एरोनॉटिकल इंजीनियर कैसे बने?

इस आर्टिकल में हम लोग जानेगे की एरोनॉटिकल इंजीनियर कैसे बने. एयरोनॉटिकल इंजीनियरिंग क्या है. aeronautical engineering meaning in hindi. क्या होता है इसके लिए शैक्षणिक योग्यता क्या होना चाहिए इन सवालो के अतिरिक्त भी कुछ अन्य सवाल पर भी विस्तृत जानकारी प्राप्त करेंगे।

Aeronautical Engineer का अर्थ वैमानिक अभियांत्रिक होता है अधिकांश छात्र को इस विषय में व्यापक जानकारी नहीं होगी फिर भी यह चिंता का विषय नहीं है क्योकि मैं इस विषय की विस्तृत जानकारी आपको दूंगा बस आपको यह लेख अंत तक पढ़ना होगा ताकि पूरी जानकारी आपको समझ में आ जाये।

ज्यादातर छात्र अपना करियर डॉक्टर, इंजीनियर, पुलिस, बैंक मैनेजर, एयरहोस्टेस, या इसके अतिरिक्त कम्पनी सेक्रेटरी बनकर जीवन व्यतीत करना चाहते है क्योकि यह भारत के सबसे पॉपुलर पद में शामिल है इसी लिए छात्र इन क्षेत्रो में पढाई करते है।

वैमानिक इंजीनियरो का कार्य तेजी से बढ़ता जा रहा है और इस फील्ड में रोजगार अवसर भी बढ़ रहे है इन्ही वजहों से छात्र यह क्षेत्र चुन रहे है यदि आप भी इसी क्षेत्र में अपना करियर बनाने के बारे सोच रहे है या इस कोर्स की पढाई कर रहे तो यह आर्टिकल आपको मदद कर सकता है।

एयरोनॉटिकल इंजीनियरिंग क्या है?

हम सभी को ये पता है की हर क्षेत्र में एक इंजीनियर की आवश्यकता है क्योकि उस क्षेत्र का इंजीनियर बारीकी से चीजों को समझ सकता है जैसे एक इमारत बनाने में सिविल इंजीनियर का कार्य होता है वाहन (Vihcle) बनाने या डेवलप करने में एक मकैनिकल इंजीनियर की आवश्यकता होती है सॉफ्टवेयर इंजीनियर का कार्य सॉफ्टवेयर बनाना कमिया आने पर सुधार करना एक इंजीनियर का कार्य होता है।

उसी प्रकार से (Aeronautical Engineer) वैमानिक अभियंता का कार्य हवाई जहाज के यंत्रो को मेन्टेन करना या डेवेलोप करना इलेक्ट्रॉनिक यंत्रो का जाँच करना ईंधन का फिर भरना हवाई जहाज के उपकरणों को बनाने या डिज़ाइन करना समय के अंतराल यंत्रो की जाँच करना इत्यादि कार्य होते है।

एयरोनॉटिकल इंजीनियर बनने के लिए एयरोनॉटिकल इंजीनियरिंग की पढाई करनी पड़ेगी जिसकी पढाई और टैनिंग पूरी करने के बाद आप एयरोनॉटिकल इंजीनियर बन सकते है जिसकी बात आगे के लेख में जानेगे।

पढ़े.

एरोनॉटिकल इंजीनियर कैसे बने?

  • हाई स्कूल : वैमानिक अभियंता बनने के लिए आप 10th से ही मैथ, साइंस, और इंग्लिश, विषय पर खास फोकस करे ताकि आपको आगे की पढाई में आसानी हो वैमानिक अभियंता बनने में आपको सहायता मिले।
  • इंटरमीडिएट : यदि आपने हाई पास कर लिया है और अब बारी है इंटरमीडिएट की पढाई करने की तो आप पीसीएम यानि फिजिक्स केमिस्ट्री मैथमेटिक्स ही चुने मन लगाकर पढ़े और 60% मार्क्स से इंटरमीडिएट उत्तीर्ण करे।
  • ग्रेजुएट लेबल एंट्रेंस एग्जाम : 12th पास कर लेने के बाद एयरोनॉटिकल इंजीनियरिंग के लिए B.E (Bachelor of Engineer) या B.tech कोर्स के एंट्रेंस एग्जाम की तैयारी करे इन कोर्सो में प्रवेश लेने के लिए ये AIEEE, SIT, HITSEEE, IIA, IIST, एंट्रेंस एग्जाम दे सकते है।
  • पोस्ट ग्रेजुएट लेबल एंट्रेंस एग्जाम : यदि आप एयरोनॉटिकल में पोस्ट ग्रेजुएशन करना चाहते है तो M.E (Master Engineer) या M.tech कोर्स के लिए एंट्रेंस एग्जाम दे सकते है इसमें GAT पास करके एयरोनॉटिकल इंजीनियरिंग से पोस्ट ग्रेजुएट हो सकते है।
  • एंट्रेंस एग्जाम पास करने के बाद : यदि आप एंट्रेंस एग्जाम उत्तीर्ण कर लेते है और BE और BTech कोर्स में प्रवेश मिल जाता है तीन से चार वर्ष में ट्रेनिंग पूरी करके डिग्री मिल जाएगी।
  • नौकरी के अप्लाई करे : एयरोनॉटिकल इंजीनियरिंग कोर्स पूरा करके डिग्री प्राप्त करने के बाद आप जॉब के लिए राष्ट्रीय अन्तर्राष्टीय सरकारी और निजी एयरलाइन्स में अप्लाई कर सकते है और नौकरी प्राप्त कर सकते है।

एयरोनॉटिकल इंजीनियर के लिए शैक्षणिक योग्यता।

वैमानिक अभियंता की पढाई करने के लिए न्यूनतम शैक्षणिक योग्यता 12 वी पास होना ज़रूरी है।

इंटरमीडिएट में भौतिक विज्ञानं रसायन विज्ञानं और मैथेमेटिक्स विषय से ही उत्तीर्ण करे।

12 वी में न्यूनतम 60% मार्क्स ज़रूरी है तभी आप एंट्रेंस एग्जाम के लिए अप्लाई कर सकते हो अन्यथा आवेदन नहीं कर सकते है।

एंट्रेंस एग्जाम में इन विषय से प्रश्न पूछे जाते है।

  • Physics
  • chemistry
  • Mathematics

एरोनॉटिकल इंजीनियर के लिए आयु।

हर कोर्स को पूरा करने के लिए एक आयु सीमा तय की जाती है वही एयरोनॉटिकल इंजीनियरिंग कोर्स करने के लिए न्यूनतम आयु 17 और अधिकतम 25 वर्ष होना चाहिए तथा आरक्षित वर्गो में सामिल उमीदवार को 5 साल की आयु सीमा में छूट मिल जाती है।

एरोनॉटिकल इंजीनियरिंग फीस।

एयरोनॉटिकल इंजीनियरिंग की फीस की बात करे तो यह हर कॉलेज में अलग अलग होता है लेकिन एक एवरेज फीस 5000 से 5 लाख रूपये तक पुरे चार साल के कोर्स की फीस हो सकती है।

एयरोनॉटिकल इंजीनियरिंग कॉलेज इन इंडिया।

कॉलेज का नामकॉलेज का पता
राइट ब्रदर्स इंस्टिट्यूट ऑफ़ एयरोनॉटिकल इंजीनियरिंगनई दिल्ली
मद्रास इंस्टिट्यूट ऑफ़ टेक्नोलॉजीचेन्नई
एमएनआर कॉलेज ऑफ़ इंजीनियरिंगहैदराबाद
एमबीजे इंजीनियरिंग कॉलेजबैंगलोर
मणिपाल इंस्टिट्यूट ऑफ़ टेक्नोलॉजीमणिपाल
जैन यूनिवर्सिटीकर्नाटक
हिंदुस्तान इंस्टिट्यूट ऑफ़ इंजीनियरिंग टेक्नोलॉजीचेन्नई
स्कूल ऑफ़ एरोनॉटिक्सद्वारका गुजरात
नेहरू कॉलेज ऑफ़ इंजीनियरिंग एंड रिसर्च सेंटरत्रिशूर
पंजाब इंजीनियरिंग कॉलेजचंडीगढ़
इंस्टिट्यूट ऑफ़ एरोनॉटिक्स एंड इंजीनियरिंगभोपाल
पार्क कॉलेज ऑफ़ इंजीनियरिंग एंड टेक्नोलॉजीकोयम्बटूर
टैगोर इंजीनियरिंग कॉलेजचेन्नई
मोहम्मद सेठक इंजीनियरिंग कॉलेजरामनाथापुरम
गुरु ग्राम इंस्टिट्यूट ऑफ़ एयरोनॉटिकल इंजीनियरिंग एंड टेक्नोलॉजीगुड़ंगाव

एरोनॉटिक्स इंजीनियर के लिए अवसर।

अगर आप सरकारी एयरोनॉटिकल इंजीनियर बनना चाहते है तो इन संस्थान के द्वारा आप की नियुक्ति हो सकती है।

  • डीआरडीओ – डिफेन्स रिसर्च एंड डेवेलप लेबोरेटरीज
  • एचएएल – हिंदुस्तान एयरोनॉटिकल लिमिटेड
  • इसरो – इंडियन स्पेर्स रिसर्च आर्गेनाइजेशन
  • रक्षा मंत्रालय भारत सरकार
  • नेशनल एयरोनॉटिकल लेबोरटरी
  • सिविल एविशन डिपार्टमेंट

इन संस्थान के अलावा भी एरोनॉटिकल इंजीनियर अपना करियर बना सकते है।

  • एयरलाइन
  • फ्लाइंग क्लब्स
  • प्राइवेट एयरलाइन
  • एयरक्राफ्ट मैन्युफैक्चर
  • कारपोरेशन
  • एयरोनॉटिकल लेबोरेटरीज
  • एयरोनॉटिकल डेवलपमेंट स्टैब्लिशमेंट

इन संस्थानों को ज्वाइन करके अपने करियर की शुरुआत कर सकते है।

एयरोनॉटिकल इंजीनियर की सैलरी।

अधिकतर छात्रों की पढाई इस सवाल पर निर्भर करता है की कितना वेतन प्राप्त कर सकते है एयरोनॉटिकल इंजीनियर बनकर तो इस सवाल का जवाब देने वाला हूँ।

एयरोनॉटिकल इंजीनियर राष्टीय अंतरराष्ट्रीय सरकारी और गैर सरकारी एयरलाइन्स में जॉब प्राप्त कर सकते है और इन एयरलाइन्स की वेतन में काफी अंतर हो सकता है।

लेकिन एक एवरेज वेतन प्राप्ति की बात करेंगे तो सरकारी एयरलाइन में वैमानिक अभियंता की वेतन 25 हजार से 35 हजार रूपये प्रति माह हो सकता है यही निजी एयरलाइन में इंजीनियर का वेतन 50 हजार 1.50 लाख रूपये प्रति माह वेतन प्राप्त कर सकते है।

इस प्रकार से वेतन वैमानिक अभिंयता की होती है लेकिन सरकारी एरोनॉटिक्स इंजीनियर के मुकाबले प्राइवेट एयरलाइन ज्यादा सैलरी देती है।

आशा है.

कि यह लेख आपको पसंद आया होगा तथा यह लेख एरोनॉटिक्स अभिंयता से जुड़े सवालो को हल किया होगा इस आर्टिकल में एरोनॉटिकल इंजीनियर कैसे बने. सैलरी कितना प्राप्त होता है. इसके लिए योग्यता क्या होना चाहिए फीस कितनी होता है जैसे प्रश्नो का उत्तर इस लेख में बताया गया है।

यदि इस आर्टिकल से सम्बंधित कोई प्रश्न हो या इसके अतिरिक्त कोई प्रश्न हो तो आप पूछ सकते है उसका जवाब मैं आपको अवश्य दूंगा ये आर्टिकल आपके aeroplane engineer kaise bane. के प्रश्नो को हल किया होगा अगर लाभकारी रहा हो तो इसे सोशल प्लेटफार्म पर मित्रो के साथ साझा करे ताकि उन्हें इस यूज़फूल जानकारी कुछ सिखने को मिले।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!