनेजमेंट, विश्लेषण, और कम्पनी का संचालन, किया जा सके।

बिजनेस मैनेजमेंट कोर्स क्या है?

business-management-course-kya-hai

बिज़नेस मैनेजमेंट में 12वी के पास करने के बाद स्नातक और परास्नातक डिग्री प्राप्त कर सकते है। बिज़नेस मैनजमेंट कोर्स का उद्देश्य होता है। बिज़नेस को सही ढंग से संचालन करना, विश्लेषण करना, योजना बनाना, टीम मैनेज करना, प्रोडक्शन और सर्विसेज करवाना, और रिसर्च करना आदि होता है।

विभिन्न-विभिन्न प्रकार के बिज़नेस को संचालित करने विश्लेषण करने और योजना बनाने के लिए स्टूडेंट को बिज़नेस मैनेजमेंट में पढ़ाया जाता है। सिस्टमैटिक्स तरीके से बिज़नेस को रेगुलेट करने लक्ष्य तक पहुंचने आदि के लिए स्टूडेंट को बिज़नेस मैनेजमेंट की पढाई करनी पड़ती है।

बिज़नेस मैनेजमेंट के लिए बहुत सारे कोर्स मौजूद है। स्टूडेंट अपने सुविधा के अनुसार चुन सकते है। इसमें सर्टिफिकेट प्रोग्राम कोर्स, डिप्लोमा कोर्स, बैचलर डिग्री कोर्स, डॉक्ट्रेट डिग्री कोर्स, मौजूद है। कोई भी कोर्स से स्टूडेंट मैनेजमेंट की डिग्री हासिल कर सकता है। जिसमे BBA, BBM, BMS, PGDM, MBA, P.HD, जैसे कोर्स शामिल है।

सर्टिफिकेट प्रोग्राम और बैचलर डिग्री से बिज़नेस मैनेजमेंट कोर्स करने के लिए स्टूडेंट की न्यूनतम शैक्षणिक योग्यता 12वी पास होना चाहिए। बैचलर डिग्री प्राप्त करने के बाद बिज़नेस मैनजमेंट में मास्टर डिग्री प्राप्त कर सकते है। मास्टर्स कम्पलीट करने के बाद स्टूडेंट डॉक्ट्रेट डिग्री के लिए पीएचडी कर सकते है।

ऑफिस मैनेजमेंट कोर्स क्या होता है

किसी भी संगठन या ऑफिस को मैनेज करने, लेखा जोखा रखने, योजना बनाने, पत्राचार, अन्य महत्वपूर्ण कार्यो को ऑफिस से किया जाता है। इसके लिए ऑफिस मैनेजमेंट कोर्स करना होता है। ऑफिस मैनेजमेंट में सटिफिकेट प्रोग्राम कोर्स और डिप्लोमा कोर्स के विकल्प है। इन कोर्सो को करके ऑफिस मैनेजमेंट के तौर पर नौकरी कर सकते है।

सभी संगठन के कार्यालय में विभिन्न विभिन्न प्रकार के काम होते है। जिसके लिए स्टूडेंट को कई चीजों को सिखने और समझने की आवश्यकता होती है। वैसे आज के इस आधुनिक युग में मॉडर्न ऑफिस होते है। जिसमे कंप्यूटर, इंटरनेट, टेक्नोलॉजी, और अलग अलग कार्यलय यूज़ होने वाले सॉफ्टवेयर की जानकारी होना आवश्यक है।

ऑफिस मैनेजमेंट में कार्यो के डिज़ाइन, कार्यरूप पर अमल करना, मूल्यांकन करना, और व्यवसाय से जुडी अन्य प्रकिर्या को पूरा करने को कार्यलय प्रबंधन कह सकते है। ऑफिस मैनेजमेंट के लिए कई कोर्स मौजूद है जिसे स्टूडेंट करके ऑफिस के कार्यो को करने के काबिल बन सकते है।

बिजनेस मैनेजमेंट कोर्स कैसे करें?

बिज़नेस मैनेजमेंट के लिए कई कोर्स मौजूद है। जिसमे सर्टिफिकेट प्रोग्राम कोर्स, डिप्लोमा कोर्स, ग्रेजुएशन डिग्री कोर्स, पोस्ट ग्रेजुएशन डिग्री कोर्स, शामिल है। इसमें से स्टूडेंट कोई भी कोर्स चुनकर बिज़नेस मैनेजमेंट की शिक्षा हासिल कर सकता है।

  • बिज़नेस मैनेजमेंट की पढाई के लिए सबसे पहले स्टूडेंट को 12वी 50% + अंक से पास करना है। उसके बाद स्टूडेंट को कोर्स चुनना होगा। की वह बारहवीं के बाद सर्टिफिकेट कोर्स करना चाहते है, डिप्लोमा कोर्स करना चाहते है, बैचलर डिग्री कोर्स करना चाहते है।
  • किसी एक कोर्स चुन सकते है। सर्टिफकेट कोर्स की अवधि 6 महीना से 1 वर्ष तक हो सकती है डिप्लोमा कोर्स की अवधि 1-2 हो सकती है। और बैचलर डिग्री कोर्स की अवधि 3 वर्ष तक हो सकती है।
  • बैचलर डिग्री यानि ग्रेजुएशन पूरा करने के बाद बिज़नेस मैनेजमेंट में मास्टर डिग्री यानि पोस्ट ग्रेजुएशन कोर्स के लिए विकल्प मिल जाता है।
  • इसमें से आप अपने सुविधा के अनुसार कोई भी कोर्स चुन सकते है। और कोर्स की अवधि तक अपनी पढाई करके एग्जाम देकर इंटरनेशिप करके डिग्री प्राप्त कर सकते है।
  • बिज़नेस मैनेजमेंट डिग्री प्राप्त करने के बाद स्टूडेंट चाहे तो आगे पढाई कंटिन्यू कर सकता है। चाहे किसी भी संस्था में जॉब के लिए अप्लाई कर सकता है। कोर्स के बाद जॉब भी कर सकता है।

बिज़नेस मैनेजमेंट कोर्स की फीस

Business Management के लिए कई कोर्स है जैसे बिज़नेस मैनेजमेंट सर्टिफिकेट कोर्स, बिज़नेस मैनेजमेंट डिप्लोमा कोर्स, बिज़नेस मैनेजमेंट बैचलर डिग्री कोर्स, है। इन सभी कोर्सो की फीस अलग होती है। यह निर्भर करता है। की आप कौन सा कोर्स और कौन संस्था चुन रहे है।

मैनेजमेंट सर्टिफिकेट प्रोग्राम कोर्स के फीस की बात करे। तो सभी संस्था की फीस अलग अलग हो सकती है। एवरेज फीस 10,000 – 50,000 रूपये हो सकता है। यह संस्था पर निर्भर करता है।

डिप्लोमा मैनेजमेंट कोर्स के फीस की बात करे तो 30,000 – 50,000 रूपये के बीच हो सकता है। डिप्लोमा कोर्स की अवधि 1 वर्ष तक होती है। इस कोर्स को स्टूडेंट 50 हजार के खर्च में पूरा कर सकता है।

बारहवीं पास करने के बाद बिज़नेस मैनेजमेंट में बैचलर डिग्री कोर्स कर सकते है। इस कोर्स की अवधी 3 वर्ष की होती है। इस कोर्स की एवरेज फीस 30,000 – 5,00,000 रूपये के बीच हो सकता है। यह कॉलेज पर निर्भर करता है।

बिजनेस मैनेजमेंट कोर्स के लिए कॉलेज

क्र०कॉलेज नेमकॉलेज पता
1Xavier School Of ManagementJamshedpur
2Management Development InstituteGurgaon
3Institute Of Management TechnologyGhaziabad
4Amity UniversityNoida
5NMIMSMumbai
6Indian Institute Of ManagementCalcutta
7IIMAhmedabad
8Indian Institute Of ManagementLucknow
9XIM UniversityBhubaneswar
10IIMKashipur

समाप्त

इस आर्टिकल से मैंने आपको बताया है कि बिजनेस मैनेजमेंट कोर्स क्या है, ऑफिस मैनेजमेंट कोर्स क्या है और कैसे करे? इसके अलावा मैनेजमेंट कोर्स से जुडी जानकारी मैंने इस लेख के जरिये से आपके साथ साझा किया है। इस लेख के अतिरिक्त भी मैनेजमेंट कोर्स से जुड़े कई आर्टिकल पहले से पब्लिश किये गए है। अधिक जानकारी के लिए दूसरे लेख पढ़ सकते है।

यदि इस आर्टिकल से जुड़ा आपका किसी भी प्रकार का कोई प्रश्न है। जिसका आप उत्तर जानना चाहते है। उसे आप कमेंट करके पूछ सकते है। जिसका उत्तर आपको अवश्य दिया जायेगा। इस लेख से हेल्प मिला हो तो कमेंट सेक्शन में ज़रूर बताये।

Leave a Comment

error: Content is protected !!