ATM क्या है काम कैसे करता है?

क्या आप जानते है कि एटीएम क्या है इससे पैसे कैसे निकलते है अब तो यहाँ तक सम्भव हो गया है कि एटीएम (ATM) से पैसे अकाउंट में भी ट्रांसफर (Transfer) किए जा सकते है तो ऐसे विषय के बारे में सम्पूर्ण जानकारी देने की कोशिश करेंगे हम यहाँ सिर्फ एटीएम के बारे में ही जानेंगे परन्तु इसके साथ ये भी जानेंगे की इसको इस्तेमाल कैसे करते है और इसमें किन किन सावधानिया को बरतनी चाहिए है इन सभी विषयो पे विस्तृत रूप पर वार्तालाब करेंगे।

What is atm in hindi-atm kya hai
ATM in Hindi

जब बैंक की शुरुआत हुई थी तब पैसे निकालने अथवा डालने बैंक ही जाना पडता था जिससे लोगो को काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ता था दिक्कते तब होती थी जब बैंक बंद या हड़ताल हो जाता था तब काफी दिक्कत होती थी तथा वहा जाने के बाद एक चेक बुक (Cheque Book) ले जाना पड़ता था यही सब दिक्कतों को दूर करने के लिए एटीएम (ATM) की सुविधा की और एटीएम का निर्माण किया गया मगर तब भी और आज भी कुछ लोग ऐसे है जिनको एटीएम के बारे में सम्पूर्ण जानकारी ना होने के कारण वो आज भी वही पुरानी अवधारणा का प्रयोग करते है तथा उनको लगता है की एटीएम से पैसे गायब न हो जायें परंतु ऐसा कुछ हैं नहीं ये सब जानकारी में कमी होने के कारण है।

@Click Here More Info
1. Cheque क्या है और चेक के प्रकार कितने होते है?
2. डेबिट कार्ड और क्रेडिट कार्ड मे अन्तर क्या अन्तर होता है?
3. NEFT क्या होता है NEFT से पैसे कैसे भेजे?

आज हम इन सारी गलत फहमी को दूर करेंगे और ये भी बताएँगे की एटीएम क्या है और इसे कैसे इस्तेमाल करते है और एटीएम काम कैसे करता है इन सब विषयो पे विस्तार पूर्वक अध्ययन करेंगे और आपकी सारी गलत फहमी को दुर करेंगे और मुझे विश्वास है की आप मेरी दी गयी जानकारी से पूरी तरह से सक्षम होंगे और आप भी एटीएम का प्रयोग करेंगे। 

एटीएम क्या है ATM in Hindi

एटीएम (ATM) का फुल फॉर्म की बात करे तो (Automatic Teller Machine) होता है ये एक (Electronic Teller Machine) है जिसका  प्रयोग सिर्फ बैंक के द्वारा कस्टमर (Customer) को उपयोग करने के लिए दिया जाता है इसमें (Account) सम्बन्धी ट्रांसेक्शन किये जाते है।

What is atm in hindi-atm kya hai
ATM in Hindi

यहाँ कस्टमर (Costumer) अपने (Account) को एक्सेस करने के लिए एक एक स्पेशल टाइप का (Plastic Card) का प्रयोग किया जाता है जिसमे एक मैग्नेटिक स्ट्रिप (Magnetic Strip) होती है जिसमे आइडेंटिफिकेशन (Identification) कोड होता है तो जब एटीएम यूजर अपना एटीएम कार्ड मशीन में इम्पोर्ट करता है तो मशीन आटोमेटिक उस कोड एक्सेस (Access) कर लेता है फिर अपना ट्रांसक्शन करना प्रारम्भ किया जाता है।

एटीएम ATM का इतिहास History of ATM

ATM (Automatic Teller Machine) का अविष्कार (John Shepherd-Barron) ने सन 1960 मे किया था ऐसे हिंदी स्वचालित मशीन भी कहते है। आघुनिक एटीएम  की खोज 27 जून 1967 में सर्वप्रथम लंदन के बर्केलो बैंक ने किया था सर्वप्रथम एटीएम को बकोग्राफ़ नाम से जाना जाता था।

बर्रन (Barron) ने ऐसे 6 डिजिट (Digit) के कोड का बनाया था मगर उनकी पत्नी को याद न रहने के कारण उन्हें 4 (Digit) अंक का कोड बनाया गया इसी लिए आज तक 4 (Digit) अंक का ही कोड रहता है। ये सब बर्रन की पत्नी के वजह से 4 (Digit) का कोड होता है

ATM से पैसे  निकाले Withdraw Money in ATM Hindi 

एटीएम की जानकारी तथा उसके इतिहास को जानने के बाद ये जान लेना अति महत्वपूर्ण होगा की इसमें पैसे कैसे निकले जाते है तथा कैसे डाले जाते है हम इस एटीएम के बारे में सम्पूर्ण जानकारी देने की कोशिश करेंगे।

1. सबसे पहले आपको अपने पास वाले एटीएम मशीन को ढूंढ़ लेना होगा तथा अगर हो सके तो अपने जिस बैंक का खाता है उसी बैंक का एटीएम को ढूंढे अन्यथा तो सभी बैंको में लग जाता है। और आसानी निकल भी जाता है जो अगर आपके ही बैंक का एटीएम है तो और बेहतर होगा।

2. अब अपने एटीएम कार्ड को मशीन में डाल दीजिये इस प्रक्रिया की विधि आपको एटीएम मशीन में निर्देश हो जाएगा तथा अपने एटीएम को सीधी तरीके से डाले तथा यहाँ जरूरी है कि वह हरी लाइट जलती रहनी चाहिए एटीएम को सीधी तरीके से डाले वर्ना मशीन एटीएम को रीड नहीं कर पायेगा जब रीड नहीं करेगा तो उसमे ना ग्रीन लाइट जलेगी और न ही लाल लाइट जलेगी आपको दुबारा इंसर्ट करने के ली कहा जायेगा।

3. एक बार एटीएम  में कार्ड रीड करने के बाद आपको भाषा का चयन करना पड़ता है जिसमे हिंदी और इंग्लिश (English) दोनों भाषाओ क प्रयोग होता है।

What is atm in hindi-atm kya hai
ATM in Hindi

4. अब एटीएम भाषा चयन करने के बाद एटीएम एक पिन मांगेगा वो 4 अंक का पिन वही डालना होगा जो अपने अपना एटीएम बनाते वक्त लिया था तथा जो एटीएम के साथ मिला था ये वो पिन है जो किसी के साथ शेयर नहीं करते है।

5. अब एक अपना पिन डालने के बाद आपको एक पेज और मिलेगा जो आपको ये बताएगा की आपका कौन सा अकाउंट है जैसे करंट अकाउंट तथा सेविंग सेविंग अकाउंट इत्यादि आपका जो भी बैंक में अकाउंट हो उसका चयन करते है।

6. जब अपने अपना अकाउंट चुन लिया है तो आपको अमाउंट लिखना है और इसमें यह ध्यान देना होता है कि
हर बैंको का अलग अलग राशि होती है कि आप इतना एक बार में निकल सकते हैं।

7. एक बार राशि डालके ओके करने के बाद राशि कुछ सेकण्ड के एटीएम मशीन के नीचे से निकल जाता है।

ATM की विशेषताएं ATM Features

1. एटीएम एक प्लास्टिक का कार्ड तथा इसका रंग कई प्रकार का होता है तथा इसमें मैग्नेटिव स्ट्रिप लगा होता है इसमें आपके अकाउंट की सारी जानकारी लिखी होती है।
2. एक बार एटीएम मशीन डालने से मशीन इसमें एकत्रित सारा डाटा पढ़ लेता है।
3. एटीएम सारे शहर में लगभग सब जगह मिल जाता है।
4. सबसे बड़ी बात ये है कि एटीएम में एक 4 अंक का पिन का इस्तेमाल होता हैं जिससे अगर एटीएम खो भी जाए तो कोई दूसरा व्यक्ति उस एटीएम को प्रयोग नहीं कर सकता है।
5.  एटीएम बहुत तेज़ कार्य करता है।
6.  इसकी सेवा 24 HOUR रहती है।

नोट:-मै उम्मीद करता हु कि आपको इस ATM क्या है काम कैसे करता है पोस्ट से आपको बहुत हेल्प मिली होगी और एटीएम (ATM) से सम्बंधित सारे प्रॉब्लम दूर हो गये होंगे और ATM के बारे बेहतर जानकारी मिली होगी तो ऐसे पोस्ट को पढ़ने के लिए हमारे फेसबुक और इंस्टाग्राम के पेज को लाइक और फॉलो करे और सबसे पहले जानकारी पाये और आर्टिकल को शेयर करे।
(धन्यवाद्)

4 thoughts on “ATM क्या है काम कैसे करता है?”

Leave a Comment

error: Content is protected !!