बैंक में कितने पैसे पर टैक्स लगता है – इनकम टैक्स की लिमिट क्या है?

बहुत सारे सेविंग अकाउंट होल्डर के मन में ऐसे कई प्रश्न होते है। जिसे लेकर वह परेशान रहते है। और जानना चाहते है। कि बैंक में कितने पैसे पर टैक्स लगता है और इनकम टैक्स की लिमिट क्या है, इन्ही प्रश्नो के उत्तर विस्तार से जानेंगे। साथ ही ये भी जानेगे कि सेविंग अकाउंट में कितना पैसा रख सकते है.

सेविंग अकाउंट से लेनदेन की लिमिट होती है। अगर अधिक कॅश निकालते है या डिपाजिट करते है। तो खाताधारक इनकम टैक्स की नजर में आ सकते है। और इनकम टैक्स डिपार्टमेंट के द्वारा ट्रांसक्शन के बारे में पूछताछ भी किया जा सकता है। अगर आप लिमिट से सेविंग अकाउंट से लेनदेन करते है। तो कोई प्रॉब्लम नहीं होगा।

वैसे बैंक में कितने पैसे पर टैक्स लगता है। इसके लिए आपको Income Tax Slab को देखना होगा। टैक्स बैंक में नहीं बल्कि इनकम टैक्स विभाग के द्वारा वसूला जाता है। बैंक में पैसे जमा करने और निकालने पर कोई भी टैक्स नहीं लगता है। लेकिन टैक्स आयकर विभाग के द्वारा वसूला जाता है।

Bank Account में जितना मर्जी पैसे रख सकते है। लेकिन सेविंग अकाउंट से लेनदेन करने की लिमिट को खाताधारक क्रॉस कर देते है। तो इनकम टैक्स डिपार्टमेन्ट खाताधारक से पैसो के बारे में पूछताछ कर सकता है। जिसका जवाब खाताधारक को देना पड़ सकता है।

बैंक में कितने पैसे पर टैक्स लगता है?

bank-me-kitna-kitne-paise-par-tax-lagta-hai

बैंक में कितने पैसो पर टैक्स लगता है। इसके लिए आपको सत्र का टैक्स स्लैब देखना होगा। यह स्लैब सालाना बदलता रहता है। इसलिए जिस सत्र में आप आईटीआर फाइल करेंगे उस समय के टैक्स स्लैब के अनुसार आपको टैक्स भरना होगा। इसलिए आपको टैक्स स्लैब पर एक बार ज़रूर गौर करना चाहिए।

सेविंग अकाउंट में खाताधारक जितना मर्जी उतना पैसा रख सकता है। इसका कोई लिमिट नहीं है। लेकिन लेनदेन अधिक राशि यानि लिमिट से अधिक राशि का लेनदेन करने पर आपको इनकम टैक्स डिपार्टमेंट को जवाब देना पड़ सकता है। जिसमे आपको पैसो के बारे में बताना होगा। की आप पैसे कहा से और कैसे ला रहे है।

बचत खाताधारक को इनकम टैक्स की कार्यवाई से बचने के लिए लेनदेन पर गौर करना होगा। बचत खाता से एक साल में 10 लाख से अधिक का लेनदेन न करे। या इनकम टैक्स की नजर पड़ सकती है। जिसमे टैक्स विभाग खाताधारक पर कार्रवाई भी कर सकता है। इसलिए सेविंग अकाउंट से लेनदेन करने पर ध्यान देना होगा।

अगर आपका बैंक में करेंट अकाउंट है। तो करेंट अकाउंट से ट्रांसक्शन करने की कोई लिमिट नहीं होती है। खाताधारक जितना मर्जी वह करेंट अकाउंट से ट्रांसक्शन कर सकता है किसी भी प्रकार का कोई पूछताश नहीं होगा।

इनकम टैक्स की लिमिट क्या है?

इनकम टैक्स व्यक्ति के आय के अनुसार कैलकुलेट या वसूला जाता है। इसके लिए सत्र का इनकम टैक्स स्लैब का सहारा लेना होगा। इनकम टैक्स स्लैब व्यक्ति के उम्र के हिसाब से तैयार किया जाता है। 60 वर्ष से कम वाले व्यक्ति के लिए अलग टैक्स स्लैब होता है। वही 60 से 80 वर्ष वाले व्यक्ति के टैक्स स्लैब अलग होता है। और 80 वर्ष से अधिक सुपर सीनियर सिटीजन में आते है उनके लिए टैक्स स्लैब अलग होता है।

60 वर्ष से कम आयु वाले टैक्सपेयर के लिए टैक्स स्लैब 2022-23

2,50,000 से कमNil–
2,50,000 – 5,00,0005%
5,00,000 – 10,00,00020%
10,00,000 से ज्यादा30%

60 वर्ष से अधिक आयु वाले सीनियर सिटिज़न के लिए टैक्स स्लैब 2022-23

3,00,000 से कमNil–
3,00,000 – 5,00,0005%
5,00,000 – 10,00,00020%
10,00,000 से ज्यादा30%

80 वर्ष से अधिक आयु वाले सुपर सीनियर सिटिज़न के लिए टैक्स स्लैब 2022-23

5,00,000 से कमNil–
5,00,000 – 10,00,00020%
10,00,000 से ज्यादा30%

यह टैक्स स्लैब सत्र 2022 – 23 का है इसी स्लैब के अनुसार आपको टैक्स पे करना होगा। इसके अलावा सरचार्ज हेल्थ और एजुकेशन के लिए भी इनकम टैक्स में कुछ फीसदी जोड़ा जाता है। अगर आप इसी सत्र में आईटीआर फाइल करते है। तो आपको इसी टैक्स स्लैब के अनुसार टैक्स देना होगा।

बैंक अकाउंट में कितने पैसे रख सकते हैं?

बैंक अकाउंट में पैसे रखने के लिए कोई भी बैंक लिमिट सेट करके नहीं रखा है। खाताधारक जितना मर्जी अपने अकाउंट में पैसे रख सकता है। लेकिन लेनदेन की लिमिट है। यदि लेनदेन लिमिट खाताधारक पार करता है। तो उससे इनकम डिपार्टमेंट पूछताछ कर सकता है। अगर लिमिट से लेनदेन करते है तो कोई प्रोबलम नहीं होगी। यह सेविंग अकाउंट वाले खाताधारक के साथ होता है।

यदि आपका बैंक में सेविंग अकाउंट है। और उससे लेनदेन करते है। तो आपको लेनदेन का खास करके ध्यान देना होगा। सेविंग अकाउंट से खाताधारक वार्षिक 10 लाख रूपये तक लेनदेन कर सकता है। इससे अधिक होने पर इनकम टैक्स डिपार्टमेन्ट खाताधारक से पूछताछ कर सकता है। अगर खाताधारक के द्वारा एक साथ 1 लाख रूपये जमा किया जा रहा है तो भी इनकम की नजर पड़ सकती है।

रही बात सेविंग अकाउंट में पैसे रखने की तो आप जितना मर्जी पैसे रख सकते है। लेनदेन की लिमिट को पार न होने दे। लिमिट पार होने पर इनकम टैक्स डिपार्टमेंट खाताधारक से पूछताछ कर सकता है। और करवाई भी कर सकता है।

घर में कितना पैसा रख सकते हैं?

घर में अधिक पैसा रखना उचित नहीं है। घर में कम से कम कॅश पैसे रखे। जितना आपको कुछ दिनों में आवश्यकता पड़ने वाली है उतना ही पैसा रखे। अधिक पैसा रखने पर इनकम टैक्स डिपार्टमेंट को पता चलने पर मुस्किले बढ़ सकती है इसलिए आपको जितने पैसो की आवश्यकता है उतना ही पैसे घर में रखे।

वैसे घर में अधिक कॅश रखने पर लोगो की काफी मुस्किले बढ़ जाती है। इसलिए अधिकांश लोगो के द्वारा घर में कम से कम यानि ज़रुरत भर का पैसा रखा जाता है। घर में ज्यादा कॅश रखने पर लोगो की मुस्किले काफी हद तक बढ़ सकती है।

आयकर में छूट के नियम

टैक्सपेयर को आयकर विभाग के द्वारा कई प्रकार की छूट दी जाती है। जिसका फायदा टैक्सपेयर उठा सकते है। वैसे आयकर विभाग के द्वारा 2.5 लाख रूपये तक किसी भी प्रकार का टैक्स नहीं लिया जाता है। वही सीनियर सिटीजन को 3 लाख रूपये तक छूट मिलता है। और सुपर सीनियर सिटीजन को 5 लाख रूपये तक टैक्स की छूट मिल जाती है। इसके अलावा कई प्रकार छूट आयकर विभाग के द्वारा टैक्सपेयर को दिया जाता है।

आशा है इस लेख से आपको हेल्प मिला होगा। और बताई गयी जानकारी से आपके प्रश्नो का उत्तर मिला होगा। इस लेख में मैंने जिक्र किया है कि बैंक में कितने पैसे पर टैक्स लगता है और इनकम टैक्स की लिमिट क्या है? इसके अलावा मैंने टैक्स स्लैब की भी जिक्र किया है। यदि इस लेख से जुड़ा आपका किसी भी प्रकार का कोई प्रश्न है तो कमेंट करके पूछ सकते है।

इनकम टैक्स से जुड़ा अधिक जानकारी के लिए पहले से पब्लिश दूसरे लेख पढ़ सकते है। इससे सम्बन्ध्ति कई आर्टिकल पहले से शेयर किया जा चूका है। यदि इस लेख से हेल्प मिला हो तो शेयर भी करे।

Leave a Comment

error: Content is protected !!