बैंक अकाउंट कैसे खोलते है [ Online और Offline ]

बैंक में खाता खोलने की सभी लोगों की जरूरत होती है। लेकिन अक्सर लोगों को यह जानकारी नहीं होती है। कि बैंक अकाउंट कैसे खोलते है, मोबाइल से बैंक अकाउंट कैसे खोलें, घर बैठे बैंक अकाउंट कैसे खोले, और कौन कौन से दस्तावेज लगते है। इससे सम्बंधित जानकारी मैं आपके साथ लेख में शेयर कर रहा हूँ।

वर्तमान में बैंकिंग सिस्टम काफी एडवांस हो चुका है। अब हम लोगों के द्वारा ऑनलाइन घर से अकाउंट खोला जा सकता है। जिसके लिए कुछ जरूरी दस्तावेज की जरूरत होती है। ग्राहक की निजी दस्तावेज के माध्यम से बैंक में अकाउंट खोला जा सकता है।

बैंक में 1 से अधिक प्रकार के अकाउंट खोले जाते हैं। जैसे सेविंग अकाउंट, करंट अकाउंट, फिक्स डिपॉजिट अकाउंट, रिकरिंग डिपॉजिट अकाउंट, एनआरआई अकाउंट, सैलेरी अकाउंट, आदि प्रकार के अकाउंट बैंक में आसानी से खोले जा सकते हैं।

सबसे ज्यादा बचत खाता बैंक में खोला जाता है। बैंक में खाता खोलने के लिए ग्राहक को दो विकल्प मिल जाते हैं पहला बैंक ब्रांच में जाकर ऑफलाइन अकाउंट खोलना दूसरा घर बैठे मोबाइल से लैपटॉप से या कंप्यूटर से ऑनलाइन अकाउंट खोलना। इस तरह से किसी भी ग्राहक के द्वारा बैंक में अकाउंट खोला जा सकता है।

बैंक अकाउंट कैसे खोलते है – Bank account kaise kholte hai?

बैंक अकाउंट कैसे खोलते है, bank-account-kaise-kholte-hai

आज के इस आधुनिक युग में बैंक में अकाउंट खोलना काफी आसान हो गया है। घर बैठे कभी भी कहीं से अकाउंट किसी भी बैंक में खोला जा सकता है। इसके लिए कुछ जरूरी दस्तावेज की आवश्यकता होती है। जिसका जिक्र हम आगे लेख में करेंगे।

किसी भी बैंक में अकाउंट खोलने से पहले ग्राहक को यह निश्चित करना होगा। कि वह बैंक में कौन सा अकाउंट खोलना चाहता है। जैसे सेविंग अकाउंट, करंट अकाउंट, फिक्स डिपॉजिट अकाउंट, रेकरिंग डिपाजिट अकाउंट, सैलेरी अकाउंट, आदि में से ग्राहक को कोई भी अकाउंट बड़ी आसानी बैंक में ओपन करवा सकता है। 

ग्राहक किसी भी बैंक में अपना अकाउंट ओपन कर सकता है। चाहे वह प्राइवेट बैंक हो या सरकारी बैंक हो यह ग्राहक को चुनना होगा। कि वह किस बैंक एवं किस ब्रांच में अपना अकाउंट खोलना चाहता है। बैंक एवं ब्रांच चुनने के बाद ग्राहक ब्रांच में विजिट करके या ऑनलाइन घर बैठे अकाउंट खोल सकता है।

यह निर्धारित करने के बाद ग्राहक अपना निजी दस्तावेज ले जाकर बैंक से फॉर्म लेकर उसे भरकर उसके साथ अपना निजी दस्तावेज संलग्न करके बैंक में जमा करके अकाउंट ओपन कर सकता है। इस तरह से बैंक में आसानी से अकाउंट खोला जा सकता है.

सेविंग अकाउंट में मिनिमम बैलेंस कितना होना चाहिए?सेविंग अकाउंट में कितना पैसा रख सकते हैं?
एटीएम से कितनी बार पैसे निकाल सकते हैं?सेविंग अकाउंट में कितना ब्याज मिलता है?

ऑनलाइन मोबाइल से बैंक अकाउंट कैसे खोलें?

वर्तमान में अधिकांश बैंकों के द्वारा ऑनलाइन खाता खोलने की सुविधा दी जाती है। चाहे वह सरकारी बैंक हो या प्राइवेट बैंक हो। ऑनलाइन अकाउंट खोलने के लिए कहीं भी आने-जाने की जरूरत नहीं होती है। घर बैठे अकाउंट आसानी से खुलवा सकता है। लेकिन ग्राहक के पास मोबाइल लैपटॉप कंप्यूटर होना जरूरी है। इसके अतिरिक्त इंटरनेट कनेक्शन भी होना जरूरी है।

  • ऑनलाइन अकाउंट खोलने के लिए ग्राहक को सबसे पहले बैंक चुनना होगा। किस बैंक में अपना अकाउंट ओपन करना चाहते है।
  • फिर ग्राहक को संबंधित डाक्यूमेंट्स इकट्ठा करने होंगे।
  • उसके बाद ग्राहक को बैंक के ऑफिशियल वेबसाइट या बैंक के ऑफिशियल मोबाइल एप्लीकेशन पर जाना होगा। जिस बैंक में वह अपना अकाउंट खोलना चाहता है.
  • वेबसाइट और मोबाइल एप्लीकेशन के जरिए ऑनलाइन बैंक में अकाउंट खोला जा सकता है.
  • ऑफिशल वेबसाइट या एप्लीकेशन पर जाने के बाद आपको ऑनलाइन अकाउंट खोलने का ऑप्शन मिल जाएगा। उस पर क्लिक करके स्टेप बाय स्टेप प्रक्रिया को पूरा करके ऑनलाइन अकाउंट खोल सकते है।
  • साथ ही ऑनलाइन वीडियो के माध्यम से केवाईसी पूरा किया जा सकता है। ऑनलाइन केवाईसी करवाने में कोई भी दिक्कत आने पर नजदीकी ब्रांच जाकर केवाईसी पूरा करवा सकते हैं.
  • केवाईसी पूरा होने के पश्चात ग्राहक का बैंक में सफलतापूर्वक अकाउंट खुल जाएगा।
  • ऑनलाइन लेनदेन के लिए मोबाइल बैंकिंग और इंटरनेट बैंकिंग का इस्तेमाल कर सकते हैं। जो अकाउंट खोलने के बाद ग्राहक को बैंक के द्वारा प्रोवाइड करवा दिया जाता है। साथ ही एटीएम कार्ड भी ले सकते हैं और ऑनलाइन लेन देन के अलावा दूसरे बैंकिंग सेवाओं का भी इस्तेमाल कर सकते है।

ऑफलाइन बैंक में खाता कैसे खोलते हैं?

  • ऑफलाइन बैंक में खाता खोलने के लिए सबसे पहले ग्राहक को उस बैंक की ब्रांच में जाना होगा। जिसमें वह अपना अकाउंट ओपन करवाना चाहता है।
  • बैंक ब्रांच जाकर अकाउंट खोलने से संबंधित जानकारी हेल्प डेस्क से ले सकते है। और ब्रांच में अकाउंट कैसे खोलते हैं। पूरी प्रकिर्या समझ सकते है।
  • फिर ग्राहक बैंक से अकाउंट ओपन करने का फॉर्म ले सकते है। उसे सही-सही भर के मांगे गए दस्तावेज साथ में जोड़कर बैंक में जमा कर सकते है।
  • फॉर्म बैंक में जमा करने के बाद कुछ ही घंटों में बैंक में ग्राहक का अकाउंट सफलतापूर्वक ओपन कर दिया जाएगा।
  • उसके पश्चात ग्राहक ऑनलाइन एवं ऑफलाइन लेनदेन के अतिरिक्त डेबिट कार्ड क्रेडिट कार्ड इंटरनेट बैंकिंग मोबाइल इंटरनेट बैंकिंग चेक बुक और अन्य बैंकिंग सुविधाओं का लाभ ग्राहक बैंक से ले सकते है।

बैंक खातों के प्रकार

बैंक में 1 से अधिक प्रकार के खाते खोले जा सकते हैं। लेकिन सबसे ज्यादा बैंक में बचत खाता (Saving Account) खोला जाता है। उसके बाद करंट अकाउंट (Current Account) खोला जाता है। इसके अलावा दूसरे अकाउंट भी खोले जाते हैं जैसे-

  1. सेविंग अकाउंट
  2.  करंट अकाउंट
  3.  सैलेरी अकाउंट
  4.  फिक्स डिपॉजिट अकाउंट
  5.  रिकरिंग डिपॉजिट अकाउंट
  6.  एनआरआई अकाउंट

सेविंग अकाउंट-  आमतौर पर लोगो के द्वारा सेविंग अकाउंट खोला जाता है। जिससे अपने बचे हुए पैसे को बैंक में जमा करके सुरक्षित रख सके। और वक्त जरूरत पड़ने पर उस पैसे को निकाल सके। सेविंग अकाउंट में 2 से 3 फीसदी का ग्राहक को वार्षिक ब्याज भी मिलता है। एक व्यक्ति या एक से अधिक व्यक्ति साथ में अकाउंट खोल सकते हैं।

करंट अकाउंट- यह अकाउंट आमतौर पर व्यवसायिक के द्वारा ओपन किया जाता है। करंट अकाउंट के जरिए से 1 दिन में एक से अधिक बार लेन-देन कर सकते हैं। करंट अकाउंट में लेन-देन से जुड़ी कोई भी प्रॉब्लम नहीं होती है लेकिन बचत खाता में एक से अधिक बार 1 दिन में लेनदेन करने पर मुश्किल होती है।

सैलेरी अकाउंट- उन कर्मचारियों के द्वारा खोला जाता है। जो किसी कंपनी, कार्यालय, संस्था, में नौकरी करते हैं. जिनकी सैलरी बैंक में ट्रांसफर की जाती है। उन्हें एक सैलरी अकाउंट की आवश्यकता होती है। और उनके द्वारा एक सैलरी अकाउंट किसी भी बैंक में ओपन किया जाता है। यह एक तरह से सेविंग अकाउंट ही होता है।

फिक्स डिपॉजिट अकाउंट- निवेश का सबसे सुरक्षित और पॉपुलर विकल्प है। जिसमें ग्राहक के द्वारा एक निश्चित समय अवधि के लिए निश्चित राशि को जमा किया जाता है। जिस पर सुनिश्चित ब्याज दर मिलता है. इसे एफडी के नाम से भी जाना जाता है। एफडी 7 दिन से लेकर 10 साल तक किया जा सकता है। जिस पर पहले से निर्धारित ब्याज दर ग्राहक को मिलता है.

रिकरिंग डिपॉजिट अकाउंट- आरडी भी निवेश का काफी अच्छा और सुरक्षित ऑप्शन है। जिसे निश्चित समय अवधि के लिए चुना जा सकता है। आरडी 6 महीने से 10 साल तक करवाया जा सकता है। निश्चित अवधि चुनने के बाद किस्तों में राशि जमा करनी होती है। अवधि पूरा होने पर निश्चित ब्याज दर ग्राहक को मिलता है.

एन आर आई अकाउंट- जो भारतीय निवासी नहीं है। अपना अकाउंट बैंक में ओपन कर सकते हैं। लेकिन वह एक एनआरआई अकाउंट के रूप में होगा। एन आर आई का मतलब non-resident india वो भी अपना अकाउंट बैंक में खोल सकते है।

बैंक अकाउंट खोलने के लिए आवश्यक दस्तावेज

बैंक में अकाउंट खोलने के लिए कई जरूरी दस्तावेज की जरूरत होती है। जो ग्राहक के पास होना अनिवार्य है। उसी के आधार पर ग्राहक अपना अकाउंट बैंक में ओपन करवा सकता है। आइए जानते हैं कौन कौन से दस्तावेज की आवश्यकता होती है.

  1. पहचान प्रूफ : (आधार कार्ड, वोटर कार्ड, ड्राइविंग लाइसेंस,)
  2. पता प्रूफ : (वोटर कार्ड, बिजली बिल, टेलीफोन बिल राशन कार्ड,)
  3.  पैन कार्ड
  4.  पासपोर्ट साइज फोटो
  5. व्यवसाय से जुड़े दस्तावेज (चालू खाता खोलने के लिए)
  6.  एनआरआई अकाउंट के लिए दूसरे दस्तावेज की आवश्यकता होगी  

बैंक अकाउंट कैसे खोले स्टेप वाई स्टेप

स्टेप्सपूरी जानकारी
स्टेप 1सबसे पहले नजदीकी बैंक ब्रांच में जाये और वहां से अकाउंट खोलने का फॉर्म निशुल्क मिल जाएगा। उसे लेले। उसे सही-सही भरें और संबंधित दस्तावेज उनके साथ जोड़कर बैंक में जमा करदें। 
स्टेप 2फार्म में निजी जानकारी के साथ पेरेंट्स की जानकारी नॉमिनी और संबंधित जानकारी भरनी होगी। उसके साथ दस्तावेज भी संलग्न करना होगा।
स्टेप 3फॉर्म कंप्लीट करने के बाद बैंक में जमा कर दें। कुछ ही समय में बैंक में अकाउंट खुल जाएगा। अकाउंट खुल जाने के बाद आवेदक अकाउंट से लेनदेन की प्रक्रिया और बैंकिंग सुविधाओं का लाभ उठा सकता है।
स्टेट 4बैंक में अकाउंट खुल जाने के बाद मोबाइल बैंकिंग, नेट बैंकिंग, डेबिट कार्ड, क्रेडिट कार्ड, चेक बुक, पर्सनल लोन, आदि सुविधाओं के अलावा बैंकिंग की दूसरी सुविधाओं का भी लाभ ले सकते हैं।
समाप्त

इस लेख में मैंने आपको यह बताने का प्रयास किया है कि बैंक में ऑनलाइन और ऑफलाइन बैंक अकाउंट कैसे खोलते है? और उससे संबंधित स्टेप बाय स्टेप जानकारी मैंने प्रस्तुत किया है।

आशा करते हैं मेरे द्वारा शेयर की जानकारी से आपको लाभ मिला होगा। और आपके द्वारा खोजे जा रहे प्रश्नों का उत्तर भी मिला होगा। अब आप आसानी से बैंक में अकाउंट ओपन कर पाएंगे।

ऐसी जानकारी के लिए हमारे ब्लॉग पर एक से अधिक बैंक में अकाउंट खोलने से जुड़ी जानकारी, बैंक बैलेंस चेक करने से जुड़ी जानकारी, आर्टिकल के रूप में पब्लिश है अधिक जानकारी के लिए उन आर्टिकल को भी पढ़ सकते हैं। इस लेख से हेल्प मिला हो। तो और लोगों तक भी शेयर करें।

Leave a Comment

error: Content is protected !!