10 वीं के बाद मेडिकल कोर्स | 10 वीं के बाद कोर्स की लिस्ट।

बहुत सारे विद्यार्थी 10वी के बाद जॉब ओरिएंटेड कोर्स करना चाहते है जिसे पूरा करके वह किसी फील्ड में जॉब प्राप्त कर सके लेकिन अधिकतर स्टूडेंट को कई डिप्लोमा और सर्टिफिकेट कोर्सेज की जानकारी नहीं होती है इस लेख में मैं उन स्टूडेंट के साथ 10 वीं के बाद मेडिकल कोर्स की लिस्ट शेयर कर रहा हूँ इन कोर्सो को 10वी के बाद करके अपना करीयर सेट कर सकते है।

अगर आप मेडिकल क्षेत्र से जुड़े के कोर्स करना चाहते है और इसी क्षेत्र में करियर बनाना चाहते है तो आपको यह लेख काफी हेल्प करेगा इस लेख में मेडिकल से जुड़े उन कोर्सो की जानकारी देने वाला हूँ जो Student 10th पास करने के बाद कर सकता है उसके बाद सीधा मेडिकल क्षेत्र में नौकरी प्राप्त कर सकता है।

अधिकतर विद्यार्थी वही कोर्स चुनते है जो उनके आस पास रहने वाले विद्यार्थी करते है जो कोर्स ज्यादा पॉपुलर होता है जिन कोर्सो की अधिक विद्यार्थी पढाई करते है वही कोर्स करना पसंद करते है लेकिन कई ऐसे भी डिप्लोमा कोर्स है जो विद्यार्थी 1 वर्ष से 2 वर्ष के बीच में पूरा करके मेडिकल क्षेत्र में काम के लिए जगह बना सकते है।

परन्तु स्टूडेंट इन डिप्लोमा कोर्स को करते ही नहीं है क्योकि जो उनके आस पास रहने वाले विद्यार्थी करते है वही कोर्स करना पसंद करते है कई स्टूडेंट ऐसे कोर्स करना भी चाहते है लेकिन उन्हें इन कोर्सो की अधिक जानकारी नहीं होती है इसलिए मैं इस आर्टिकल के माध्यम से अपने पाठको को इन्ही कोर्सो की पूर्ण जानकारी देने वाला हूँ।

10 वीं के बाद मेडिकल कोर्स ।

10th-ke-bad-medical-course

हर विद्यार्थी चाहता है की Short Term में कोई ऐसा कोर्स करे जिससे नौकरी लग जाये और उस क्षेत्र में अच्छी ग्रोथ के साथ अच्छी सैलरी भी मिले इसके लिए मेडिकल कोर्स काफी लोकप्रिय है। जो स्टूडेंट Medical Field में ऐसा कोर्स करना चाहते है तो इन स्टूडेंट को मेडिकल में डिप्लोमा कोर्स चुनना चाहिए।

पैरामेडिकल में करियर बनाने के लिए बहुत सारे कोर्स अवेलेबल है जिसमे कई कोर्सो में 10वी पास करने के बाद प्रवेश ले सकते है लेकिन कुछ और कोर्स है जिसमें 12वी पास करने के बाद प्रवेश ले सकते है अगर आप 10वी के बाद मेडिकल कोर्स करना चाहते है तो इस लेख से अपने इंटरेस्ट के मुताबिक कोर्स चुने।

डिप्लोमा कोर्स को कम समय में पूरा कर सकते है डिप्लोमा कोर्स 6 माह, 1 वर्ष, 2 वर्ष, और 3 वर्ष, में पूरा कर सकते है यही कारण है इन कोर्स में विद्यार्थी अधिक दिलचस्पी लेते है मेडिकल डिप्लोमा कोर्स काफी पॉपुलर भी है क्योकि यह कोर्स जॉब ओरिएंटेड होते है।

मेडिकल क्षेत्र में करियर बनाने के लिए कोई ज़रूरी नहीं है की विद्यार्थी एमबीबीएस कोर्स करके डॉक्टर बने इसमें कई अलग अलग विभाग होते है उन विभागों में करियर सेट करने के लिए डिप्लोमा कोर्स और ग्रेजुएशन कोर्स कराये जाते है।

10 वीं के बाद कोर्स।

  1. Diploma in Nursing Care Assistant (DNCA)
  2. Nursing Care Assistant (NCA Certificate)
  3. Diploma in Ayurvedic Nursing (DAN)
  4. Diploma in Rural Health Care (DRHC)
  5. Home Based Health care (HBHC Certificate)
  6. Diploma in ECG Technology (DECGT)
  7. Diploma in Dialysis Techniques (DDT)
  8. MRI Techniques (MRIT)
  9. Diploma X-Ray Technology (DXRT)
  10. Diploma in Operation Theatre Technology (DOTT)
  11. General Duty Assistant (Certificate course)

डिप्लोमा इन नर्सिंग केयर असिस्टेंट (DNCA)

नर्सिंग अस्सिस्टेट यह एक डिप्लोमा कोर्स है ये नर्स की सहायता के लिए मेडिकल हॉस्पिटल में पदस्थ होते है इसके लिए विद्यार्थी को (DNCA) कोर्स करना पड़ता है यह कोर्स 1 से 2 वर्ष के बीच अवधि का होता है इस कोर्स को दसवीं पास विद्यार्थी आसानी से कर सकता है इस कोर्स की फीस की बात करे तो 1500 रूपये से लेकर 1.50 लाख रूपये तक हो सकती है। फीस अलग अलग कॉलेज में कम ज्यादा हो सकती है।

नर्सिंग केयर असिस्टेंट (NCA Certificate)

ये एक सर्टिफिकेट नर्सिंग केयर असिस्टेंट कोर्स है इस कोर्स में विद्यार्थी दसवीं उत्तीर्ण करके प्रवेश लेकर पढाई कर सकता है ये सेम डिप्लोमा इन नर्सिंग केयर असिस्टेंट कोर्स जैसा है लेकिन यह एक सर्टिफिकेट कोर्स है यह कोर्स 6 से 12 महीने में पूरा हो जायेगा और डिप्लोमा कोर्स के मुकाबले इस कोर्स में कम फीस भी लगेगा।

डिप्लोमा इन आयुर्वेदिक नर्सिंग (DAN)

यह कोर्स आयुर्वेदिक क्षेत्र से जुड़ा है ये आयुर्वेदिक क्षेत्र का नर्सिंग डिप्लोमा कोर्स है इस कोर्स में विद्यार्थी को आयुर्वेदिक क्षेत्र से जुड़े विषय की पढाई कराई जाती है यह कोर्स 12 महीने का है इस कोर्स में 10वी पास स्टूडेंट प्रवेश ले सकता है ये एक डिप्लोमा कोर्स है इसकी फीस 50 हजार रूपये तक हो सकती है।

डिप्लोमा इन रूरल हेल्थ केयर (DRHC)

इस कोर्स में स्टूडेंट को सिखाया जाता है की फर्स्ट ट्रीटमेंट, सेनिटाईज़ेशन, और पेशेंट की बेसिक बीमारियों का उपचार और रोकथाम कैसे करना है इस कोर्स को रूरल एरिया के स्टूडेंट करना अधिक पसंद करते है जिससे ग्रामीण क्षेत्र में पेशेंट की छोटी बीमारियों की आसानी से इलाज निकाल पाए यह एक वर्ष का कोर्स है ये डिप्लोमा कोर्स है इस कोर्स की फीस 2 लाख रूपये तक हो सकती है।

होम बेस्ड हेल्थ केयर (HBHC Certificate)

ये एक सर्टिफिकेट कोर्स है इस कोर्स को विद्यार्थी 10वी उत्तीर्ण करके पूरा कर सकता है ये कोर्स 6 महीना से 2 साल के बीच तक अवधि के होते है इस अवधि में विद्यार्थी होम बेस्ड हेल्थ केयर कोर्स को पूरा सकता है इस कोर्स में बीमारियों का रोकथाम करने और उपचार करने सम्बंधित ज्ञान दी जाती है।

डिप्लोमा इन ईसीजी टेक्नोलॉजी (DECGT)

अगर विद्यार्थी ईसीजी टेक्नोलॉजी का कोर्स चुनता है तो उसे ECG Machine से समबन्धित जानकारी के साथ Heart Rate और Cardiac Rhythm की जानकारी दी जाती है इससे हार्ट डॉक्टर को पेशेंट के बीमारियों की स्थिति जानने में मदद मिलती है यह एक डिप्लोमा कोर्स है इस कोर्स में 10वी के बाद प्रवेश लिया जा सकता है ये 2 वर्ष का कोर्स है इस कोर्स को पूरा करके विद्यार्थी अपना भविष्य इसी क्षेत्र में बना सकता है।

डिप्लोमा इन डायलिसिस टेक्निक्स (DDT)

यह एक डिप्लोमा कोर्स है ये दो वर्ष का कोर्स होता है इस कोर्स की फीस की बात करे तो 15000 से 55000 रूपये तक हो सकता है इस कोर्स में विद्यार्थी को किडनी में जमा अपशिष्ट पदार्थ (Waste Material) को साफ़ करना और रक्त का शुद्धिकरण करना सिखाया जाता है जब किडनी में अधिक वेस्ट मटेरियल एकत्र हो जाता है जिसका शुद्धिकरण एक डाइलिसिस के द्वारा किया जाता है।

डिप्लोमा इन एक्स-रे टेक्नोलॉजी (DXRT)

इस कोर्स में विद्यार्थी को एक्स-रे मशीन की टेक्नोलॉजी से सम्बंधित और एक्स रे करने से सम्बंधित जानकारी दी जाती है इस कोर्स में काफी विद्यार्थी दिलचस्पी लेते है इस कोर्स को विद्यार्थी 10 वी के बाद कर सकते है यह दो वर्ष का कोर्स है इस कोर्स को पूरा करके एक्स-रे सम्बंधित विद्यार्थी जानकारी प्राप्त कर सकता है इस कोर्स में 2 से 3 लाख रूपये की फीस लग जाती है।

एमआरआई टेक्निक्स (MRIT)

इस कोर्स में विद्यार्थी एमआरआई मशीन की टेक्नोलॉजी को सीखता है और एमआरआई रिपोर्ट एमआरआई कैसे करते है इसकी जानकारी विद्यार्थी सीखता है यह एक सर्टिफिकेट कोर्स है इस कोर्स को 3 से 12 महीने में पूरा कर सकते है इस कोर्स में दसवीं के बाद प्रवेश लेकर पढाई कर सकते है।

डिप्लोमा इन ऑपरेशन थिएटर टेक्नोलॉजी (DOTT)

इस कोर्स में विद्यार्थी ऑपरेशन थिएटर में इस्तेमाल किये जाने वाले टेक्नोलॉजी और उपकरण की जानकारी प्राप्त करता है इस कोर्स को पूरा करके विद्यार्थी डॉक्टर के साथ रहकर डॉक्टर की वोटी में हेल्प करता है ये कोर्स भी पैरामेडिकल से जुड़ा हुआ है इस कोर्स को आप दो वर्षो में पूरा करके हॉस्पिटल में नौकरी ले सकते है।

जनरल ड्यूटी असिस्टेंट (GDA Certificate)

जनरल ड्यूटी असिस्टेंट कैंडिडेट को नर्स भी कह सकते है इस कोर्स को करके कैंडिडेट हॉस्पिटल नर्सिंग होम क्लिनिक में नौकरी प्राप्त कर सकता है ये एक सर्टिफिकेट कोर्स है इस कोर्स को विद्यार्थी सिर्फ 4 महीने में पूरा करके नौकरी प्राप्त कर सकता है इस कोर्स की फीस 2 से 5 हजार के बीच हो सकती है।

10 वीं के बाद डिप्लोमा कोर्स सूची।

अगर आप दसवीं पास कर चुके है और आप मेडिकल क्षेत्र में करीयर सेट करना चाहते है तो ऊपर बताये किसी कोर्स को चुनकर डिप्लोमा या सर्टिफिकेट प्राप्त कर सकते है इस लेख में मैने 11 ऐसे डिप्लोमा और सर्टिफिकेट कोर्सेज की जानकारी दी है जिसमे आप दसवीं पास करके प्रवेश ले सकते है।

उम्मीद करते है इस लेख से आपको 10 वीं के बाद मेडिकल कोर्स कौन सा चुने हेल्प मिला होगा अगर आप मेडिकल क्षेत्र में करियर सेट करने के बारे में सोच रहे है तो आपको इसमें कोई एक कोर्स चुन लेना चाहिए ये कोर्स कम अवधि और कम खर्च में पूरा कर सकते है।

इसी तरह की अन्य जानकारी के लिए आप हमारे ब्लॉग पर पहले से पब्लिश अन्य आर्टिकल पढ़ सकते है इस लेख से जुड़ा आपका कोई प्रश्न हो तो कमेंट सेक्शन के जरिये उत्तर जान सकते है इस जानकारी से आपका हेल्प हुआ हो तो इसे सोशल मीडिया पर शेयर करे ताकि और स्टूडेंट तक पहुंच सके।

2 thoughts on “10 वीं के बाद मेडिकल कोर्स | 10 वीं के बाद कोर्स की लिस्ट।”

Leave a Comment

error: Content is protected !!